Physiotherapy Course as Career- हाई डिमांडिंग करियर आप्शन

Physiotherapy me Career- कोर्स, योग्यता, बेस्ट कॉलेज, फीस , कैरियर स्कोप- क्या आप Physiotherapy Me Career बनाना चाहते हैं, या फिर Physiotherapist kaise bane इसके बारे में जानकारी सर्च कर रहे हैं। तब तो आप बिलकुल सही पोस्ट को पढ़ रहे हैं। इस पोस्ट में आपको  Physiotherapy course और Physiotherapy job इसके साथ ही Physiotherapy में career scope के बारे में डिटेल में जानकारी मिलेगी। जोकि आपके फिजियोथेरेपी कैरियर में काफी मददगार साबित होगी। हमे उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको किसी अन्य पोस्ट को पढ़ने की जरूरत नही होगी।

Physiotherapy Course Details

फिजियोथेरेपी कोर्स पैरामेडिकल का बहुत ही पॉपुलर कोर्स है। इसकी पॉपुलरटी का कारण इसमे रोजगार के पर्याप्त रोजगार के अवसर उपलब्ध हैं। फिट रहने की उत्सुकता ने इस प्रोफेशनल की डिमांड बढ़ा दी है। इसके अलावा बहुत सी ऐसी लाइलाज बीमारियां है, जिनका इलाज सिर्फ Physiotherapy के द्वारा ही किया जा सकता है। इसलिए यह कोर्स काफी मायने में महत्वपूर्ण है। एलोपैथी दवाओं का कुछ न कुछ साइड इफ़ेक्ट अवश्य होता है, लेकिन Physiotherapy पूरी तरह से सुरक्षित है। इसलिए फिजियोथेरेपी में लोगो में इंटरेस्ट बढ़ रहा है। 

12वीं के बाद बने ब्लड बैंक टेकनीशियन, सस्ते कोर्स में हाई डिमांडिंग करियर

वेटेरनरी डॉक्टर (पशु चिकित्सक) कैसे बनें

सर्जरी के पश्चात रिहैबिलिटेशन, पोलियो, अस्थमा, हड्डियो और मांशपेशियों में दर्द और जकड़न, अन्य क्रोनिक बीमारियों में Physiotherapy treatment काफी कारगर है। इसलिए आजकल लगभग हर हॉस्पिटल में Physiotherapy centre जरूर होता है। इन फिजियोथेरेपी सेंटर में फिजियोथेरेपी में डिग्री, डिप्लोमा होल्डर की बहुत ज्यादा डिमांड रहती है। 

Career Scope in Physiotherapy


वर्तमान समय मे फिजियोथेरेपी में रोजगार की कमी नही है। अगर आपको रोगीयों की सेवा करना अच्छा लगता है, तो ये प्रोफेसन आपके लिए बहुत अच्छा साबित होगा। इन दिनों में नर्सिंग, हॉस्पिटल की कमी नही है। हर हॉस्पिटल और नर्सिंग होम में Physiotherapy trainer की जरूरत होती है। अगर आपने फिजियोथेरेपी में डिग्री या डिप्लोमा हासिल कर रखा है, तो आप आसानी से किसी भी हॉस्पिटल या क्लिनिक में Physiotherapist के तौर पर काम कर सकते हैं। इस कोर्स की खास बात यह है कि इस कोर्स के बाद आपको अपने शहर के हॉस्पिटल्स में ही आसांनी से जॉब मिल जाएगी। आपको जॉब के लिए ज्यादा इधर- उधर भटकना नही पड़ता है।


अगर आप किसी हॉस्पिटल में जॉब नही करना चाहते हैं, तो खुद का Physiotherapy clinic स्टार्ट कर सकते हैं। खुद का क्लिनिक स्टार्ट करने से पहले  कोर्स कंपलीट करने के बाद किसी फिजियोथेरेपिस्ट के पास रहकर अच्छी तरह से काम सीखे। कॉलेज के दौरान प्रैक्टिकल उतना अच्छा नही हो पाता है, जितना कि फील्ड में होता है। इसलिए किसी Physiotherapist के पास 1 से 2 साल तक काम करें।

जब आप फिजियोथेरेपी की सारी बारिकियों को समझ जाएं, तो आप अपना क्लिनिक स्टार्ट करें। इनके अतिरिक्त सरकरीं क्षेत्रो में भी फिजियोथेरेपिस्ट के लिए वैकेंसी निकलती रहती हैं। स्पोर्ट्स, आर्मी में भी आप फिजियोथेरेपिस्ट के तौर पर काम करने का मौका पा सकते है। आपके पास देश से लेकर विदेश में भी जॉब करने के अवसर होते हैं। इस प्रकार हम कह सकते है, कि यदि आप Physiotherapy me career बनाने की सोच रहे हैं, तो आप निश्चित ही इसमे सफल होंगे।

Physiotherapy kya hai

फिजियोथेरेपी मेडिकल साइंस की मोस्ट पोपुलर ब्रांच है। फिजियो से तात्पर्य शरीर के बाहरी भाग का इलाज करना। इसके अंतर्गत एक्सरसाइज, व्यायाम, मसाज, एलेक्टरोथेरेपी, टेक्निक का इस्तेमाल करके रोगों का इलज किया जाता है। इसके अंतर्गत दवाओ का इस्तेमाल नही होता है। फिजियोथेरेपी के द्धारा लाइलाज विमारियों का भी किया जा सकता है। यह रोगी को शारीरिक और मानसिक रुप से मजबूत बनाती है। फिजियोथेरेपी में कैरियर बनाने के लिए आप DPT या BPT जैसे कोर्स कर सकते हैं। नीचे मैं आपको DPT और BPT course के बारे में डिटेल में बताऊंगा।

Physiotherapy Course in India

फिजियोथेरेपी में डिग्री और डिप्लोमा के साथ हीं आप मास्टर डिग्री से लेकर पीएचडी तक कर सकते हैं। आमतौर पर आपको Physiotherapy career के लिए BPT Course (Bachelor in Physiotherapy)आपके लिए अच्छा रहेगा। अगर आपके पास ज्यादा समय और पैसा नही है, तो आप DPT (Diploma in Physiotherapy) भी कर सकते हैं।

DPT Course Details


डीपीटी का पूरा नाम डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी है। इसके लिए आवश्यक योग्यता पीसीएम या पीसीबी से 12 वीं पास होना आवश्यक है। यह डिप्लोमा कोर्स होता है। इसकी अवधि 2 बर्ष होती है। इस कोर्स की फीस 40 से 60 हजार प्रतिवर्ष तक होती है।


BPT Course Details


बीपीटी का पूरा नाम बैचलर इन फिजियोथेरेपी है। यह चार बर्षीय डिग्री कोर्स होता है। इस कोर्स की अवधि 4 बर्ष होती है। इसके बाद 6 माह की इंटर्नशिप भी पूरी करनी होती है। इसकी फीस 50 से 70 हजार प्रतिबर्ष होती है। इसके लिए आवश्यक योग्यता पीसीएम या पीसीबी से 12 वीं पास होना आवश्यक है।


MPT Course details


एमपीटी कोर्स को मास्टर इन फिजियोथेरेपी भी कहते हैं। यह दो वर्षीय कोर्स होता है। इसके लिए आवश्यक योग्यता BPT है। इसकी फीस 50 से 70 हजार प्रतिबर्ष तक हो सकती है। इसके बाद आप पीएचडी करके टीचिंग के फील्ड में भी जा सकते हैं।
मास्टर ऑफ फिजियोथेरपी, दो साल के इस कोर्स में आप समकक्ष विषय से विशेषज्ञता हासिल कर सकते हैं। इसमें न्यूरोलॉजिकल फिजियोथेरपी, पिडियाट्रिक फिजियोथेरपी, स्पोर्ट्स फिजियोथेरपी, ऑथ्रोपेडिक फिजियोथेरपी, ऑब्सेक्ट्रिक्स फिजियोथेरपी, पोस्ट ऑप्रेटिव फिजियोथेरपी, कार्डियोवास्कुलर फिजियोथेरपी आदि में स्पेशलाइजेशन भी कर सकते हैं। जोकि आपके फिजियोथेरेपी कैरियर के लिए बहुत फायदेमंद होगा।

How Get Admission in Physiotherapy course


फिजियोथेरेपी कोर्स के लिए आप गवर्नमेंट और प्राइवेट दोनो तरह के कॉलेज से कर सकते हैं। गवर्नमेंट कॉलेज में एडमिसन के लिए आपको सेंट्रल या स्टेट लेवल के एग्जाम देने होंगे। अगर आप इन एग्जाम को पास कर लेते हैं, फिर मेरिट के आधार पर आपको एडमिशन मिल जाता है। वंही प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन डायरेक्ट और एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर भी होता है।


Job option in Physiotherapy course

फिजियोथेरेपी में कैरियर के अनेक ऑप्शन आपको मिल जाएंगे। जैसे कि- 

  • गवर्नमेंट हॉस्पिटल
  • इंडियन आर्मी
  • स्पोर्ट्स
  • रिहैबिलिटेशन सेंटरजिम सेंटर
  • स्कूल व चिल्ड्रन सेंटर
  • नर्सिंग होम
  • हॉस्पिटल्स
  • चैरिटी संस्थान


Sailery of Physiotherapist


कैरियर के शुरुआती दौर में एक एक्सपर्ट फिजियोथेरेपिस्ट को 12 से 17 हजार रुपये आसांनी से मिल जाते हैं। एक्सपेरिएंस होने के बाद सैलेरी भी अच्छी खासी हो जाती है। आप चाहे तो अनुभव होने के बाद खुद का भी फिजियोथेरेपी सेंटर खोल सकते हैं। इसमे सैलेरी या इनकम की कोई सीमा नही।

Best College for Physiotherapy course

  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एंड एजुकेशन रिसर्च, पटना
  • अपोलो, फिजियोथेरेपी कॉलेज, हैदराबाद
  • पोस्ट ग्रैजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, चंड़ीगढ़
  • डिपार्टमेंट ऑफ फिजिकल मेडिसन एंड रिहैबिलिटेशन, तमिलनाडु
  • एसडीएम कॉलेज ऑफ फिजियोथेरपी, कर्नाटक
  • के जे सौम्या कॉलेज ऑफ फिजियोथेरिपी, मुंबई
  • निजाम इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस, तेलंगाना
  • हमदर्द इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च, नई दिल्ली
  • बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, बनारस
  • गुरु गोविंद इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, गुरुगांव
  • हिमालयन इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, देहरादून
  • मद्रास मेडिकल कॉलेज, चेनई
  • कृष्णा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, कार्ड
  • मणिपाल यूनिवर्सिटी, मणिपाल
  • SRM यूनिवर्सिटी
  • मेडिकल कॉलेज ऑफ, कोलकाता
  • महाराज अग्रसेन मेडिकल कॉलेज अग्रोहा
  • गोआ मेडिकल कॉलेज, पंजी
  • लोकमान्य तिलक मेडिकल कॉलेज, मुंबई
  • किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ
  • उत्तर प्रदेश यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंस, सैफई
  • DR. DY पाटिल यूनिवर्सिटी, नवीं मुंबई
  • जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी, दिल्ली
  • शारदा यूनिवर्सिटी, दिल्ली
  • इरा मेडिकल कॉलेज, लखनऊ
  • रुहेलखंड मेडिकल कॉलेज, बरेली
  • राममूर्ति मेडिकल कॉलेज, बरेली


ये भी पढ़े-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *