Cardiology Technician Kaise bane- मेडिकल के इस फिल्ड में जॉब के बेहतरीन अवसर

Cardiology Technician Kaise bane- क्या आप कार्डियोलॉजी टेक्नोलॉजी में कैरियर बनाना चाहते हैं? क्या आप Cardiology Technician kaise bane इसके बारे में डिटेल में जानकारी चाहते हैं, तो आप बिलकुल राइट पोस्ट पढ़ रहे हैं। इस पोस्ट में आपको Cardiology Technician Course एंड Career की सारी इन्फॉर्मेशन मिलेगा। जिससे आपको इस Medical Course के बारे में प्रॉपर जानकारी मिल जाएगी और आपको अपना Career डिसीजन लेने में भी मदद मिलेगी। इस आर्टिकल में हम आपको ये भी बताएंगे कि Cardiology Technology या Cardiovascular Technology में कैरियर स्कोप क्या है? इस फील्ड में कैरियर के क्या ऑप्शन हैं। इस सेक्टर में कैरियर बनाने के लिए कौन- कौन से कोर्स कर सकते हैं। कोर्स कंहा से करना चाहिए और Course की फीस क्या होंगी। इन सभी के बारे में इस पोस्ट में आपको डिटेल इन्फॉर्मेशन मिलेगी।

Cardiology Technician kaise bane

कार्डियोवस्कुलर टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में कैरियर बनाने के लिए उम्मीदवार को साइंस स्ट्रीम से 12वीं पास होना चाहिए। इसके बाद B.Sc. Cardiovascular Technology या Bsc Cardic Care Technology या फिर डिप्लोमा इन कार्डियोवस्कुलर टेक्नोलॉजी जैसे कोर्स किये जा सकते हैं।

डिप्लोमा कोर्स की ड्यूरेशन 2 साल होती है। इस Course की फीस 50 हजार से लेकर 1 लाख प्रतिबर्ष के बीच होती है। B.Sc. Cardiovascular Technology या Bsc Cardic Care Technology कोर्स की ड्यूरेशन कुछ यूनिवर्सिटी में तो ये 3 साल का होता है और कुछ यूनिवर्सिटीज में यह कोर्स 4 साल का होता है। लेकिन दोनों ही वैलिड कोर्स होते हैं। इन कोर्स की फीस 70 हजार से 1.5 लाख प्रतिबर्ष के बीच मे होती है।

Career Scope in Cardic Care Technology

कार्डिक केअर टेक्नीशियन या कार्डिक वैस्क्युलर टेक्नोलॉजी कोर्स मेडिकल एंड हेल्थकेयर सेक्टर का काफी अहम कोर्स है। इसलिए इसमें हमेशा ही कैरियर के काफी अच्छे अवसर रहते हैं। इसका कारण ये है कि बढ़ती हेल्थ प्रॉब्लम और बीमारियों के कारण Cardiovascular Technician की मांग भी बढ़ रही है। दूसरी बात ये है कि आज के समय मे हॉस्पिटल और क्लीनिक्स की संख्या भी काफी हो गई है और आये दिन और भी नए- नए हॉस्पिटल ओपन हो रहे हैं तो यंहा पर आपको आसानी से Cardiology Technician के तौर पर जॉब मिल सकती है।

आज के दौर में हेल्थ से कोई भी समझौता नही करना चाहता है। इसलिए मेडिकल और हेल्थकेयर सेक्टर में और भी ग्रोथ हो रही है। बदलते लाइफस्टाइल और वातावरण के कारण अनेक बीमारियां जन्म ले रहीं हैं, जिससे इससे इस फील्ड में एक्सपर्ट लोगों के लिए Career के बेहतरीन अवसर हो सकते हैं।

Cardiology Technician पैरामेडिकल सेक्टर का काफी पॉपुलर कोर्स है। इसकी बढ़ती मांग को देखते हुए देश में ही नही बल्कि विदेशों से भी Cardiologist की डिमांड बढ़ रही है। इस फील्ड में सरकारी के अलावा प्राइवेट संस्थानों में Job के काफी अच्छे चांस रहते हैं।

Cardiology Technician के लिए जॉब क्षेत्र-

  • हॉस्पिटल
  • नर्सिंग होम
  • हेल्थ आर्गेनाइजेशन
  • एजुकेशन सेक्टर

Career option in Cardiovasculor Technology

कार्डिक से रीलेटेड कोर्स करने के बाद आप इस सेक्टर में निम्न पदों पर कैरियर की शुरुआत कर सकते हैं।

  • कार्डियोवैस्क्युलर टेक्नोलॉजिस्ट
  • डायलिसिस टेक्नीशियन
  • नेफ्रोलॉजिस्ट टेक्नीशियन
  • मेडिकल सोनोग्राफर

Cardic Care Technology Course list after 12th

  • Diploma in Cardiovasculor Technician
  • Diploma in Cardic Care Technician
  • Diploma in Cardiology Technogy
  • Bsc in Cardiovasculor Technology
  • Bsc in Cardic Care Technology

Cardiologist Technician के काम

  • दिल की बीमारियों के लिए रोगियों परीक्षण करना।
  • हर्ट रोगियों की देखभाल करना
  • कैथेटर डालें और व्यावहारिक सेटिंग में पेसमेकर का उपयोग
  • इस क्षेत्र में उपयोग किए जाने वाले चिकित्सा उपकरणों और मशीनों का उपयोग और रखरखाव।
  • हृदय संबंधी प्रक्रियाओं का अध्ययन करना।
  • हृदय (हृदय) और परिधीय संवहनी (रक्त वाहिका) स्थितियों का निदान और उपचार।
  • ओपन-हार्ट सर्जरी के लिए मरीजों को तैयार करना।
  • पेसमेकर लगाना।
  • इन प्रक्रियाओं के दौरान रोगियों की निगरानी रखना।
  • कार्डियक स्ट्रेस टेस्ट और इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम करवाना।
  • अनियमित धड़कनों को पकड़ने वाले चिकित्सा उपकरणों का उपयोग करना और उन्हें बनाए रखना।
  • वास्तविक रोगियों पर प्रयोगशाला सेटिंग्स में काम करना।
  • जटिल हृदय और चिकित्सीय प्रक्रियाओं वाले विभिन्न हृदय विकारों का प्रबंधन।

Also Read-

Skills for Cardiology Technician

हॉस्पिटल में टेक्निशन के तौर पर काम करने के लिए कुछ प्रैक्टिकल स्किल्स का होना बेहद जरूरी है क्योंकि Cardiology Technicain सर्जरी के दौरान डॉक्टर के बाएं हांथ की तरह काम करता है। इसके साथ ही उसको मशीनों की जानकारी, प्रयोग और रख- रखाव के बारे में पता होना चाहिए। जैसेकि मॉनिटर और रिकॉर्डर में तार जोड़ने के बारे में पता हो और बेहतर कनेक्शन सुनिश्चित करने के लिए रीदम स्ट्रीप या लीड ट्रेसिंग रिकॉर्ड करने का नोलोज, ईसीजी वेवफॉर्म की पहचान करना, आर्टफैक्ट फ्री-ट्रेसिंग और सही लीड लगाने जैसी क्षमता भी हो।

Cardiology Technician की सैलरी

एक एक्सपर्ट Cardiologist Technician को शुरुआती सैलरी 10 हजार से 20 हजार के बीच मे मिलती है। जैसे- जैसे अनुभव बढ़ता है आपकी सैलरी में इजाफा होता है।

Cardiology Technician College in India

  • दिल्ली पैरामेडिकल ऐंड मैनेजमेंट इंस्टिट्यूट
  • क्रैडल इंस्टिट्यूट ऑफ पैरामेडिकल साइंसेज, न्यू दिल्ली
  • शिवालिक इंस्टिट्यूट ऑफ पैरामेडिकल टेक्नॉलजी चंडीगढ़
  • महर्शि मर्कंडेश्वर यूनिवर्सिटी, अम्बाला हरियाणा
  • श्री वेंकटेश्वर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, तिरुपति
  • राजीवगांधी यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंस, बैंगलोर
  • श्री जयदेव इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोवैस्क्युलर सांइस एंड रिसर्च, मैसूर
  • राजीवगांधी पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट दिल्ली
  • M.M.M. कॉलेज ऑफ हेल्थ साइंस, चेन्नई
  • क्रिस्चियन मेडिकल वेलोरे
  • कानपुर ह्रदय रोग संस्थान
  • इंडियन मेडिकल इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग जालंधर
  • तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद
  • श्रीराममूर्ती मेडिकल कॉलेज, बरेली
  • रुहेलखंड मेडिकल कॉलेज बरेली
  • एरा मेडिकल कॉलेज लखनऊ

उम्मीद है कि Cardiology Technician kaise bane ये पोस्ट आपको पसंद आई होगी। क्योंकि इस पोस्ट में मैंने Cardiology Course और Career की सारी जानकारी दी है। इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको इस फील्ड की सारी इन्फॉर्मेशन मिल जाएगी। जोकि आपके career के लिए काफी अहम होगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *