Journalism Meaning in hindi- जर्नलिज्म का सही मीनिग जान लो

Journalism meaning in hindi- अगर आप जर्नलिज्म का मीनिंग हिंदी में जानना चाहते हैं तो आप बिलकुल सही पोस्ट पढ़ रहे हैं। क्योंकि आज की इस पोस्ट में हम आपको Journalism ka Meaning हिंदी में बतायेंगे। इसके साथ ही जर्नलिज्म का मतलब क्या होता है या Journalism kya hota hai इसके बारे में भी हम आपको बताएंगे।

Journalism meaning in hindi

जर्नलिज्म का हिंदी में मीनिंग पत्रकारिता होता है। लेकिन सिर्फ इसके हिंदी के अर्थ को ही समझकर ही आप पत्रकारिता की सारी जानकारी नही पा सकते हैं। इसलिए इसकी सारी जानकारी के लिए आप इस पोस्ट को पूरा पढ़े।

पत्रकारिता शब्द अंग्रेजी के जर्नलिज्म शब्द से बना है। जॉर्नलिज्म शब्द की उत्पत्ति फ्रेंच शब्द जर्नी से हुई है। इस तरह से पत्रकारिता का अर्थ हुआ कि एक- एक दिन का कार्य और उसका विवरण प्रस्तुत करना ही पत्रकारिता कहलाता है।

इस तरह से पत्रकारिता दैनिक जीवन मे घटने वाली घटनाओं को प्रस्तुत करने का माध्यम होता है। पत्रकारिता का उद्देश्य लोगों का मनोरंजन करना, उनको सूचना देना और शिक्षित करना होता है। इन तीन कार्यों में ही सारी पत्रकारिता निहित होती है।

ये भी पढ़ें –TV Journalism Me Career kaise banaye

किसी भी घटना को जानने की उत्सुकता ने ही पत्रकारिता को जन्म दिया है। आज पूरे विश्व मे पत्रकारिता का बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान होता है। इसको लोकतंत्र का चौथा स्तंभ भी माना जाता है। आज जे समय मे पत्रकारिता लगभग सभी भाषाओं में होती है।

Types of Journalism (पत्रकारिता के रूप)

पत्रकारिता भी कई तरह की होती है। मुद्रित रूप पत्रकारिता। इसमे प्रिंट मीडिया आती है। जोकीं।समाचारपत्र, पत्रिकाये, मैगजीन, शामिल हैं।

श्रव्य रूप- यानी कि पत्रकारिता का वह रूप जिसमे आप सिर्फ समाचार को सुन सकते हैं। जैसे कि रेडियो।

श्रव्य- दृश्य रूप- यह पत्रकारिता का वह रूप है। जिसमे आप चित्रों को देखने के साथ- साथ उनकी आवाज भी सुन सकते हैं। जैसेकि आप टीवी, फ़िल्म, यूट्यूब।

इसके अलावा पत्रकारिता का एक नया रूप सामने आया है, जोकीं वेब मीडिया या न्यूज़ पोर्टल हैं। डिजिटल युग मे इसकी काफी महत्ता है।

आपको बता दें कि देवऋषि नारद ने सबसे पहले पत्रकारिता शुरू की थी और वह सबसे पहले पत्रकार थे। जो घटनाओं की जानकारी को इधर और उधर भेजते थे।

भारत मे पत्रकारिता की शुरुआत ब्रिटिश काल मे हुई। इसकी शुरुआत एक अंग्रेज अधिकारी विलियम बोल्ट्स ने की थी। वह अंग्रेज अधिकारियों का विरोधी हो गया था। उसने ईस्ट इंडिया कंपनी के कारनामों को जनता के सामने लाने की योजना बनाई।

इस तरह से भारत मे पत्रकारिता की शुरुआत हुई। विलियम बोल्ट्स को परेशान करके भारत से बाहर भेज दिया गया। इस दौरान उसने एक पुस्तक लिखकर ईस्ट इंडिया कंपनी के कारनामों का उजागर किया। इस पुस्तक का नाम कंसीडेरेशन ऑन इंडियन अफेयर्स था। तो फ्रेंड्स ये पत्रकारिता के बारे में जानकारी है।

Journalism courses after 12th

पत्रकारिता के फील्ड में कैरियर बनाने के लिए आप 12वीं के बाद में बीए इन जॉर्नलिज्म, बैचलर इन जॉर्नलिज्म एंड मास कॉम्युनिकेशन, बीएससी इन मास कॉम्युनिकेशन, डिप्लोमा इन जॉर्नलिज्म एंड मास कॉम्युनिकेशन जैसे कोर्स कर सकते हैं।

Journalism courses after graduation

इसके अलावा ग्रेजुएशन के बाद में एमए इन जॉर्नलिज्म, एमएससी इन मास कॉम्युनिकेशन, मास्टर इन जॉर्नलिज्म एंड मास कॉम्युनिकेशन, पीजी डिप्लोमा इन जॉर्नलिज्म एंड मास कॉम्युनिकेशन जैसे कोर्स किये जा सकते हैं।

Journalism courses in India

बीए इन जॉर्नलिज्म

बीएससी इन मास कॉम्युनिकेशन

बीजीएमसी

डिप्लोमा इन मास कॉम्युनिकेशन

एमए इन जॉर्नलिज्म

एमएससी इन मास कॉम्युनिकेशन

मास्टर इन ब्रॉडकास्ट जॉर्नलिज्म

एमजेएमसी

पीजी डिप्लोमा इन मास कॉम्युनिकेशन

Journalism courses, fees

इस कोर्स की फीस 5 हजार से लेकर 1लाख प्रतिबर्ष के बीच होती है। अगर आप सरकारी कॉलेज से जॉर्नलिज्म यानी कि पत्रकारिता कोर्स करते हैं तो आप 5 से 30 हजार प्रतिबर्ष में ही इस कोर्स को कर सकते हैं। प्राइवेट कॉलेज में आपको काफी ज्यादा फीस चुकानी होती है।

Journalism courses online

पिछले एक साल से ऐसी परिस्थिति आ गई है कि लोग घर से बाहर जाना नही चाहते हैं। ऐसे में कुछ इंस्टीट्यूट ने ऑनलाइन कोर्स संचालित किए हैं। जिनको अगर कोई घर से ही करना चाहते हैं, तो घर से ही ऑनलाइन कर सकते हैं। लेकिन कॉलेज से ऑनलाइन की तुलना में ये कोर्स करना बेहतर होता है।

Journalism Courses eligibility

जर्नलिज्म कोर्स को आप 12वीं या ग्रेजुएशन के बाद कर सकते हैं। कुछ कॉलेज में आपको डायरेक्ट ही एडमिशन मिल जाता है और कुछ कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से एडमिशन मिलता है।

Best journalism courses

बीए इन जॉर्नलिज्म

बीएससी इन मास कॉम्युनिकेशन

बीजीएमसी

डिप्लोमा इन मास कॉम्युनिकेशन

एमए इन जॉर्नलिज्म

एमएससी इन मास कॉम्युनिकेशन

मास्टर इन ब्रॉडकास्ट जॉर्नलिज्म

एमजेएमसी

पीजी डिप्लोमा इन मास कॉम्युनिकेशन

Journalism courses college

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कॉम्युनिकेशन दिल्ली

जामिया मिलिया इस्लामिया दिल्ली

बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी

माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी भोपाल

गुरुघासीदास यूनिवर्सिटी, बिलासपुर

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी

दिल्ली यूनिवर्सिटी

फ्रेंड्स उम्मीद है कि Journalism meaning in hindi ये पोस्ट आपको पसन्द आयी होगी। यंहा पर मैंने जॉर्नलिज्म से रीलेटेड सभी पहलुओं को कवर करने की कोशिश की है। अगर फिर भी आपके कोई सवाल या सुझाव हैं तो आप हमसे कॉमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *