Mass Communication Course Details in Hindi

Mass Communication Career and Course Details in Hindi – आज की इस पोस्ट में हम मास कॉम्युनिकेशन कोर्स के बारे में डिटेल में बताएंगे। चूंकि मैं भी मास कॉम्युनिकेशन का स्टूडेंट रह चुका हूं। इसलिए हमें Mass Communication Course के बारे में काफी कुछ पता है। अगर आपको इस कोर्स के बारे सारी जानकारी चाहिए, तो आप इस पोस्ट को जरूर पढ़ें। यंहा पर आपको Mass Communication और Course के बारे में हर इन्फॉर्मेशन मिलेगी। All About Mass Communication course and Career.


Mass Communicatiom Course Details
मास कॉम्युनिकेशन पत्रकारिता और जनसंचार का कोर्स है। इस कोर्स के अंतर्गत इलेक्ट्रॉनिक जर्नलिज्म, प्रिंट मीडिया जर्नलिज्म, ऑनलाइन जर्नलिज्म, रेडियो, सिनेमा, पब्लिक रिलेशन, फ़िल्म एंड टीवी प्रोडक्शन, क्रिएटिव राइटिंग, वीडियो एडिटिंग एंड साउंड एडीटिंग जैसे सब्जेक्ट पढ़ाये जाते हैं। इस कोर्स के माध्यम से स्टूडेंट मीडिया और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में कैरियर बना सकते हैं।
आजकल अनेक मीडिया संस्थानों द्वारा Mass Communication course संचालित कराये जा रहे हैं। मास कॉम्युनिकेशन कोर्स को कई नामों से जाना जाता है। मास कॉम्युनिकेशन में डिप्लोमा, बैचलर, मास्टर और पीजी डिप्लोमा जैसे अनेक कोर्स उपलब्ध हैं।
डिप्लोमा इन जर्नलिज्म
डिप्लोमा इन प्रिंट जर्नलिज्म
डिप्लोमा इन मास कॉम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म
डिप्लोमा इन इलेक्ट्रॉनिक मीडिया
डिप्लोमा इन इलेक्ट्रॉनिक जर्नलिज्म
बैचलर इन मास कॉम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म
बैचलर इन जर्नलिज्म एंड मास कॉम्युनिकेशन
बैचलर इन मास कॉम्युनिकेशन एडवरटाइजिंग एंड जर्नलिज्म
बीएससी इन इलेक्ट्रॉनिक मीडिया
बीए इन मास कॉम्युनिकेशन
बीए इन जर्नलिज्म
बैचलर इन जर्नलिज्म
बैचलर इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म
मास्टर इन मास कॉम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म
मास्टर इन जर्नलिज्म एंड मास कॉम्युनिकेशन
एमए इन मास कॉम्युनिकेशन
एमएससी इन मास कॉम्युनिकेशन
एमएससी इन इलेक्ट्रॉनिक मीडिया
मास्टर इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म
पीजी डिप्लोमा इन एडवरटाइजिंग एंड जर्नलिज्म
पीजी डिप्लोमा इन मास कॉम्युनिकेशन
पीजी डिप्लोमा इन टीवी जर्नलिज्म
पीजी डिप्लोमा इन इलेक्ट्रॉनिक जर्नलिज्म
पीजी डिप्लोमा इन प्रिंट मीडिया
पीजी डिप्लोमा इन न्यूज़ एंकरिंग
Qualification for Mass Communication and Journalism Course
डिप्लोमा इन मास कॉम्युनिकेशन 1 साल का कोर्स होता है, बैचलर डिग्री 3 बर्ष की होती है। इन दोनों कोर्स के लिए आवश्यक योग्यता किसी भी स्ट्रीम से 12वीं पास है। पीजी डिप्लोमा 1साल और मास्टर डिग्री 2 साल की होती है। इन कोर्स के लिए आवश्यक क्वालिफिकेशन किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन होना जरूरी है। 
Mass Communication कोर्स की फीस
मास कम्युनिकेशन कोर्स की फीस हर कॉलेज या यूनिवर्सिटी की अलग- अलग होती है। फिलहाल प्राइवेट कॉलेज में Mass Communication Course fees 50 हजार से 1 लाख प्रतिबर्ष होती है। कुछ यूनिवर्सिटी में मास कॉम्युनिकेशन कोर्स सेमेस्टर पद्धति से होता है। वंहा पर सेमेस्टर के हिसाब से फीस पड़ती है। 1 साल में दो सेमेस्टर होते हैं। हर सेमेस्टर 6 माह का होता है। गवर्नमेंट कॉलेज या यूनिवर्सिटी में मास कॉम्युनिकेशन कोर्स की फीस 10 हजार से 15 हजार  रुपये प्रतिबर्ष होती है। 
गवर्नमेंट कॉलेज या यूनिवर्सिटी में दाखिला एंट्रेंस एग्जाम के बाद ही मिलता है। इसके लिए हर यूनिवर्सिटी प्रतिबर्ष प्रवेश परीक्षा का आयोजन कराती हैं। कुछ गवर्नमेंट कॉलेज या यूनिवर्सिटी में 12वीं या ग्रेजुएशन में प्राप्त अंको के आधार पर एडमिशन मिल जाता है। कुछ प्राइवेट फेमस कॉलेज में एडमिशन एंट्रेंस एग्जाम के बाद ही मिलता है। फिलहाल आप मास कॉम्युनिकेशन कोर्स उसी कॉलेज से करें, जंहा पर कैंपस प्लेसमेंट सही हो। 
Career Scope in Mass Communication
वर्तमान समय मे मास कॉम्युनिकेशन कोर्स में काफी अच्छे कैरियर के ऑप्शन हैं। मास कॉम्युनिकेशन कोर्स के बाद अनेक सेक्टर में जॉब कर सकते हैं। जैसे- 
प्रिंट मीडिया- जर्नलिज्म एंड मास कॉम्युनिकेशन कोर्स के बाद आप प्रिंट मीडिया यानी कि न्यूज़ पेपर या पत्रिका में न्यूज़ रिपोर्टर, न्यूज़ राइटर, न्यूज़ एडिटर, फ़ोटो जॉर्नलिस्ट, कंटेंट राइटर आदि के तौर पर काम कर सकते हैं।
इलेक्ट्रॉनिक मीडिया- इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में टीवी और रेडियो आते है। मास कॉम्युनिकेशन कोर्स के बाद आप टीवी जॉर्नलिस्ट, कैमरामैन, वीडियो एडिटर, कंटेंट राइटर, न्यूज़ एंकर, रेडियो जॉकी आदि के तौर पर कैरियर बना सकते हैं।
डिजिटल मीडिया- इसको ऑनलाईन मीडिया, न्यू मीडिया, वेब मीडिया भी कहते हैं। इस सेक्टर में आप कंटेंट राइटर, न्यूज़ राइटर के तौर पर कैरियर बना सकते हैं। पिछले कुछ सालों से वेब मीडिया का स्कोप बहुत तेजी से बढ़ा है। अब तो वेब पोर्टल की भरमार सी हो गई है। यंहा पर आसानी से जॉब मिल जाती है। अगर आपकी राइटिंग स्किल सही है तो वेब मीडिया में काफी आकर्षक कैरियर बनाया जा सकता है। अगर आप जॉब नही करना चाहते हैं, तो आप खुद का न्यूज़ पोर्टल स्टार्ट कर सकते हैं। इसमे ज्यादा खर्च भी नही होता है। मात्र 15 से 20 हजार रुपये में आप खुद का वेब पोर्टल स्टार्ट कर सकते हैं। जिसको आप एडसेंस से कनेक्ट करके अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं। इसके लिए आपको SEO और डिजिटल मार्केटिंग से रीलेटेड के बारे में सीखना होगा।
Public Relation – मास कॉम्युनिकेशन कोर्स के बाद पब्लिक रिलेशन में भी जॉब के अवसर मिलते हैं। आजकल हर कंपनी समाज मे अपनी और अपने प्रोडक्ट की बेहतर इमेज बनान चाहती है। पब्लिक रिलेशन ऑफिसर इस काम मे माहिर होते हैं। इसके लिए गुड़ कॉम्युनिकेशन स्किल, मार्केटिंग स्किल एंड प्लानिंग की बेहतर समझ होना जरूरी है।
फिल्म इंडस्ट्री – मास कॉम्युनिकेशन कोर्स के बाद फ़िल्म इंडस्ट्री में भी कैरियर के द्वार खुल जाते हैं। यंहा पर आप फ़िल्म स्क्रिप्ट राइटर, स्क्रीन प्ले राइटर, आर्ट डायरेक्टर, वीडियो एडिटर, प्रोडक्शन मैनेजर, फिल्म डायरेक्टर, सिनेमेटोग्राफर, कास्टिंग डायरेक्टर के तौर पर काम कर सकते हैं।
इवेन्ट मैनेजमेंट- मास कॉम्युनिकेशन कोर्स के द्वारा इवेंट मैनेजमेंट में भी कैरियर बनाया जा सकता है। वर्तमान समय मे बड़े- बड़े इवेंट के आयोजन इवेंट मैनेजर ही करते हैं। जैसे सेलेब्रेटी इवेंट, बिजनेस इवेंट, फ़िल्म अवार्ड, फंक्शन, शाही शादी समारोह आदि।
सैलरी- इस सेक्टर में शुरुआती सैलेरी 15 से 17 हजार तक होती है। अनुभव होने पर सैलेरी भी बढ़ती है। 4 से 5 साल का अनुभव होने पर 40 से 45 हजार तक हो सकती है। 
Skills For Career in Mass Communication
अगर आपको जर्नलिज्म के सेक्टर में जाना है, तो आपको न्यूज़, रिपोर्टिंग, राइटिंग, एडिटिंग जैसी स्किल्स होनीं चाहिए। वंही अगर पब्लिक रिलेशन में जाना है, तो प्रेस कॉन्फ्रेंस के आयोजन, राइटिंग स्किल्स, प्रेस रिलीज राइटिंग, पब्लिसिटी एंड मार्केटिंग स्किल्स होनीं चाहिए।
अगर आप फिल्म इंडस्ट्री में जाना चाहते हैं, तो आपको स्क्रिप्टिंग, कैमरा एंड लाइटिंग, कैमरा एंगेल, कैमरा शॉट, डायरेक्शन आदि की स्किल्स होना चाहिए।
Best College for Mass Communication Course
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कॉम्युनिकेशन, दिल्ली
जामिया मिलिया इस्लामिया, दिल्ली
दिल्ली यूनिवर्सिटी
माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी, भोपालदिल्ली यूनिवर्सिटी
बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी, झांसी
भारतीय विद्या भवन, दिल्ली
चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी
इलाहाबाद यूनिवर्सिटी
गुरुनानक देव यूनिवर्सिटी, अमृतसर
महाराजा शायजीराव यूनिवर्सिटी, बड़ोदरा
मुम्बई यूनिवर्सिटी
कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी
आंध्र यूनिवर्सिटी
बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी
व्हिस्टलिंग वुड्स इंटरनेशनल, मुम्बई
एशियन एकेडमी ऑफ फ़िल्म एंड टेलीविजन, नोयडा
जागरण इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड मास कॉम्युनिकेशन, नोयडा
NRAI स्कूल ऑफ मास कॉम्युनिकेशन, दिल्ली
सिम्बोसिस इंस्टिट्यूट ऑफ कॉम्युनिकेशन, पुणे
मणिपाल यूनिवर्सिटी, मणिपाल

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *