IAS Kaise bane

IAS Kaise bane- आज की इस पोस्ट में हम आईएएस कैसे बने इसके बारे में बताएंगे, क्योंकि बहुत से लोग पूंछते हैं और गूगल में भी सर्च करते है कि How Become a IAS in hindi। अगर आपका भी सपना एक आईएएस अधिकारी बनने का है, तो लेख आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता है। क्योंकि इस लेख में IAS kaise bane इससे संबंधित हर तरह की जानकारी दी गई है।

अभी तो आपके मन मे आईएएस को लेकर बहुत सारे सवाल होंगे, लेकिन इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको ये तो पता चल जाएगा, कि IAS kaise bante hain, आईएएस के लिए कितनी क्वालिफिकेशन होनी चाहिए? IAS Kya hai, आईएएस की तैयारी कैसे करें, IAS ki Salary कितनी होती है। इसके लिए कौन सा एग्जाम देना पड़ता है। एक तरह से IAS से रीलेटेड हर तरह की जानकारी यंहा पर आपको मिल जाएगी। चलिये IAS Full Information इसके बारे मे डिटेल में जानते हैं।

IAS kya hai

आईएएस की फुल फॉर्म इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस है। इसको हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहते हैं। यह भारत सरकार की अखिल भारतीय सेवाओं की एक प्रशासनिक शाखा है। इसको भारत की प्रमुख सिविल सर्विस है। IAS भारतीय पुलिस सेवा और भारतीय वन सेवा के साथ ही अखिल भारतीय सेवाओं की तीन शाखाओं में से एक है।

यूपीएससी (UPSC) यानी कि संघ लोक सेवा आयोग यानी द्वारा भारत मे हर साल सिविल सेवा परीक्षा के के माध्यम से देश के लोक प्रशासन, नीति निर्माण व कार्यान्वयन, कानून व्यवस्था बनाए रखने जैसे कार्यों के लिए IAS अधिकारियों यानिकि शीर्ष अधिकारियों का चयन किया जाता है।

बहुत से लोग DM को ही सिर्फ IAS अधिकारी समझते हैं, जबकि इसमे आईएएस के साथ ही में IPS, IFS जैसे अधिकारी शामिल होते हैं। UPSC की सिविल सेवा परीक्षा को देश की सबसे कठिन परीक्षा के तौर पर जाना जाता है। इस परीक्षा में जो IAS कैंडिडेट सिविल सेवा परीक्षा में टॉप रैंक हासिल करते हैं, उनको ही IAS चुना जाता है। इनके जिम्मे जिले के संचालन की जिम्मेदारी होती है, जिस भी जिले में ये नियुक्त किये जाते हैं। चलिये How Become IAS in hindi इसके बारे में अब जान लेते हैं।

IAS kaise bane

आईएएस अधिकारी बनने के लिए कैंडिडेट को IAS Exam यानिकि सिविल सेवा परीक्षा क्वालीफाई करना पड़ता है, जोकीं UPSC द्वारा आयोजित की जाती है। चूंकि यह एग्जाम काफी कठिन होता है, इसके लिए निरंतर अभ्यास जरूरी होता है।

Qualification For IAS Exam (आईएएस बनने के लिए योग्यता)

आईएएस बनने के लिए या फिर आईएएस (UPSC) एग्जाम देने के लिए अभ्यर्थी को किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन होना चाहिए। चाहे उसने बीए, बीकॉम, बीएससी, बीटेक, बीएड कोई भी ग्रेजुएशन स्तर का कोर्स किया हो। इस एग्जाम के लिए पात्र होता है।

IAS के लिए मार्क्स की कोई भी बाध्यता नही है, आपके चाहें कितने भी ग्रेजुएशन में अंक हो, आप इस एग्जाम के लिए आवेदन कर सकते हैं। ग्रेजुएशन फाइनल ईयर के कैंडिडेट भी इस एग्जाम के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Eligibility Criteria for IAS Exam (आईएएस अधिकारी के लिएमापदंड)

सबसे पहले तो कैंडिडेट किसी भी संकाय से ग्रेजुएशन हो। अभ्यर्थी भारत, भूटान या नेपाल का नागरिक होना चाहिए। सामान्य वर्ग के उम्मीदवार के लिए उम्र सीमा 21 से 32 बर्ष निर्धारित है और ये अधिकतम 6 बार ही एग्जाम दे सकते हैं।

ओबीसी कैटेगरी के कैंडिडेट 35 बर्ष तक की उम्र तक इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं और ये लोग अधिकतम 9 बार इस एग्जाम को दे सकते हैं।

ये भी पढ़ें- 12वीं के बाद आर्ट्स के स्टूडेंट्स क्या करें

एससी/एसटी कैटेगरी के कैंडिडेट 37 बर्ष तक इस परीक्षा को दे सकते हैं और इनके लिए एटेम्पट की कोई लिमिट नही है। कितनी भी बार ये लोग परीक्षा में बैठ सकते हैं।

इसके अलावा जो दिव्यांग अभ्यर्थियों होते हैं उनके लिए उम्र सीमा 42 बर्ष है, सामान्य व ओबीसी कैटेगरी के दिव्यांग कैंडिडेट नौ बार परीक्षा दे सकते हैं और एससी व एसटी के लिए किसी भी तरह की कोई भी लिमिट नही है।

IAS Exam Paper Pattern

आईएएस अधिकारी का चयन यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा के जरिये होता है। यह परीक्षा तीन चरणों में होती है। इसके बाद ही कैंडिडेट का फाइनल सेलेक्शन होता है। सबसे पहले प्री एग्जाम होता है। इस एग्जाम को क्वालीफाई करने वाले कैंडिडेट मेंस एग्जाम के लिए बुलाये जाते है। अब इसे बाद जो भी कैंडिडेट्स मेंस Exam को पास करते हैं, इसके बाद इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।

आईएएस का जो प्री एग्जाम होता है, इसमे दो पेपर होते हैं और दोनो ही ये ऑब्जेक्टिव टाइप का होते है, यानिकि इसमे बहुविकल्पीय क्वेश्चन पूंछे जाते हैं। ये दोनों ही 200- 200 मार्क्स के होते हैं। इसके बाद मेंस का पेपर होता है, सब्जेक्टिव (लिखित) होता है। इन दोनों एग्जाम को क्वालीफाई करने के बाद इंटरव्यू लिया जाता है।

ये एक IAS अधिकारी के सेलेक्शन का प्रोसेस होता है। चलिये अब IAS से संबंधित और भी महत्वपूर्ण जानकारी आपको देते हैं, जिसका आपको इंतजार है।

IAS Exam ki Taiyari kaise karen

यूपीएससी या आईएएस की तैयारी करने वाले कैंडिडेट अक्सर इस सवाल का जबाब ढूढते रहते हैं कि आईएएस परीक्षा की तैयारी कैसे करें, चलिये इसके लिए हम आपको बहुत ही महत्वपूर्ण टिप्स शेयर करेंगे।

आईएएस की परीक्षा काफी कठिन मानी जाती है। बहुत से लोग काम-काजी होते हैं या फिर जॉब करते हैं, तो ऐसे में यह एग्जाम और भी कठिन हो जाता है। कयोंकि जॉब के साथ मे आप स्टडी को उतना समय नही दे सकते हैं, जितना कि होना चाहिए।

1- टाइम मैनेजमेंट

आईएएस बनने के लिए टाइम मैनेजमेंट बहुत जरूरी होता है। आईएएस बनने के लिए जरूरी नही है कि आप रोज 10 से 12 घंटे पढ़े। पढ़ने वाले पढ़ते भी होंगे। लेकिन ज्यादा पढाई करने से भी कुछ लोगों को बोरियत होने लगती है। इसलिए आप रोज कम से कम 4 से 6 घंटे जरूर पढ़े। ऐसा नही कि आप एक दिन 10 या इससे भी ज्यादा घंटे पढ़ लें, और इसके बाद में अगले दिन बिल्कुल ही नही या घंटे या दो घंटे ही पढ़ाई करते हैं। ऐसे पढाई करने से कम नही चलेगा।

ये भी पढ़ें – टीवी न्यूज एंकर कैसे बनें

आप कम पढ़ाई को समय दें, लेकिन रोज दें और उस समय मे आप अपने फोन, अपने परिवार और दोस्तों से बिल्कुल दूर रहें। जितना भी पढ़ाई करें, क़्वालिटी वाली पढ़ाई करें। आआपको अपनी स्टडी में कनसिसटेन्सी मेंटेन करना होगा। पढ़ाई के बीच-बीच मे रेस्ट भी बहुत जरूरी है।

2- पेपर के पैटर्न को समझें

सिर्फ पढ़ने से और हार्ड वर्किंग से काम नही चलेगा। आपको गधे की तरह ज्यादा मेहनत नही करना है, बल्कि स्मार्ट स्ट्रेटजी को अपनाएं। इसके लिए जरूरी है कि आप सबसे पहले IAS exam के पेपर पैटर्न को समझें और एनालिसिस करें। कि किस तरह के क्वेश्चन पेपर में पूँछे जाते हैं। किस सब्जेक्ट से ज्यादा प्रश्न पूंछे जाते हैं और किस तरह के क्वेश्चन पर आपकी ज्यादा अच्छी पकड़ है और किस सब्जेक्ट में आप कमजोर हैं। इसके बाद आप अपनी पढ़ाई की रणनीति तैयार करें।

3- सही स्टडी मैटेरियल का चुनाव

स्टडी मटेरियल का चुनाव बहुत ही सावधानी से करें, चूंकि IAS एग्जाम स्तर काफी हाई लेवल का होता है, इसलिए सलेक्टेड मैटेरियल के साथ ही कई स्त्रोतों सही स्त्रोतों से पढ़ाई करें। करेंट अफेयर के लिए आप द हिंदु, द इकोनॉमिक टाइम्स जैसे पेपर को पढ़ें और साथ ही NCERT की किताबें से स्टडी करें। इससे आपकी बुनियादी समझ अच्छी विकसित होगी।

4-टाइम टेबल बनाएं

आईएएस एग्जाम को पास करने के लिए जरूरी है कि आप एक स्टडी टाइम टेबल बनाएं और उसके हिसाब से तैयारी शुरू करें। टाइम टेबल इसलिए जरूरी है कि आप हर सब्जेक्ट की पढाई में एक निश्चित समय दे पाएं, जिससे कोई भी सब्जेक्ट और टॉपिक छुटे नहीं। इस टाइम टेबल को आप हमेशा फॉलो करें।

5- निरंतर अभ्यास जरूरी है।

ऐसा नही है कि आपने आज जो पढ़ लिया वो हमेशा के लिए आपके दिमाग मे बैठ गया। ये तो हमारे ब्रेन की स्वाभाविक आदत होती है कि पढा हुआ, कुछ दिन में भूलने लगता है। इसलिए जरूरी है कि जो भी आप पढ़ते हैं, समय- समय पर उसका रिवीजन भी करते रहें। रिवीजन करने से याद की गई चीजे, ज्यादा दिनों तक याद रहती हैं।

कभी- भी देर रात तक न पड़े। दिन में पढ़ाई करने के बाद में रात को भरपूर नींद लें, तनाव मुक्त रहे।

ये भी पढ़ें – पत्रकार कैसे बनें

6- मॉक टेस्ट हल करें

चूंकि आप आईएएस जैसे बड़े एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं, इसलिए इस एग्जाम की तैयारी भी बड़े लेवल की होनी चाहिए। पिछले सालों के आईएएस एग्जाम के पेपर को भी हल करें। ज्यादा से ज्यादा मॉक टेस्ट दें और प्रैक्टिस पेपर हल करें।

कुछ लोग सोंचते हैं कि पहले हम सिलेबस पूरा करेंगे उसके बाद मॉक टेस्ट या प्रैक्टिस पेपर सॉल्व करेंगे। तो आपका ऐसा सोचना गलत है। क्योंकि इस एग्जाम की आप जितनी भी तैयारी करो, कम ही है। आप ज्यादा से ज्यादा जब मॉक टेस्ट देंगे और प्रैक्टिस पेपर हल करेंगे तो आपको ये पता चल जाएगा कि आपकी कंहा पर कमी है। कौन से सब्जेक्ट में आपकी अच्छी पकड़ है और किसमे आप कमजोर हैं। मॉक टेस्ट देने का फायदा ये भी होता है, कि आप अपनी कमजोरी को जानकारी उनको दूर कर सकते हैं। जिससे कि आपकी सफलता के चांस बढ़ जाते हैं। आपको अपने अंदर कॉन्फिडेंस भी आने लगता है। एग्जाम फियर जैसी प्रॉब्लम नही होती है।

7- अपने आप पर भरोसा रखें

चूंकि आईएएस का सेलेक्शन प्रोसेस काफी लंबा होता है। इसलिए इसकी परीक्षा से लेकर इंटरव्यू में लगभग पूरा एक साल लग जाता है। मान लीजिए अभी आपका प्री एग्जाम हुआ है, अब इसके कुछ महीनों बाद मेंस एग्जाम होगा और उसके कुछ महीनों बाद इंटरव्यू। इस तरह लगभग एक साल लग जाता है। तो ऐसे में आपको एग्जाम देने के बाद तनावमुक्त रहने और खुश रहने की कोशिश होनी चाहिए। जिससे कि आने वाले अगले एग्जाम पर इस तनाव का असर न पड़े।

खुद पर भरोसा रखें। लेकिन खुद को अंधेरे में भी न रखें। एक कहावत है कि मन के जीते जीत है और मन के हारे हार, तो अगर आपने मन मे ठान लिया है कि आपकी जीत होगी तो आपकी ही जीत होगी, लेकिन आपने मेहनत भी जीत के लायक की हो।

8- कोचिंग जॉइन करें

बेहतर मार्गदर्शन पाने के लिए आपको कोचिंग की मदद लेना सही रहेगा। क्योंकि यंहा पर काफी एक्सपर्ट टीचर होते हैं, जोकीं आपका सही मार्गदर्शन करते हैं। ऐसा भी नही है कि आपने कोचिंग जॉइन कर ली तो आप IAS exam पास ही कर लेंगे। ऐसा आपका मानना गलत होगा। कोचिंग सेंटर सिर्फ आपको रास्ता बता सकते हैं, उस रास्ते पर चलकर अपनी मंजिल तक पहुचना तुमको है।

ये भी पढ़े – एयरपोर्ट मैनेजर कैसे बनें

वैसे तो आज के समय मे आईएएस के कोचिंग सेंटर तमामं शहरों में हैं, लेकिन आपको अगर कोचिंग जॉइन करना है तो अच्छी तरह से जांच-पड़ताल करके किसी अच्छे कोचिंग सेंटर में ही एडमिशन लें, जंहा पर विशेषज्ञ टीचर हों। और आपको सही मार्गदर्शन दे सकें।

IAS Me Selection kaise hota hai

IAS एग्जाम यानिकि सिविल सर्विसेज में कुल 24 पोस्ट होती हैं, जिन पर सिविल एग्जाम पास करने वाले कैंडिडेट्स का सेलेक्शन किया जाता है।

ये जॉब 2 कैटेगरी में होती है। पहली आल इंडिया सर्विसेज और दूसरी सेंट्रल सर्विसेज। आल इंडिया सर्विसेज में इंडियन एडमिस्ट्रेटीव सर्विसेज (IAS) और इंडियन पुलिस सर्विसेज (IPS) आते हैं। इन सर्विसेज में जितने भी कैंडिडेट का सेलेक्शन होता है, उनको केंद्रशासित प्रदेशों और राज्यों का कैडर दिया जाता है। इसके बाद सेंट्रल सर्विसेज में ग्रुप A और ग्रुप बी की सर्विसेज आती हैं।

अक्सर पूंछे जाने वाले प्रश्न

आईएएस के लिए कौन सा सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन होंना चाहिए?

आईएएस बनने के लिए ये जरूरी नही होता है कि आपने किस सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन किया है। बस आप सिर्फ ग्रेजुएशन पास कर चुके हों, किसी भी सब्जेक्ट से आपने किया हो, ये मायने नही रखता है।

लेकिन एक बात है, जिन स्टूडेंडस ने आर्ट्स (हुमिनिटीज) बिषय से ग्रेजुएशन किया है तो उनके लिए IAS Exam थोड़ा आसान हो सकता है और साइंस स्ट्रीम के कैंडिडेट के लिए थोड़ा मुश्किल हो सकता है। क्योंकि आईएएस में आर्ट्स स्ट्रीम के सुजेक्ट से ही ज्यादा क्वेश्चन आते हैं। जबकि साइंस स्ट्रीम के स्टूडेंडस इन सब्जेक्ट के बारे में बिल्कुल जानते भी नही होते हैं। तो थोड़ा साइंस के स्टूडेंडस के लिए मुश्किल हो जाता है।

अगर आप 12वीं कर रहे हैं और आप 12th से ही IAS की तैयारी करना चाहते हैं तो आपको आर्ट्स स्ट्रीम से ही ग्रेजुएशन करना चाहिए। क्योंकि आईएएस एग्जाम में हिस्ट्री, जियोग्राफी, इकोनॉमिक्स, पोलिटिकल साइंस जैसे सब्जेक्ट स्व काफी ज्यादा क्वेश्चन आते हैं। इसलिए अगर आप हिस्ट्री, जियोग्राफी, इकोनॉमिक्स, पोलिटिकल साइंस सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन करते हैं तो आपको आईएएस एग्जाम क्लियर करने में काफी मदद मिलेगी।

12वीं के बाद IAS अधिकारी कैसे बनें (How to prepare for ias after 12th)

अगर आप IAS एग्जाम की तैयारी जल्दी शुरू करते हैं, तो आप IAS परीक्षा को जल्द ही पास कर सकते हैं और जल्द ही सिविल सेवा का अवसर पॉ सकते हैं। आईएएस एग्जाम की तैयारी में काफी वक्त लगता है। इसलिए अगर आप 12वीं से ही इसकी तैयारी शुरू कर देंगे तो 12वी से ग्रेजुएशन पूरा होने तक लगभग 5 साल का समय लग जाता है। ऐसे में आपको IAS की तैयारी करने के लिए 5 साल मिल जाएंगे।

अगर आप अच्छी मेहनत करेंगे तो 5 साल में तो आपकी IAS एग्जाम की अच्छी तैयारी हो जाएगी। इससे आईएएस की तैयारी के लिए अलग से टाइम की जरूरत नही होगी। जब तक आप 12वीं और ग्रेजुएशन करेंगे, इसी के दैरान आपकी IAS की तैयारी भी हो जाएगी।

ये भी पढ़े – एविएशन में कैरियर कैसे बनायें

दूसरी बात ये है, अगर आपने 12वीं से ही निश्चित कर लिया है कि आपको IAS बनना है तो आप ग्रेजुएशन हिस्ट्री, जियोग्राफी, इकोनॉमिक्स, पोलिटिकल साइंस सब्जेक्ट से करें। तो आपकी इन सब्जेक्ट पर अच्छी पकड़ हो जाएगी, इन्ही सब्जेक्ट से IAS के एग्जाम में भी क्वेश्चन आते हैं।

रोज समाचार पत्र पढ़ने की आदत विकसित करें। देश व दुनिया की नवीनतम घटनाओं के बारे में जानकारी से अवगत रहें।

IAS एग्जाम के पैटर्न को ध्यान में रखते हुए शुरुआत से ही तैयारी करें।

इसके अलावा सामाजिक, प्रशासन, इकोनॉमिक्स, हिस्ट्री, जियोग्राफी, पोलिटिकल साइंस जैसे सब्जेक्ट को ज्यादा से ज्यादा पढ़े। इसके साथ ही आपने बेसिक मैथ जो सीखी है, उसको न भूलें।

NCERT की पुस्तकें क्लास 5 से 12 तक कि सभी पढ़े, ये किताब मूल है। नोट्स बनाएं और उनको अध्धयन करें।

अपने अंदर संचार कौशल यानिकि कम्युनिकेशन स्किल और पर्सनलिटी डेवलोपमेन्ट स्किल्स पर कार्य करें। जिससे कि आपको IAS के इंटरव्यू को क्वालीफाई करने में मदद मिलेगी।

अगर आप ऊपर जो मैंने विषय बताये हैं, इनमे से किसी मे महारत हासिल कर लेते हैं तो आप इनमे से किसी भी एक सब्जेक्ट को वैकल्पिक विषय के रूप में चुन सकते हैं, जोकीं आपके लिए फायदेमंद होगा।

आईएएस सैलरी

आईएएस पोस्ट लिस्ट

IAS के कार्य

आईएएस का क्या काम होता है

आईएएस एग्जाम फीस

उम्मीद करते हैं कि IAS kaise bane ये पोस्ट पसन्द आयी होगी। इस पोस्ट में मैंने IAS एग्जाम और इसकी तैयारी कैसे करें, इससे जुड़ी सारी जानकारी इस आर्टिकल में दी है। फिर भी अगर आपके कोई सवाल हैं तो आप कमेंट के माध्यम से पूँछ सकते हैं।

Tags: How become IAS in hindi, IAS Exam in hindi, IAS ki Taiyari kaise kare,IAS full form in hindi,IAS kaise bante hai, IAS Kaise Ban Sakte hain, IAS salary in hindi, IAS Work in Hindi, IAS kaise bane in hindi, IAS kaise bane 12 ke bad, Ias kaise bane in English, Math se IAS kaise bane,

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *