MBA Kya hai

MBA Kya hai: एमबीए कोर्स क्या है, इसको कैसे करें, बेस्ट कॉलेज, फीस, कैरियर स्कोप, कैरियर ऑप्शन, MBA सब्जेक्ट, एडमिशन प्रोसेस आदि की डिटेल में जानकारी।

अगर आप भी MBA Course करना चाहते हैं, लेकिन आपको समझ मे नही आ रहा है कि MBA आप किस फील्ड में करें और किस कॉलेज से ये कोर्स करना चाहिए। MBA करने से क्या फायदे होते हैं? कोर्स करने के बाद जॉब कंहा और कैसे मिलेगी और किस जॉब प्रोफाइल पर मिलेगी। इन सभी के बारे में डिटेल में जानकारी। चलिये सबसे पहले जानते हैं कि एमबीए क्या है?

MBA Kya hai

एमबीए का पूरा नाम मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिट्रेशन होता है। यह एक स्पेशलाइजेशन प्रोग्राम होता है जोकि बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन और मैनेजमेंट के विभिन्न पहलुओं पर केंद्रित है। एमबीए की डिग्री आपको बिजनेस और मैनेजमेंट के क्षेत्र में करियर शुरू करने में मदद कर सकती है। चूंकि एमबीए में कई अलग-अलग बिजनेस और मैनेजमेंट स्ट्रीम में स्पेजलाइजेशन होता है। इसलिए जल्दबाजी में निर्णय लेने से पहले प्रत्येक स्पेसलाइजेशन के बारे में जानकारी लेना आवश्यक है।

MBA kaise kare

एमबीए करने के लिए उम्मीदवार को किसी भी सब्जेक्ट/ संकाय से ग्रेजुएट होना चाहिए। इसके बाद विभिन्न तरह के MBA Course में एडमिशन लिया जा सकता है।

MBA Me Admission kaise len

अगर आप इंडिया के टॉप मैनेजमेंट संस्थान जैसेकि IIM व IIT जैसे संस्थानों से MBA करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको प्रवेश परीक्षा पास करनी होगी। फिर प्रवेश परीक्षा के रैंक के आधार पर आपको एडमिशन मिलेगा।

MBA Entrance Exam

कैट
मैट
जीमैट
सीमैट
एनमैट
एक्सएट
एटीएमए
मैच सेट, आदि

Career Scope in MBA

किसी भी बिजनेस को उचाईयों तक ले जाने में एमबीए प्रोफेशनल की अहम भूमिका होती है। चूंकि हर कंपनी और बिजनेस ओनर अपने बिजनेस को ग्रो करना चाहता है, इसलिए वे लोग अपने यंहा मैनेजमेंट के एक्सपर्ट MBA डिग्री होल्डर्स को हायर करते हैं, ताकि उनका बिजनेस ग्रो करता रहे। इस वजह से इस फील्ड में कैरियर की बेहतरीन ऑपर्चुनिटी उपलब्ध हैं।

एमबीए हाई सैलरी की गारंटी देता है। इसके साथ ही किसी भी तरह के मैनेजीरियल जॉब के लिए एमबीए की डिग्री बेस्ट एलिजिबिलिटी मानी जाती है। इस तरह MBA की डिग्री के बाद टॉप मैनेजीरियल लेवल तक पहुंचने की संभावनाएं काफी बढ़ जाती हैं।

एमबीए की डिग्री कैंडिडेट को करियर ग्रोथ के ढेरों मौके देती है। आप चाहे टेक्नोलॉजी, मैनेजमेंट, फाइनेंस, मार्केटिंग या मैन्यूफैक्चरिंग जैसे किसी भी सेक्टर में काम करते हों, यह डिग्री वहां पर भी अपनी वैल्यू रखती है।

इसके साथ ही MBA कोर्स की मदद से कम्युनिकेशन और लीडरशिप स्किल भी मजबूत होती हैं। ये सब स्किल्स भी सक्सेस के लिए बहुत जरूरी है।

एमबीए कोर्स करने के बाद कई लेवल पर अवसरों की भरमार होती है। आप ह्यूमन रिसोर्स, मार्केटिंग मैनेजमेंट, स्टैटिस्टिक्स, टेक्नोलॉजी एंड इंफोर्मेशन सिस्टम, इकोनॉमिक्स, इंटरनेशनल बिजनेस और फाइनेंस में एमबीए कर सकते हैं।

ज्यादातर एमबीए की छात्रों को मैनेजमेंट पर्सनालिटी डेवलपमेंट, सॉफ्ट स्किल्स, लीडरशिप स्किल और प्रोफेशनलिज्म को डेवलप करने पर जोर देती है। जिससे आपको मैनेजमेंट के फील्ड में जॉब आसानी से हासिल हो जाती है।

MBA Ke Liye College kaise चुने

एमबीए कोर्स आप अच्छे मैनेजमेंट कॉलेज से ही करें, क्योंकि आज के समय मे MBA के कॉलेजों की भरमार है, लेकिन क्या इन कॉलेजों से एमबीए करने के बाद आपको जॉब मिलेगी, शायद बहुत ही मुश्किल। इसलिए कॉलेज का चुनाव बहुत ही सावधानी से करें। आप उसी कॉलेज से MBA करें, जंहा का प्लेसमेंट रेकॉर्ड अच्छा हो और वँहा के स्टूडेंट्स बेस्ट मैनजमेंट कंपनियों में जॉब कर रहे हों और उस कॉलेज में MBA के स्टूडेंट्स के लिए सभी आवश्यक संसाधन उपलब्ध हों।

अगर आपको मैनेजमेंट के फील्ड में सक्सेजफुल कैरियर बनाना है तो आपको MBA आईआईएम कॉलेजों से करना चाहिए। क्योंकि इनका प्लेसमेंट बहुत ही अच्छा होता है और यंहा के स्टूडेंट्स बड़ी- बड़ी कंपनियों में बहुत ही आकर्षक सैलरी पैकेज पर हायर किये जाते हैं।

किसी कारणवश आपका IIM कॉलेजों में एडमिशन नही हो पा रहा है तो आपको इंडिया के बेस्ट यूनिवर्सिटीज में एडमिशन लेना चाहिए, लेकिन प्राइवेट यूनिवर्सिटीज के बजाय गवर्नमेंट यूनिवर्सिटीज से MBA करें। ज्यदातर प्राइवेट कॉलेज और यूनिवर्सिटीज एडमिशन के समय 100% प्लेसमेंट का वादा करते हैं और अंत मे आपको वँहा पर जॉब नही मिलती है। सिर्फ आपके हांथ डिग्री लगत्ती है। ऐसी डिग्री की क्या जरूरत जो आपको जॉब न दिला सके।

Salary after MBA

एमबीए कोर्स करने के बाद कैंडिडेट को स्टार्टिंग में 4 से 7 लाख प्रतिबर्ष का पैकेज मिल जाता है। वंही अगर अपने प्रतिष्टित जैसेकि IIM कॉलेज से MBA किया है तो आप 15 से 20 लाख प्रतिबर्ष का सैलरी पैकेज हासिल कर सकते हैं। कुछ बर्षों का अनुभव होने के बाद 25 से 30 लाख का सैलरी पैकेज अर्जित कर सकते हैं। फिलहाल इस फील्ड में सैलरी काफी अच्छी होती है।

Skills for MBA

अगर आप मैनेजमेंट के फील्ड में कैरियर बनाना चाहते हैं तो आपके अंदर कुछ स्किल्स का होना बहुत जरूरी है।

कम्युनिकेशन स्किल
लीडरशिप स्किल
मैनेजमेंट स्किल
इंग्लिश स्पीकिंग एंड राइटिंग
क्रिटिकल थिंकिंग
प्रॉब्लम सॉल्विंग

MBA Course List

MBA in Finance

फाइनांस में एमबीए करना आपके कैरियर के लिए एक बेहतरीन निर्णय हो सकता है, क्योंकि बैंकिंग और फाइनेंस के सेक्टर में कैरियर की संभावनाओं की कमी नही है। फाइनांस मैनेजमेंट कोर्स किसी भी इंडस्ट्रीज के फाइनांशियल रिसोर्सेज/एसेट्स की प्लानिंग, मैनेजमेंट और विनियमन पर फोकस करता है।
फाइनांस में एमबीए करने के बाद, कॉरपोरेट फाइनांस, क्रेडिट रिस्क मैनेजमेंट, कॉरपोरेट बैंकिंग, एसेट मैनेजमेंट, प्राइवेट इक्विटी, हेज फंड मैनेजमेंट, ट्रेजरी, सेल्स एंड ट्रेडिंग में करियर बनाने के विकल्प होते हैं।

MBA in Finance के बाद इन पदों पर मिलेगी जॉब

इन्वेस्टमेंट बैंकर
पोर्टफोलियो मैनेजर
फाइनेंशियल एनालिस्ट
स्टॉक ब्रोकिंग

MBA in Operations Management

ऑपरेशंस मैनेजमेंट प्रोफेशनल का काम उत्पाद की गुणवत्ता और लागत, निर्माण समय, उत्पादकता बढ़ाने और ग्राहकों की संतुष्टि को बढ़ाने के साथ ही व्यवसाय संचालन से संबंधित हर चीज को मैनेज करना होता है।

ऑपरेशन मैनेजमेंट में विशेषज्ञता हासिल करने के बाद ग्रेजुएट आमतौर पर उत्पाद / सेवा आधारित यूनिटों में नौकरी प्राप्त करते हैं।

जिसमें रिटेल, हॉस्पिटैलिटी, लॉजिस्टिक्स, ट्रांसपोर्टेशन, मैन्यूफैक्चरिंग, फाइनांस इंस्टीट्यूशन, कंस्ट्रक्शन, मैनेजमेंट कंल्टेंसी, इंफॉरमेंशन टैक्नोलॉजी आदि में नौकरी प्राप्त करते हैं।

ये भी पढ़ें: BBA kya hai

MBA in Operations Management के बाद जॉब

सप्लाई चेन मैनेजर
लॉजिस्टिक मैनेजर
कंसल्टेंट
इन्वेंट्री कंट्रोल मैनेजर
ऑपरेशन मैनेजर
ऑपरेशन एग्जीक्यूटिव

MBA in Business Analytics

बिजनेस एनालिटिक्स में एमबीए छात्रों को विभिन्न एनालिटिकल टूल्स (सांख्यिकीय और मात्रात्मक विश्लेषण, व्याख्यात्मक, डेटा विजुअलाइजेशन और प्रीडिक्टिव मॉडलिंग आदि) का उपयोग करने के तरीके सीखाता है। जिससे विभिन्न स्रोतों से डेटा को एकत्र किया जा सके। ताकि कस्टमर बिहेवियर, बिजनेस इंटेलिजेंस, मार्केट ट्रेंड और बिजनेस इंटेलिजेंस से संबंधित अन्य मामले में इसका उपयोग करके विश्लेषण किया जा सके।

बिजनेस एनालिटिक्स में एमबीए करने के बाद ग्रेजुएट आईटी, हेल्थकेयर, वित्तीय संस्थानों, ई-कॉमर्स आदि विभिन्न क्षेत्रों में नौकरी पा सकते हैं।

MBA in Business Analytics में जॉब किन पदों पर मिलेगी।

फाइनेंशियल एनालिस्ट
फाइनेंशियल एडवाइजर
ऑपरेशन्स एनालिस्ट
सप्लाई चेन एनालिस्ट
बिजनेस एनालिस्ट आदि

MBA in Human Resource Management

किसी भी संगठन को सुचारु रूप से कामकाज करने के लिए एचआर डिपार्टमेंट बहुत बड़ी भूमिका होती है। एचआर डिपार्टमेंट के तहत कर्मचारियों की हायरिंग, उनकी सैलरी, एम्पलॉयी रूल्स एंड रेगुलेशन्स, कंपनसेशन और लीव पॉलिसी जैसे विभिन्न कार्य होते हैं जोकि किसी भी संगठन में व्यवस्था और डिसिप्लिन को कायम रखने के लिए अत्यंत जरुरी हैं।

एक ह्यूमन रिसोर्स कर्मचारी होने के कारण आपकी काफी जिम्मेदारी और जवाबदेही भी बनती है । जिस दिन से किसी एम्पलॉयी को कंपनी में रिक्रूट किया जाता है और जब तक वह एम्पलॉयी संगठन में कार्य करता है, तो इस दौरान एम्पलॉयी की सभी जरूरतें जैसेकि, सैलरी, ट्रेनिंग, वेलफेयर प्रोग्राम्स, अप्रेजल, प्रमोशन, ग्रीवयेंसिज आदि की जिम्मेदारी एचआर डिपार्टमेंट की होती है।

एचआर मैनेजर अपने संगठन के रोजमर्रा के कामकाज की देखरेख करते हैं और हायर किये गए एम्पलॉयीज को लंबे समय तक अपने संगठन में कार्यरत रखने के लिए एचआर मैनेजर्स इस सम्बंध में पालिसी व प्लान बनाते हैं।

ह्यूमन रिसोर्स (HR) के कार्य

रिक्रूटिंग और स्टाफिंग
कंपनसेशन और रिवॉर्ड मैनेजमेंट
ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट
लेबर एंड एम्प्लोयी रिलेशन्स आदि

आजकल जितने भी बड़े- बड़े बिजनेस संगठन और कंपनीज, कॉलेज, यूनिवर्सिटी, हॉस्पिटल हर जगह पर HR डिग्री धारक की नियुक्ति की जाती है। जिससे कि उस संस्थान के लिए HR मैनेजर अच्छे कर्मचारियों की नियुक्ति कर सके। इस तरह हर फील्ड में HR से MBA करने वाले कैंडिडेट की मांग रहती है। आप इस फील्ड में निम्न पदों पर कार्य कर सकते हैं।

Job Profile in Human Resource (HR) Management

एचआर रिक्रूटर
कंपनसेशन मैनेजर
एचआर जर्नलिस्ट
एचआर स्पेशलिस्ट
ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट मैनेजर
टेक्निकल रिक्रूटर
एम्पलॉयी रिलेशन्स मैनेजर
कंपनसेशन मैनेजर

MBA in Marketing

मार्केटिंग मैनेजमेंट में एमबीए बिजनेस के मार्केटिंग पहलू पर फोकस करता है। जिसमें कि छात्रों को ब्रांड मार्केटिंग, बिक्री, विभिन्न मार्केटिंग चैनलों, तकनीकों, एक्जीक्यूटिव और लीडरशिप मैनेजमेंट स्किल, कस्टमर विहेवियर, प्रोडक्ट मैनेजमेंट व मार्केट रिसर्च के बारे में पढ़ाया जाता है।

मार्केटिंग के फील्ड में MBA करने के बाद कैंडिडेट अनेकों फील्ड में जॉब कर सकते हैं। जैसेकि-

कॉम्पेटिटिव मार्केटिंग
बिजनेस मार्केटिंग
ऑनलाइन मार्केटिंग
एनालिटिकल मार्केटिंग
कस्टमर रिलेशनशिप मार्केटिंग
एडवर्टाइजिंग मैनेजमेंट
प्रोडक्ट एंड ब्रांड मैनेजमेंट
रीटेलिंग मैनेजमेंट
एडवरटाइजिंग
मार्केटिंग कंपनी
एफएमसीजी सेक्टर
आईटी
फाइनांशियल सर्विस
हेल्थकेयर
एजुकेशन आदि

MBA Marketing के बाद जॉब प्रोफाइल

बिजनेस डिवेलपमेंट एग्जेक्युटिव
मार्केटिंग मैनेजर
मार्केटिंग एग्जेक्युटिव
सेल्स मैनेजर
प्रोडक्ट मैनेजर
मीडिया प्लानर
ऐसेट मैनेजर

MBA in Healthcare

अगर आप हेल्थकेयर में एमबीए करते हैं तो आपके पास जॉब के अवसरों की कमी नही होगी, क्योंकि हेल्थकेयर इंडस्ट्री एक ऐसी इंडस्ट्री है, जोकीं तेजी से विकास कर रही है।

आज के समय मे ऐसा कोई भी व्यक्ति नही होगा, जिसने चिकित्सा सेवा न ली ही। हर किसी को चिकित्सा सेवा की आवश्यकता होती ही है। इस वजह से ये रोजगार की दृष्टि से बहुत ही लोकप्रिय क्षेत्र हैं।

इन क्षेत्रों में मिलेगी जॉब

हॉस्पिटल
नर्सिंग हॉग
ट्रामा सेंटर
मेडिकल इक्विपमेंट कंपनीज
मेडिकल डिवाइस
मेडिसिन इंडस्ट्री
डायग्नोस्टिक लेबोरेटरी
ई- हेल्थ वेंचर्स
एनजीओ
हेल्थ इंसोरेंस

MBA Healthcare के बाद इन पदों पर मिलेगी, जॉब

हॉस्पिटल सीईओ
हॉस्पिटल सीएफओ
हेल्थकेयर इन्फॉर्मेशन मैनेजर
ओनोकोलॉजी कॉर्डिनेटर
क्लेम्स मैनेजर
हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर
मेडिकल प्रैक्टिस मैनेजर

MBA in International Business

इंटरनेशनल बिजनेस मैनेजर का काम काफी विविधतापूर्ण और चुनौतीपूर्ण होता है। वह अपनी बिजनेस यूनिट की ग्रोथ के लिए इंटरनेशनल विस्तार सुनिश्चित करने के लिए स्ट्रेटेजिक प्लान्स बनाने जैसे अन्य कई फंक्शन्स को मैनेज करता। इंटरनेशनल ट्रेड से संबंधित इश्यूज की पहचान करके उनके संभावित समाधान निकालने का काम भी इनके ही जिम्मे है। इसके अलावा, मेजवान देश के बिजनेस प्लान एंड टर्म्स को समझने में अपने क्लाइंट्स की सहायता करना व बिजनेस के कामकाज को सरल बनाना होता है, ताकि हमारे देश में इन्वेस्ट करने में विदेश के बिजनेस क्लाइंट्स इच्छुक हों। इन सभी कार्य के लिए बिजनेस मैनेजर ही जिम्मेदार होते हैं।

MBA in inernational business कोर्स के बाद इन पदों पर मिलेगी जॉब

एक्सपोर्ट मैनेजर एंड एक्जीक्यूटिव
इंटरनेशनल बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर
ग्लोबल बिजनेस मैनेजर
इंटरनेशनल फाइनांस मैनेजर
इंटरनेशनल बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर
इंटरनेशनल लॉजिस्टिक मैनेजर
इंटरनेशनल फाइनांस मैनेजर
इंटरनेशनल ब्रांड मैनेजर
इंटरनेशनल बिजनेस कंसल्टेंट

MBA Course Fees

एमबीए कोर्स की फीस अलग- अलग संस्थानो में अलग- अलग होती है। ये डिपेंड करता है कि आप किस तरह के कॉलेज से MBA कर रहे हैं। फिलहाल इसकी फीस 15 लाख से 28 लाख के बीच होती है।

Best College For MBA

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, अहमदाबाद
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, बैंगलोर
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, कलकत्ता
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, लखनऊ
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, बॉम्बे
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, कोज़ीकोड
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट इंदौर

उम्मीद है MBA Kya hai ये लेख आपको पसंद आया होगा, क्योंकि इसमें मैंने MBA कोर्स से संबंधित सारी जानकारी दी है। careerkaisebane.in पर विजिट करने के लिए धन्यवाद।

Leave a Comment