Biomedical Engineer Kaise bane- Career in Biomedical Engineering

Career in Biomedical Engineering- क्या आप बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में कैरियर बनाने का सपना देख रहे हैं। क्या आप Biomedical Engineer kaise bane इसके बारे में जानकारी चाहते हैं, तो आप बहुत सही पोस्ट पढ़ रहे हैं। इस पोस्ट में हम आपको Biomedical Engineering Course के बारे में डिटेल में बताएंगे। जिससे आपको इस फील्ड की सारी इन्फॉर्मेशन मिल जाएगी। ये पोस्ट उन लोगों के लिए बहुत ही मददगार साबित होगी, जो  Biomedical Engineer kaise bane इसके बारे में सम्पूर्ण रूप से जानना चाहते हैं। चलिये अब हम आपको बताते हैं कि Biomedical Engineering me Career kaise banaye.

Biomedical Engineer kaise bane

बायोमेडिकल इंजीनियर बनने के लिए स्टूडेंट्स को साइंस स्ट्रीम से 12वीं पास होना जरूरी है। इसके बाद  Biomedical Engineering से जुड़े कोर्स किये जा सकते हैं। इसके लिए प्रवेश परीक्षा पास करनी होती है तभी आपको Biomedical Engineering Course में एडमिशन मिलता है। 

इस सेक्टर में कैरियर बनाने के लिए Biomedical Engineering में ग्रेजुएट होना जरूरी है। आजकल तो अनेक संस्थानों में B.Tech in Biomedical Engineering भी कराया जाने लगा है। इस फील्ड में ग्रेजुएशन करने के बाद आप बीएमई में पीजी भी कर सकते हैं। इसके बाद आप बीएमई में एमफिल या पीएचडी कर रिसर्च और टीचिंग के फील्ड में भी जा सकते हैं। 

Career Scope in Biomedical Engineering

बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में रोजगार के काफी अच्छे अवसर हैं। जिस प्रकार नए-नए अस्पताल खुल रहे। उसी प्रकार बायो-मेडिकल इंजीनियर की डिमांड भी बढ रही है। आज के समय मे भारत चिकित्सा उपकरणों के निर्माण में अंतरराष्ट्रीय सेंटर बन रहा है, जिससे Biomedical Engineers की जरूरत भी बढ़ रही है। 

हॉस्पिटल सेक्टर के अलावा कारपोरेट सेक्टर में भी ये काम कर सकते हैं। कत्रिम अंग बनाने वाली कंपनियों में जॉब कर सकते हैं। मशीनों के व्यस्थापन और प्रयोगशालाओं का पर्यवेक्षण करने का काम भी बीएमई ही करते हैं। विप्रो मेडिकल, लार्सन एंड टुब्रो, वीपीएल, सीमन्स जैसी कंपनियो में आप सेल्स एंड मार्केटिंग डिपार्टमेंट में भी काम कर सकते हैं।

बायोमेडिकल इंजीनियर रिसर्च लैब्स, अस्पतालों, दवा बनाने बाली कंपनियों, नर्सिग होम्स, एवं हेल्थकेयर कंपनियों में जॉब कर सकते हैं। इसके अलावा विदेशों में भी Biomedical Engineers की काफी डिमांड बढ़ी है। इसके साथ ही  बायोमेडिकल इंजीनियर प्रोडक्ट टेस्टिंग करना, डिजाइनिंग करने, चिकित्सकीय उपकरणों के उपयोग, उनकी देखभाल एवं रिसर्च संबंधी आदि कार्य भी करते हैं।  

Job Option in Biomedical Engineering

Biomaterials Engineers Clinical Engineers
Technical Writers Patent Analyst Professors/Teachers Bio-instrumentation Engineer
Research Scientists
Business Managers
Bio-mechanics Engineers

Biomedical Engineer क्या करते हैं?

बायोमेडिकल इंजीनियर मेडिकल डिवाइस पर टेस्टिंग, मूल्यांकन और रिसर्च  और निर्माण से संबंधित कार्य करना होता है। इसके साथ ही अस्पताल और मेडिकल सेंटर्स के लिए इनको ख़रीदारी भी करनी होती है। Biomedical Engineer स्पोर्ट्स मेडिसन, बायोमेकर्स, मेडिकल डिवाइसेज, स्टेम सेल रिसर्च, नैनोटेक्नोलॉजी, जीनोमिक्स आदि फील्ड्स में स्पेशलाइजेशन कर सकते हैं।

Biomedical Engineering के प्रोजेक्ट्स में कृत्रिम अंग तथा प्रोस्थेटिक लिब्स, साथ ही कंप्यूटर की मदद से होने वाले मेडिकल संबंधी कार्य, ट्रीटमेंट, इंफॉर्मेशन साइंस और मेडिकल इमेजिंग को शामिल किया जाता है।

Biomedical Engineer मेडिकल और सर्जिकल उपकरण की देखभाल करते हैं। इसके अलावा इमरजेंसी ब्रेकडाउन और मेंटेनेंस संबंधी समस्या होने पर खराब हो चुके उपकरणों की रिपेरिंग भी ये लोग करते हैं।

Biomedical Engineering क्या है?

जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है कि Biomedical Engineering, इंजीनियरिंग की ही एक ब्रांच है। जिसके अंतर्गत मेडिकल एप्लिकेशंस, विभिन्न तरह के इलाजों या डायग्नोस्टिक टेक्नोलॉजी के  डेवलपमेंट और रिसर्च के लिए इंजीनियरिंग की मदद ली जाती है। बायोमेडिकल इंजीनियर का मुख्य कार्य मेडिकल संबंधी उपकरणों की देखरेख और उनके सही तरह से कार्य करने से संबंधित होता है। Biomedical Engineering ऐसा फील्ड है, एक्सपर्ट लाइफ साइंस और इंजीनियरिंग के सिद्धांतों का इस्तेमाल करते हैं।

बायोमेडिकल इंजीनियरिंग (Biomedical Engineering) यानी बीएमई इंजीनियरिंग की एक उभरती हुई शाखा है। जिसमे मेडिकल उपकरणों का डिजाइन और निर्माण करते हैं। जिसके अंतर्गत क्लिनिकल कम्प्यूटर्स, कृत्रिम हृदय, कॉन्टैक्ट लैंस, व्हील चेयर आदि आते हैं।
मेडिकल साइंस के क्षेत्र में कृत्रिम अंगों के निर्माण, जीन और टिश्यू मेनिपुलेशन, सर्जिकल उपकरण, डायलिसिस उपकरण, सिटी स्कैन, एमआरआई, सोनोग्राफी, रेडियोग्राफी आदि सभी Biomedical Engineering की ही देन है।

Biomedical Engineering Course

Undergraduate Course
B.Tech in Biomedical Engineering
B.Tech in Biomedical Instrumentation B.Sc in Biomedical Engineering B.Tech in Biotechnology & Biochemical Engineering BE in Biomedical Engineering

Postgraduate Courses 

M.Tech in Biomedical Engineering
ME in Biochemical Engineering & Biotechnology
M.Tech in Bio-Medical Signal Processing & Instrumentation
M.Sc in Biomedical Engineering
MS in Biomedical Engineering
ME in Biomedical Engineering
ME in Biochemical Engineering & Biotechnology
Doctoral Course
Ph.D in Biomedical

Biomedical Engineering की ब्रांच

बायोमेडिकल इंजीनियरिंग की कई ब्रांच हैं। इनमे से किसी मे भी आप स्पेशलाइजेशन कर सकते हैं। जैसे कि-
बायोमटीरियल्स,  बायोइंस्ट्रूमेंटेशन
सेल्यूलर
क्लीनिकल इंजीनियरिंग टिशू एंड जेनेटिक इंजीनियरिंग, 
ऑर्थोपेडिक बायोइंजीनियरिंग
रिहैबिलिटेशन इंजीनियरिंग मेडिकल इमेजिंग

Biomedical Engineer Salary

बायोमेडिकल इंजीनियर्स शुरुआती सैलेरी 20 से 30 हजार के बीच मे मिल जाती है। अनुभव होने के बाद सैलरी भी बढ़ती है।

प्रमुख संस्थान (Main Institute)

आईआईटी, मुंबई
आईआईटी, रुड़की
एम्स, नई दिल्ली
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रायपुर
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, राउरकेला
बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी
मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मणिपाल
जेबी इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग, हैदराबाद
नेताजी सुभाष इंजीनियरिंग कॉलेज, कोलकत्ता
जादवपुर यूनिवर्सिटी
वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, वेल्लोर
एमिटी यूनिवर्सिटी, नोयडा
सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ कोलकाता

Top Recruiters Company in Biomedical Engineering

Larsen & Toubro Siemens Stryker Global Technology Center
Cipla Deloitte Consulting India Pvt Ltd
Texas Instruments Inc.  BPL Healthcare
Phillips Healthcare Wipro GE Medical System
General Electric Global Research, Bangalore

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *