Loan Officer Kaise Bane

Loan Officer Kaise bane: अगर आप भी बैंकिंग के हाई डिमांडिंग सेक्टर में कैरियर बनाना चाहते हैं तो हमारी ये पोस्ट बैंक में लोन ऑफिसर कैसे बनें? आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होगी। क्योंकि यंहा पर मैं आपको बैंकिंग के हॉट सेक्टर Loan Officer kaise bane इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी देंगे। जिससे कि आप बैंकिंग के तेजी से ग्रोथ करने वाले सेक्टर में कैरियर बनाने का सपना पूरा कर सकेंगे।

Career Scope as a Loan Officer

लोन ऑफिसर की मौजूदा समय मे खूब है डिमांड है। क्योंकि आज के समय मे लोन की जरूरत किसको नही होती है। लगभग हर व्यक्ति बैंक से लोन लेता ही है। यंहा पर आपको कस्टमर भी ढूढने नही पड़ते हैं, लोग खुद चलकर बैंक आते हैं। इस तरह लोन ऑफिसर के तौर पर कैरियर के बेहतरीन अवसर हैं।

वैसे तो बैंकिंग के क्षेत्र में करियर बनाने की चाहत रखने वाले युवाओं के लिए कई ऐसे विकल्प मौजूद हैं। लेकिन इनमे से बैंकों में लोन ऑफिसर्स की खूब डिमांड रहती है। बात चाहे पर्सनल लोन की हो या बिजनस लोन की या होम लोन की हो या फिर पर्सनल लोन की। लोन ऑफिसर बैंकों और कस्टमर्स के बीच में एक सेतु की तरह काम करते हैं।

आज के समय मे हर व्यक्ति का यह सपना होता है कि उनका अच्छा बिजनेस हो, अच्छा घर हो, ऐसे में लोन के माध्यम से लोग अपने इन सपनो को पूरा करते हैं। इतना ही नही स्टूडेंट्स के लिए एजुकेशन लोन काफी ज्यादा पॉपुलर है। काफी स्टूडेंट्स जो गरीब हैं तो वे लोन लेकर ही पढ़ाई करते हैं। ऐसे में आप लोन ऑफिसर की अहमियत का अन्दाजा लगा सकते हैं।

भारत मे 70 से ज्यादा लोग खेती करते हैं, ऐसे में हर किसान को क्राप लोन लेने की जरूरत होती है। इस तरह से हम देखते हैं कि आज के समय मे लोन की काफी ज्यादा अहमियत बढ़ गई है। लोग अपने सपनों को पूरा करने के लिए बैंकों से लोन लेते हैं। इस तरह बैंक भी कस्टमर की डिमांड के मुताबिक आकर्षक लोन प्रोडक्ट को लांच करते हैं। जिससे कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को Loan का लाभ मिल सके।

देश में बैंकिंग सुविधाओं की बढ़ती डिमांड के कारण पिछले कुछ वर्षों से इस क्षेत्र में जॉब्स की संभावनाएं काफी बढ़ गई है। जिस वजह से इस क्षेत्र में प्रयाप्त कैरियर के अवसर उपलब्ध हैं। चलिये अब जान लेते हैं कि Loan Officer kaise bane। इसके लिए आपको क्या करना होगा? इसके लिए क्या क्वालिफिकेशन होनी चाहिए। इन सभी के बारे में डिटेल में जानते हैं।

Loan Officer Kaise bane

किसी भी बैंक में लोन अफसर बनने के लिए उम्मीदवार को किसी भी स्ट्रीम से 12वीं या ग्रेजुएट होना चाहिए। ग्रैजुएशन के अंतिम वर्ष के छात्र बैंकिंग और फाइनैंस से संबंधित कोर्स में आवेदन कर सकते हैं और लोन ऑफिसर बनने की राह में पहला कदम रख सकते हैं। इसके अलावा इंटरमीडिएट का एग्जाम देने जा रहे कैंडिडेट भी बैंकिंग एंड फाइनेंस से संबंधित कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं। ग्रेजुएशन या 12th में कैंडिडेट के कम से कम 50% मार्क्स होने चाहिए। हालांकि इससे कम मार्क्स के कैंडिडेट्स को भी एडमिशन मिल सकता है।

ये भी पढ़ें:
बैंक मैनेजर कैसे बनें?
बैंक में पीओ (प्रोबेशनरी ऑफिसर) कैसे बने?
बैंक में कलर्क कैसे बनें?

Loan Officer Work (लोन ऑफिसर के कार्य)

किसी भी बैंक का लोन ऑफिसर अपने बैंक के कस्टमर्स को और लोन के लिए आवेदन करने वाले कस्टमर्स को होम लोन, कार लोन, एजुकेशन लोन, बिजनस या पर्सनल लोन, गोल्ड लोन या अन्य तरह के लोन दिलवाने में मदद करता है। लोन ऑफिसर अपने कस्टमर्स के लिए उपयुक्त लोन का सही निर्धारण करने में भी मदद करता है और उंनको विभिन्न जरूरतों और बैंकों की शर्तों से भी अवगत कराता है।

ये प्रोफेशनल कमर्शल लोन्स, मॉर्गेज और पर्सनल लोन या अन्य लोन प्रोडक्ट के एक्सपर्ट होते हैं। इसके आलावा ये कमर्शल बैंक्स, क्रेडिट यूनियनों, के लिए भी काम करते हैं।

लोन ऑफिसर लोन के आवेदक की क्रेडिट की हिस्ट्री, कॉर्पोरेट वित्तीय विवरण और अन्य भी वित्तीय जानकारी की प्रतियां प्राप्त करने का कार्य करता है। लोन के अग्रीमेंट्स की समीक्षा करना, पेमेंट शेड्यूल की गणना करना, ग्राहकों की जरूरतों के मुताबिक नए लोन प्रोडक्ट की जानकारी रखना भी Loan Officer का काम होता है।

Course for Become a Loan Officer

आजकल लोन ऑफिसर बनने के लिए कई तरह के कोर्स यूनिवर्सिटीज में उपलब्ध हैं। जिनको 12वीं या ग्रेजुएशन के बाद किया जा सकता है। जोकीं निम्न हैं।

बीबीए इन बैंकिंग एंड फाइनेंस
बीबीए इन बैंकिंग एंड इंश्योरेंस
बीए इन इकोनॉमिक्स
एमबीए इन बैंकिंग एंड फाइनेंस
पीजीडीएम इन बैंकिंग एंड फाइनेंस

Course में क्या पढ़ाया जाता है?

पाठ्क्रम के दौरान स्टूडेंट्स को इस कोर्स में सभी प्रैक्टिकल जानकारियां जैसे अलग-अलग प्रकार की लोन और उनकी ब्याज दरे कितनी होती हैं, लोन की किश्त किस प्रकार से तय होती हैं, लोन की अवधि और जरूरी डॉक्युमेंट के बारे में बताया जाता है। इसके साथ ही, लोन लेने में कितना प्रसेसिंग चार्ज लगता है इसकी जानकारी भी दी जाती है। लोन को समय से पहले बंद करने की क्या शर्तें हैं, आपको आपकी आमदनी या सैलरी या जमीन या मकान के हिसाब से कितना लोन मिल सकता है। इन सभी के बारे में पढ़ाया जाता है।

Market Dimond

एक्सपर्ट्स बताते हैं कि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के अतिरिक्त, देश के सभी 27 राष्ट्रीय और 82 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों में Loan Officer की काफी मांग है। इससे संबंधित कोर्स के पूरा होने के बाद कैंडिडेट अंतरराष्ट्रीय बैंकस, राष्ट्रीय बैंकस, ग्रामीण बैंकस, मॉर्गेज कम्पनियां और क्रेडिट यूनियनों में लोन ऑफिसर के तौर पर कार्य कर सकते हैं। इसके अलावा एग्जाम देकर सरकारी बैंकों में भी Job कर सकते हैं।

Loan Officer Salary

बैंकिंग के क्षेत्र में इंटरेस्ट रखने वाले कैंडिडेट इस सेक्टर में अच्छा भविष्य बना सकते हैं। एक लोन ऑफिसर की न्यूमतम प्रतिमाह सैलरी 20 से 30 हजार के आसपास होती है। सैलरी एक्सपीरिएंस साथ-साथ बढ़ती रहती है, जोकीं 40 से 50 हजार तक हो सकती है। इसके अलावा आप बैंकिंग सेक्टर में लोन ऑफिसर कमिशन के बेस पर भी अपॉइंट किए जाते हैं।

Course Me एडमिशन कैसे मिलेगा?

इन कोर्स में एडमिशन अच्छे और नामी संस्थानों में एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से मिलता है। बाकी काफी कॉलेजों में डायरेक्ट भी एडमिशन मिल जाता है। अगर आपका सपना इंडिया के बेस्ट कॉलेज से कोर्स करने का है तो इसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से ही एडमिशन मिलेगा। चलिये जान लेते हैं, प्रमुख एंट्रेंस एग्जाम के बारे में।

Entrance Exam for loan Officer Course

CAT
XAT
CMAT
CMAT

College for Loan Officer Course

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी दिल्ली
इंदिरा गांधी ओपन यूनिवर्सिटी नई दिल्ली
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी उत्तर प्रदेश
टीकेडब्लूएस इंस्टिट्यूट ऑफ बैंकिंग ऐंड फाइनैंस नई दिल्ली
मणिपाल यूनिवर्सिटी
सिम्बायोसिस यूनिवर्सिटी, आदि

FAQ:

क्लास 12वीं के बाद Loan Officer kaise bane?

आप 12th पास करने के बाद BBA in बैंकिंग एंड फाइनेंस या बीबीए इन बैंकिंग एंड इंसोरेंस या बीकॉम इनमे से कोई सा भी कोर्स करके लोन ऑफिसर के तौर पर कैरियर की शुरुआत कर सकते हैं।

BBA in Banking या B Com इन दोनों कोर्स में से लोन ऑफिसर बनने के लिए कौन सा कोर्स ज्यादा अच्छा है?

दोनो ही कोर्स अच्छे हैं, लेकिन BBA in Banking में बैंकिंग और कॉरपोरेट बैंकिंग की डेप्थ में नॉलेज दी जाती है। यह एक प्रोफेशनल डिग्री है। इसलिए बीबीए, बीकॉम की तुलना में ज्यादा अच्छा है।

मुझे 12बीं के बाद लोन ऑफिसर का कोर्स करना चाहिए या ग्रेजुएशन के बाद।

आप अपनी चॉइस के मुताबिक 12वीं या ग्रेजुएशन किसी के बाद laon officer बनने के कोर्स कर सकते हैं। दोनो ही कोर्स के बाद जॉब के अच्छे अवसर हैं। लेकिन हां कभी- कभी कुछ बैंक्स लोन ऑफिसर के लिये पोस्ट ग्रेजुएट कैंडिडेट्स को हायर करने में वरीयता देती हैं। तब वंहा पर ग्रेजुएशन के बाद PGDM या MBA की डिग्री ज्यादा मायने रखती है। ऐसा नही है कि अगर आप 12th के बाद बैंकिंग से संबंधित कोर्स करते हैं, तो कैरियर के अवसर नही मिलेंगे।

Loan Officer Banne ke liye MBA सही है या PGDM?

लोन ऑफिसर बनने के लिए उपरोक्त दोनो ही कोर्स डिमांडिंग कोर्स हैं। अंतर बस इतना है।कि PGDM पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा है और MBA पोस्ट ग्रेजुएट्स मास्टर डिग्री है। इन दोनों के बाद समान ही कैरियर के अवसर मिलते हैं, लेकिन कभी-कभी कुछ बैंक्स मास्टर डिग्री (MBA) के कैंडिडेट को वरीयता देती हैं।

उम्मीद है कि Loan Officer kaise bane ये पोस्ट आपको पसन्द आयी होगी। क्योंकि यंहा पर मैंने Loan Officer के Career और Course से संबंधित सारी जानकारी दी है, जोकीं आपके लिए काफी यूजफुल साबित होगी।

Leave a Comment