Finance Me Career Kaise banaye

Finance Me Career Kaise banaye: कोर्स, जॉब, कैरियर स्कोप, सैलरी, जॉब प्रोफाइल, कोर्स फीस जाने सबकुछ डिटेल में।

अगर आप फाइनेंस जैसे हाई डिमांडिंग क्षेत्र में कैरियर बनाना चाहते हैं तो आज के इस लेख में हम आपको फाइनेंस में कैरियर कैसे बनायें इसके बारे में डिटेल में जानकारी देंगे। क्योंकि बैंकिंग और फाइनेंस ये दोनों ऐसे सेक्टर हैं, जिनमे कैरियर के बहुत ही बेहतरीन अवसर उपलब्ध हैं। इसी वजह से तमामं युवा इस फील्ड में कैरियर बनाने के इच्छुक रहते हैं।

Finance Me Career Kaise banaye

फाइनेंस के सेक्टर में कैरियर बनाने के लिए उम्मीदवार को किसी भी संकाय से 12वीं या ग्रेजुएशन होना चाहिए। इसके बाद आप Finance से जुड़े कोर्स करके इस फील्ड में एंट्री कर सकते हैं। अगर आपका कामर्स बैकग्राउंड हैं तो और भी अच्छा है। 12वीं के बाद बीबीए इन फाइनेंस और ग्रेजुएशन के बाद MBA in फाइनेंस जैसे कोर्स किये जा सकते हैं।

आज के समय मे मैनेजमेंट की पढ़ाई कराने वाले सबसे ज्यादा संस्थानो में स्पेशलाइजेशन फाइनेंस में ही कराए जाते हैं। इसकी मुख्य वजह इसमे रोजगार के अवसर और युवाओं में इसकी बढ़ती मांग है। फाइनेंस के सेक्टर में छह माह से से लेकर तीन साल तक की अवधि के डिप्लोमा, पीजी डिप्लोमा, ग्रेजुएशन व मास्टर डिग्री जैसे कई पाठ्यक्रम अनेक संस्थानों में कराए जाते हैं।

जो युवा फाइनेंस से जुडे़ कोर्स दूरस्थ व ऑनलाइन माध्यम से करना चाहते हैं , उनके पास बी.कॉम के साथ कम से कम एक-दो वर्ष का अनुभव होना जरूरी होता है। किसी कैंडिडेट के पास अगर उच्च स्तर पर फाइनेंस की डिग्री है तो वह इस फील्ड में आसानी से तरक्की की राह पकड़ सकता है।

List of Finance Course after 12th

बीबीए इन फाइनेंस
बीबीए इन बैंकिंग एंड फाइनेंस
बैचलर इन फाइनेंशियल एंड इनवेस्टमेंट एनालिसिस
बीए इन फाइनेंस
बीएससी इन फाइनेंशियल अकाउंटिंग
बीकॉम इन बैंकिंग एंड फाइनेंस

List of Finance Course after Graduation

पीजी डिप्लोमा इन फाइनेंशियल प्लानिंग एंड मैनेजमेंट
एमए इन फाइनेंस
पीजी डिप्लोमा इन मैनेजमेंट एंड फाइनेंशियल इंजीनियरिंग
पीजी डिप्लोमा इन फाइनेंशियल प्लानिंग एंड वेल्थ मैनेजमेंट
पीजीडीएम इन फाइनेंस
पीजीडीएम इन बैंकिंग एंड फाइनेंस
एमबीए इन बैंकिंग एंड फाइनेंस
एमबीए इन फाइनेंस

Finance Course Admission Process

बैंकिंग एंड फाइनेंस से जुड़े कोर्स 12वीं या ग्रेजुएशन के बाद किये जा सकते हैं। इसमे एडमिशन के प्रोसेस की बात करें तो आप इस कोर्स में दो तरह से एडमिशन पा सकते हैं। एक तो आप किसी भी संस्थान में डायरेक्ट ही एडमिशन ले सकते हैं और दूसरा आप एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से इस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

अगर आप टॉप बैंकिंग एंड फाइनेंस कॉलेज से कोर्स करना चाहते हैं तो वंहा पर आपको डायरेक्ट एडमिशन नही मिलेगा। टॉप कॉलेजों में एंट्रेंस एग्जाम क्वालीफाई करने के बाद मेरिट के आधार पर एडमिशन मिलता है।

Career Scope in Finance

पिछले कुछ वर्षों से इंटरनेट और मोबाइल बैंकिंग के क्षेत्र में जागरूकता बढ़ने के साथ-साथ निवेश में भी काफी तेजी आई है। खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े बदलाव देखने को मिल रहे हैं। इसलिए बहुराष्ट्रीय कंपनियां हों या अन्य फाइनेंस कंपनियां वे सभी गांवों की ओर अपना रुख कर रही हैं। ऐसे में इस सेक्टर में फाइनेंशियल प्लानर और इससे संबंधित प्रोफेशनल लोगों की डिमांड भी बढ़ी है।

पिछले कुछ वर्षों फाइनेंस के बाजार को देखते हुए स्पस्ट कहा जा सकता है कि फाइनेंस के सेक्टर में रोजगार के भरपूर अवसर हैं। बैंकिंग सेक्टर में जहां कैंडिडेट को इन्वेस्टमेंट एडवाइजरी मैनेजर, रिटेल रिलेशनशिप ऑफिसर, म्युचुअल फंड ऑफिसर आदि के रूप में अवसर मिलते हैं। वहीं फाइनेंशियल प्लानिंग से जुड़ी कंपनियों में भी रिलेशनशिप मैनेजर व एसोसिएट ऑडिटर जैसे कई पदों पर मौके मिल सकते हैं।

फाइनेंस के स्टूडेंट्स इंश्योरेंस कंपनियों में भी कई रूपों में काम कर सकते हैं। केपीओ सेक्टर में उम्मीदवार डेटा एनालिस्ट, मार्केट रिसर्चर,बिजनेस एनालिस्ट, क्लाइंट डेवलपमेंट एनालिस्ट व रिसर्च एसोसिएट के रूप में अपने कैरियर को उड़ान दे सकते हैं। इसके अलावा इक्विटी रिसर्च फर्म में भी भरपूर मौके मिलते हैं।

Job Profile in Finance (फाइनेंस में प्रमुख जॉब प्रोफाइल)

फाइनेंशियल एनालिस्ट: यह प्रोफेशनल मौजूदा योजनाओं पर ध्यान में रखते हुए कस्टमर या फर्म को वित्तीय लेखे-जोखे से समय- समय पर अवगत कराते हैं। कंपनी की बैलेंस शीट को तैयार व मेंटेन करने की जिम्मेदारी इन्हीं की होती है।

फाइनेंशियल एडवाइजर : फाइनेंशियल एडवाइजर या फाइनेंशियल प्लानर की सबसे ज्यादा जरूरत मध्यम व छोटे स्तर की कंपनियों में होती है। इनकी मदद से ही बड़ी से बड़ी कंपनियां भी वित्तीय फैसले लेती हैं।

क्रेडिट एनालिस्ट : क्रेडिट एनालिस्ट का मुख्य काम किसी भी क्लाइंट या कंपनी की वित्तीय स्थिति का मूल्यांकन करके उसके अंतर्गत आने वाले जोखिमों को दूर करने का काम करना होता है।

इक्विटी रिसर्च एनालिस्ट : ये पेशेवर अपने एनालिसिस के आधार पर प्रॉफिट-लॉस स्टेटमेंट को तैयार करते हैं। स्टॉक बॉन्ड व अन्य वित्तीय साधनों की समीक्षा करना भी इन्ही की जिम्मेदारी होती है। ये गहन रिसर्च के आधार पर रिपोर्ट को तैयार कर प्रबंधन को स्थिति से परिचित करवाते हैं।

इन्वेस्टमेंट बैंकर: फाइनेंस की फील्ड में इन्वेस्टमेंट बैंकर भी अच्छी सैलरी पाने वाले कर्मचारी होते हैं। इन्वेस्टमेंट बैंकर मुख्य रूप से इन्वेस्टमेंट बैंको में नौकरी करते हैं। इनका मुख्य काम किसी भी व्यक्ति या कंपनी के लिए पूंजी जुटाना होता है।

पोर्टफोलियो मैनेजर: पोर्टफोलियो मैनेजर का काम अपने ग्राहक के पोर्टफोलियो को मैनेज करना होता हैं। पोर्टफोलियो मैनेजर हेज फंड्स या मनी मैनेजमेंट फर्म में कार्य करते हैं। यह एक जिम्मेदारी वाला काम होता है इसलिए इस काम के लिए अच्छी सैलरी भी मिलती है।

स्टॉक ब्रोकिंग: इसमें कोई शक नहीं है कि स्टॉक ब्रोकिंग एक बेहतरीन करियर है। अगर आपने फाइनेंस में एमबीए की डिग्री की है तो यह आपके लिए एक अच्छा करियर विकल्प हो सकता है। स्टॉक ब्रोकर के तौर पर आप नौकरी भी कर सकते हैं या आप चाहें तो खुद का ब्रोकिंग फर्म भी खोल सकते हैं। इस फील्ड में कमाई आपकी योग्यता और कौशल पर निर्भर करती है।

Career Option in Finance

फाइनेंशियल एनालिस्ट
इन्वेस्टमेंट बैंकिंग
अकाउंटेंट
कार्पोरेट फाइनेंस
फाइनेंशियल एडवायजर
फाइनेंशियल मैनेजर
कमर्शियल बैंक
फाइनेंसियल प्लानर
चीफ फाइनेंसियल ऑफिसर
पोर्टफोलियो मैनेजर
बजट एनालिस्ट
फाइनेंशियल मैनेजमेंट
इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट
लोन आफिसर
मैनेजमेंट एनालिस्ट
एनसोरेन्स अंडरराइटर
मार्केटिंग मैनेजमेंट
फाइनेंशियल रिस्क मैनेजमेंट
सर्टिफिएड पब्लिक अकॉउंटेंट

Skills for Career in Finance

फाइनेंस के फील्ड में करियर बनाने के इच्छुक युवाओं में धैर्य और काम के प्रति अनुशासन होने के साथ ही टैक्स व बिजनेस से जुड़े कामों में रुचि होना जरूरी होता है। कैंडिडेट में टीम वर्क, प्रॉब्लम सॉलबिंग स्किल, मैथ्स, कंप्यूटर स्किल, विश्लेषण व अच्छा संवाद कौशल के अलावा बेहतरीन मार्केटिंग स्किल की जरूरत होती है।

Salary in Finance Sector

शुरुआत में किसी आपको किसी भी फाइनेंस कंपनी में प्रतिमाह 20-25 हजार रुपये सैलरी मिलती है। जबकि 5-7 साल का अच्छा अनुभव होने पर यह बढ़कर 40-50 हजार रुपये प्रतिमाह तक हो जाती है। आज के समय मे कई ऐसे इस फील्ड पेशेवर हैं, जो डेढ़ लाख रुपये प्रतिमाह तक आसानी से कमा रहे हैं। इस फील्ड में शिक्षक व कंसल्टेंट की काफी अच्छी आमदनी होती है।

Fees of Finance Course

फाइनेंस के सेक्रेटर में कैरियर बनाने के लिए फाइनेंस से जुड़े विभिन्न कोर्स होते हैं, जिनकी फीस भी भिन्न- भिन्न होती है। अगर आप इस फील्ड में बीबीए और MBA कोर्स करना चाहते हैं तो इनकी फीस 3 लाख से लेकर 10 लाख के आसपास होती है। वंही फाइनेंस में बीए, बीएससी, बीकॉम की फ़ीस 5 हजार से 50 हजार प्रतिबर्ष के आसपास होती है।

ये भी पढ़ें:बैंकिंग में कैरियर कैसे बनायें?

फाइनेंस सेक्टर में चुनौतीयां

आज के समय कानून और नियम तेजी से बदल रहे हैं, इसलिए कैंडिडेट को इनसे अवगत रहना पड़ता है। बतौर फाइनेंस विशेषज्ञ अगर आप इस क्षेत्र में जमे रहना चाहते है, तो अपने आपको फाइनेंस सेक्टर की हर जानकारी से खुद को परिचित रखना होगा। इस क्षेत्र में क्लाइंट को संतुष्ट कर पाना और उनको लाभ पहुंचा पाना मुश्किल काम होता है। नुकसान की स्थिति में आपको काफी तनाव झेलना पड़ता है। आने वाले समय में इस फील्ड के कार्यक्षेत्र में बैलेंस शीट पर गंभीरता से काम करना और नैतिक मूल्यों को बनाए रखना भी सबसे बड़ी चुनौती है।

Best College For Finance Course

दिल्ली यूनिवर्सिटी डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल स्टडीज

आईआईएम (सभी कॉलेज)

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ फाइनेंशियल प्लानिंग नई दिल्ली

बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी

आंध्र यूनिवर्सिटी

पटना यूनिवर्सिटी, पटना

दिल्ली स्कूल ऑफ बिजनेस

हैदराबाद यूनिवर्सिटी

नरसी मोंजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज मुंबई

इलाहाबद यूनिवर्सिटी

जेवियर स्कूल ऑफ मैनेजमेंट जमशेदपुर

अलीगढ़ मुसलिम यूनिवर्सिटी अलीगढ़

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी

FAQ:

Finance Officer kaise bane

फाइनेंस ऑफिसर बनने के लिए या फाइनेंस के सेक्टर में कैरियर बनाने के लिए कैंडिडेट को फाइनेंस से जुड़े कोर्स करने की आवश्यकता होती है। फाइनेंस से जुड़े कोर्स 12वीं या ग्रेजुएशन के बाद कोर्स किये जा सकते हैं। जिसके बाद आप फाइनेंस ऑफिसर के तौर पर किसी भी फाइनेंस कंपनी में जॉब कर सकते हैं।

Finance Manager kaise bane

किसी भी कंपनी में मैनेजर की पोस्ट काफी बड़ी पोस्ट होती है, इसलिए पोस्ट पर अच्छी डिग्री और अच्छे अनुवभी व्यक्ति को नियुक्त किया जाता है। फाइनेंस कंपनी में मैनेजर बनने के लिए कैंडिडेट ने फाइनेंस से जुड़े सब्जेक्ट में MBA किया होना चाहिए।

फाइनेंस सेक्टर में क्या काम करना होता है?

फाइनेंशियल सेक्टर से जुडे प्रोफेशनल्स का मुख्य काम ऑर्गनाइजेशन के लिए मनी क्रिएट करना, कैश जनरेट करना होता है। इसके साथ ही किसी भी इन्वेस्टमेंट पर ज्यादा से ज्यादा रिटर्न प्रदान करना होता है। इसके साथ ही इनका, फाइनेंशियल प्लॉनिंग में भी अहम योगदान होता है।

फाइनेंस से जुडे लोगों को कंपनी के संपूर्ण वित्तीय प्रबंधन को समझना होता है और उसके शीर्ष प्रबंधकों को वित्तीय और आर्थिक नीति को बनाने और उन्हें लागू करने में मदद करते है। इसके अलावा क्रेडिट कार्ड आपरेशंस के फील्ड भी फाइनेंस प्रोफेशनल के जानकारों का भरपूर इस्तेमाल होता है।

फाइनेंस के सेक्टर में कैरियर के क्या अवसर हैं?

फाइनेंस में डिग्री होल्डर्स को कॉर्पोरेट फाइनेंस, मर्चेंट बैंकिंग, इंटरनेशनल फाइनेंस, फाइनेंशियल सर्विसेज, पोर्टफोलियो मैनेजमेंट, कैपिटल ऐंड मनी मार्केट, स्टॉक ब्रोकिंग, क्रेडिट रेटिंग, शेयर, रजिस्ट्री आदि में नौकरी मिल सकती है।

सरकारी बैंकों के अलावा, फाइनेंस डिग्री धारकों के लिए निजी और विदेशी बैंकों की बढ़ती आर्थिक गतिविधियों की वजह से फाइनेंशियल एक्सपर्ट,फाइनेंशियल एनालिस्ट, फाइनेंशियल प्लानर, वेल्थ मैनेजमेंट प्रोफेशनल्स आदि की तेजी से डिमांड बढ़ी है।

वंही प्राइवेट बैंकों की अगर बात करें, तो एचडीएफसी, आईसीआईसीआई, विदेशी बैंको जैसे-एबीएन मरो, सिटी बैंक, एचएसबीसी, डच बैंक, सिटीगोल्ड वेल्थ मैनेजमेंट आदि में भरपूर अवसर हैं।

इसके अलावा इंवेस्टमेंट फर्म जैसेकि-डीएसपी मैरील लाइंच, आनंद राठी इंवेस्टमेंट और जे.एम मार्गन स्टेंली, कोटक सिक्योरिटीज में भी रोजगार के अवसर हैं। इसके अलावा विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के माध्यम से भी आप सरकारी नौकरी पा सकते हैं।

फाइनेंस के फील्ड में कैरियर बनाने के लिए बीबीए करना सही है या एमबीए।

बीबीए कोर्स 12वीं के बाद किया जा सकता है और MBA कोर्स ग्रेजुएशन के बाद किया जा सकता है। अगर आप ग्रेजुएशन कर चुके हैं तो आपको MBA करना चाहिए। फिलहाल MBA एक मास्टर डिग्री है, इसलिए ये BBA की तुलना में अच्छा कोर्स माना जाता है। आमतौर पर सभी कंपनी अपने यंहा मैनेजेरियल पोस्ट पर MBA डिग्री धारकों को ही हायर करती हैं।

उम्मीद है कि Finance Me Career kaise banaye ये पोस्ट आपको पसन्द आयी होगी, क्योंकि यंहा पर मैंने फाइनांस कोर्स से जुड़ी हर जानकारी दी, है जोकीं आपके लिए काफी यूजफुल साबित होगी। अगर फिर भी आपके कोई सवाल या सुझाव हैं तो आप कमेंट के माध्यम से पूँछ सकते हैं। careerkaisebane.in पर विजिट करने के लिए धन्यवाद।

Leave a Comment