Bsc Home Science me Career Kaise banaye

Career in Bsc Home Science- क्या आप बीएससी होम साइंस या होम साइंस में कैरियर बनाना चाहते हैं। क्या आप Bsc Home Science me Career kaise banaye इसके बारे में जानकारी चाहते हैं। इस पोस्ट में हम आपको Home Science Course के बारे में डिटेल में बताएंगे। जिससे आपको इस सेक्टर के बारे में सारी जानकारी हो जाएगी और आप आसानी से इस क्षेत्र में कैरियर बना सकेंगे।  यंहा हम आपको होम साइंस में कैरियर स्कोप, Career option in Home science, बेस्ट कॉलेज और  आदि के बारे में बताएंगे। 

Bsc Home Science me Career kaise banaye

आजकल अनेक लोग होम साइंस में कैरियर विकल्प के बारे में नही जानते हैं। उनके अनुसार इस फील्ड में बहुत ही सीमित कैरियर के अवसर हैं। अगर आपका भी यही मानना है, तो आप बिलकुल गलत हैं। आज के समय मे Home Science में बेहतरीन कैरियर बनाया जा सकता है। आज भी इस कोर्स के प्रति लोगों में बहुत कम जागरूकता है। यदि आप थोड़ा भी इस इस सेक्टर में career को लेकर सतर्क हैं, तो आप इसमें अपना उज्ज्वल कैरियर बना सकते हैं।

अगर आप होम साइंस या बीएससी होम साइंस में कैरियर बनाना चाहते हैं, तो आप 12वीं के बाद Bsc in Home Science या बीए इन होम साइंस कर इस फील्ड में कैरियर बना सकते हैं। इस कोर्स में एडमिशन के लिए कैंडिडेट्स को किसी भी स्ट्रीम से 12वीं पास होना चाहिए। आजकल अनेक कॉलेज और यूनिवर्सिटी में होम साइंस कोर्स संचालित किए जाते हैं। जिनमे एडमिशन लेकर आप इस क्षेत्र में कैरियर बनाने का सपना पूरा कर सकते हैं।

Career Scope in Home Science 

पिछले कुछ बर्षो से होम साइंस के प्रति स्टूडेंट्स में काफी रुचि देखने को मिली है। इसका मुख्य कारण इस फील्ड में रोजगार के भरपूर अवसर होना है। वर्तमान समय मे Home Science सिर्फ घरेलू काम- काज को सीखने का जरिया नही है, बल्कि आज के समय मे यह हजारों, लाखों लोगों की रोजी-रोटी का साधन बन चुका है। इस क्षेत्र में रोजगार की काफी अच्छी संभावनाएं देखने को मिल रही हैं।

होम साइंस कोर्स करने के बाद स्टूडेंट्स को कूकिंग, केटरिंग, हाउस कीपिंग इंडस्ट्री में अच्छे कैरियर के विकल्प मिलते हैं। आप इस क्षेत्र में फ़ूड विशेषज्ञ, ड्रेस मेकिंग फैशन डिजाइनिंग, ट्रेवल एंड टूरिजम इंडस्ट्री, होटल मैनेजमेंट सेक्टर आदि में जॉब कर सकते हैं। इसके अलावा आप फ़ूड साइंटिस्ट, मार्केटिंग और रिसर्च में भी कैरियर बना सकते हैं। Bsc Home Science के बाद एमएससी होम साइंस कर नेट एग्जाम क्वालीफाई कर डिग्री कॉलेज या यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर भी बन सकते हैं। इस क्षेत्र में आप एमफिल और पीएचडी में कर सकते हैं। जिससे आपकी टीचिंग और रिसर्च की राह और भी आसान हो जाएगी।

Bsc Home Science jobs ( होम साइंस में रोजगार के क्षेत्र)

बीएससी होम साइंस में रोजगार के भरपूर अवसर हैं। इस कोर्स के बाद आप कई सारे क्षेत्र में Jobs की तलाश कर सकते हैं। जोकि निम्न हैं।

  • होटल एंड रेस्टोरेंट
  • टूरिस्ट रिसोर्ट
  • हाउस कीपिंग
  • रिसोर्स मैनेजमेंट 
  • क्लोथिंग एंड टेक्सटाइल के क्षेत्र में मर्चेडाइजर या डिजाइनर
  • शैक्षणिक और कामकाजी संस्थानों में कैंटरिंग सुविधा देने का कार्य कर सकते है।
  • इंटीरियर डिजाइनिंग
  • फैशन डिजाइनिंग
  • हॉस्पिटल और फ़ूड सेक्टर में न्यूट्रिशनिस्ट या डाइटिशियन बन सकते हैं।
  • अपैरल इंडस्ट्री में प्रोडक्शन मैनेजर
  • फूड, बेकिंग और कंफेक्शनरी के क्षेत्र में स्वरोजगार कर सकते हैं।
  • फ़ूड प्रोसेसिंग कंपनी में जॉब के अवसर
  • डाइट कंसल्टेंटस
  • खाद्य उत्पादों के निर्माण और विकास कार्यों का पर्यवेक्षण संबंधित कार्य
  • रिसर्च और टीचिंग सेक्टर
  • फैमिली काउंसलर
  • ह्यूमन डेवलपमेंट & सोशल वर्क

ये भी पढ़े ..
एएनएम कैसे बने
फाइन आर्ट्स में करियर कैसे बनाये
मेकउप आर्टिस्ट कैसे बने
टीवी एंकर कैसे बने
एयर होस्टेस कैसे बने
फैशन डिज़ाइनर कैसे बने

Salary in  Home Science

इस क्षेत्र में शुरआती सैलेरी 15 से 20 हजार के बीच मे होती है। अगर आपके अंदर इंडस्ट्री की अच्छी जानकारी है और आपको किसी बढ़िया कंपनी में जॉब मिल गई, तो आपको शुरआती सैलरी 20 हजार से भी ज्यादा हो सकती है। अनुभव होने के बाद इस क्षेत्र में 50 हजार से भी ज्यादा प्रतिमाह सैलेरी मिल सकती है।
Home Science course in India
Diploma in Home Science
BA in Home Science
Bsc in Home Science
Bsc (Hons) Home Science
B.Sc. (Hons.) Food Science and Nutrition Management MA in Home Science
Msc in Home Science
Msc Home Science food and Nutrition
Mphil in Home Sciense
Phd in Home Science

Home Science क्या है

होम साइंस कोर्स के अंतर्गत होम मैनेजमेंट के अलावा अन्य कई तरह का उपयोगी परिशिक्षण दिया जाता है। Home Science मुख्य रूप से बेहतर लाइफ स्टाइल पर आधारित शिक्षण हैं। इस कोर्स में ह्यूमेनिटीज और साइंस दोनो तरह के सब्जेक्ट पढ़ने का मौका मिलता है। यह काफी बिस्तृत फील्ड है। इसमें फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी, फिजियोलॉजी, चाइल्ड डेवलोपमेन्ट, रूरल डेवलपमेंट, इकोनॉमिक्स, फैमिली रिलेशन, फ़ूड एंड न्यूट्रीशन, फैमिली रिलेशन्स, टेक्सटाइल एंड क्लोथिंग, कम्यूनिटी लिविंग और होम मैनेजमेंट जैसे सब्जेक्ट होते हैं।

आज भी काफी लोगों में यह धारणा है कि होम साइंस सिर्फ लड़कियों के लिए ही है लेकिन वास्तव में ऐसा नही है। जिन लोगों को इसके बारे में पता नही वे सिर्फ इसको घरेलू काम- काज तक ही सीमित मानते हैं। आज के समय मे Home Science का दायरा बिस्तृत हो चुका है। यंहा पर बेहतरीन रोजगार के अवसर हैं।

इसके प्रमुख 5 क्षेत्र हैं। 

फूड एंड न्यूट्रिशन रिसोर्स मैनेजमेंट
ह्यूमन डेवलपमेंट
फैब्रिक एंड अपेरल साइंस
कम्यूनिकेशन एंड एक्सटेंशन

Best College For Home Science Course

  • बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी
  • जाधवपुर विश्वविद्यालय, कोलकाता 
  • राजेंद्र एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी, पूसा
  • बनस्थली विद्यापीठ, राजस्थान
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी, दिल्ली
  • राजस्थान एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी, बीकानेर
  • यूनिवर्सिटी ऑफ बॉम्बे, मुंबई
  • यूनिवर्सिटी ऑफ कैलकटा, कोलकाता
  • बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय, भोपाल
  • आचार्य एनजी रंगा एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी, हैदराबाद
  • चंद्रशेखर आजाद यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी, कानपुर
  • इलाहाबाद एग्रीकल्चरल इंस्टीटय़ूट, इलाहाबाद
  • यूनिवर्सिटी ऑफ लखनऊ
  • महाराणा प्रताप यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी, उदयपुर
  • एसएनडीटी वुमेन विश्वविद्यालय, मुंबई 
  • नरेंद्र देव यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी, फैजाबाद
  • सीएसजेएम यूनिवर्सिटी, कानपुर
  • गोविंद बल्लभ पंत यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी, पंतनगर
  • एमजेपी रुहेलखंड यूनिवर्सिटी, बरेली
  • महाराणा प्रताप यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी, उदयपुर
  • देवी अहिल्या विश्वविद्यालय, इंदौर 
  • सीएसके हिमाचल प्रदेश एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी, पालमपुर
  • डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी
  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी
  • लेडी इर्विन कॉलेज, नई दिल्ली 

ये भी पढ़े ..
फिल्म या टीवी सीरियल में वीडियो एडिटर कैसे बने
वौइस् ओवर आर्टिस्ट कैसे बने
मास कम्युनिकेटिव में करियर कैसे बनाये

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *