Paramedical Courses me Career kaise banaye in hindi

Career in Paramedical- आज की इस पोस्ट में हम आपको पैरामेडिकल कोर्स की जानकारी देंगे कि Paramedical Courses Me Career kaise banaye और इसमें कैरियर स्कोप क्या है। इस फील्ड में जॉब की क्या संभावनाएं हैं। Paramedical Course की फीस क्या होती है और कँहा से ये कोर्स करें इन सभी के बारे में हम आपको इस आर्टिकल में डिटेल में बताएंगे। अगर आपको भी इस फील्ड में इंट्रेस्ट हैं तो इस पोस्ट की मदद से आप हेल्थकेयर सेक्टर में आसानी से कैरियर बना सकेंगे। All about Paramedical Courses me Career kaise banaye in hindi.

Paramedical Courses Me Career kaise banaye

अगर आप मेडिकल क्षेत्र के MBBS और BDS जैसे कोर्स किसी भी कारणवश नही कर पाते हैं तो आपको निराश होने की जरूरत नही है। Medical फील्ड में और भी अन्य काफी अच्छे कोर्स है जिनमे आप शानदार कैरियर बना सकते हैं। जिनका कैरियर स्कोप भी काफी ज्यादा है और आप आसानी से इनमे जॉब पा सकते हैं।

Paramedical Courses करने के लिए कैंडिडेट को 12वीं फिजिक्स, केमेस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट से पास होना चाहिए। पैरामेडिकल कोर्स मुख्यतः तीन तरह के होते हैं जोकि निम्न हैं।
Degree Courses (3- 4 Years)
Diploma Courses (2- 3 Years)
Certificate Courses (1/2- 1 Year)

Career Scope of Paramedical Courses

आज के समय मे पैरामेडिकल कोर्सेज की काफी डिमांड है इसलिए इसमें कैरियर को लेकर कोई संदेह नही है। आपने खुद ही नोटिस किया होगा कि पहले कभी आपके शहर या कस्बे में बहुत ही कम Hospitals या क्लिनिक थे लेकिन आज हॉस्पिटल और क्लिनिक, नर्सिंग होम, पैथोलॉजी लैब्स की बाढ़ सी आ गई है। जंहा पर Paramedical Staff की भारी मांग रहती है। इसलिए इन कोर्सेज को जो भी कैंडिडेट करते हैं उनको jobs के लिए ज्यादा भटकना नही पड़ता है। इसी वजह से पिछले कुछ सालों से स्टूडेंट्स का Paramedical Courses के प्रति रुझान भी बढ़ा है। 

Popular Course in paramedical sector

Physiotherapy Course

फिजियोथेरेपी को फिजिक्स ट्रीटमेंट के रूप में भी जाना जाता है। यह चिकित्सा पद्धति की काफी उपयोगी शाखा है जिसमे एक्सरसाइज, कसरत, पेन रिलीफ मूवमेंट के माध्यम से दर्द को ठीक किया जाता है। यह थेरेपी हेल्थ समस्याओं के लिए काफी कारगर है।

इसके लिए  फिजियोथेरेपिस्ट तरह-तरह की मसाज, एक्सरसाइज और कुछ उपकरणों की मदद से ऊष्मा, रेडिएशन, पानी, इलेक्ट्रिकल एजेंट्स आदि के जरिए  क्षतिग्रस्त मांसपेशियों, जोड़ों और हड्डियों को ठीक करने का काम करता 

Also Read- Physiotherapy Course as Career- All Details

12वीं के बाद बने ब्लड बैंक टेकनीशियन, सस्ते कोर्स में हाई डिमांडिंग करियर

फिजियोथेरेपी में कैरियर बनाने के लिये स्टूडेंट्स 12वीं के बाद 4 बर्षीय BPT कोर्स या DPT जोकि 2 बर्षीय डिप्लोमा कोर्स को कर सकते हैं।

Occupational Therapy

ऑक्यूपेशनल थेरेपी मानसिक और शारीरिक रुप से अक्षम लोगों की जिंदगी में जान डाल देती है। इसकी जरूरत तब होती है जब किसी बच्चे को इमोशनल या ऑटिज्म डिसऑर्डर हो जाता है  इसके अलावा इस थेरेपी की मदद से साइकेट्रिक या न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर से ग्रसित युवाओं का भी इलाज किया जाता है।

इस फील्ड में कैरियर बनाने के लिए आप 10+2 के बाद 4 बर्षीय डिग्री कोर्स कर सकते हैं। ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट को सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों, एडल्ट डे केयर, रिहेबिलेशन सेंटर, मेन्टल हॉस्पिटल आदि में जॉब पा सकते हैं। अगर आप जॉब नही करना चाहते हैं तो खुद का क्लिनिक भी खोल सकते हैं।

Prosthetic & Orthotic Engineering

इस फील्ड में शरीर के जो अंग बेकार हो चुके होते हैं तो उन अंगों का कृत्रिम उत्पादन किया जाता है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद आसानी से आप हॉस्पिटल और क्रत्रिम अंग बनाने वाली कंपनियों में जॉब कर सकते हैं।

इसमे कैरियर बनाने के लिए 12वीं के बाद आप Bachelor in Prosthetic and Orthotics कोर्स में दाखिला ले सकते हैं। इसकी अवधि 4 साल होती है। इसके बाद 6 माह की इंटर्नशिप भी करनी होती है।

Nursing Course

नर्सिंग काफी प्रचलित कोर्स है। नर्से का मुख्य काम रोगियों के इलाज में डॉक्टरों की मदद करना होता है। ये लोग मरीज को टाइम से दवाएं देते हैं और उनको इंजेक्शन लगाते हैं। इसके अलाव मरीजों की ड्रेसिंग का कार्य भी इनकी जिम्मेदारी होती है। 

इसमे भी कैरियर की काफी अच्छी संभावनाएं हैं। इसमें आप गवर्नमेंट और प्राइवेट हॉस्पिटल, नर्सिंग होम, क्लिनिक, डिफेंस सेक्टर आदि में रोजगार की अच्छी संभावनाएं हैं। इस फील्ड में कैरियर बनाने के लिए ANM, GNM, Bsc Nursing जैसे कोर्स किये जा सकते हैं। ANM कोर्स दो साल का होता है इसको सिर्फ लड़कियां ही कर सकती हैं। GNM और बीएससी नर्सिंग को लड़के और लड़कियां दोनो कर सकते हैं। 

A;lso Read- ANM Me Career Kaise Banaye। ANM Course Details in Hindi

Bsc Nursing me career kaise banaye – Full Guide

Pharmacy Course

फार्मेसी से सम्बंधित कोर्स के लिए उम्मीदवार की आवश्यक योग्यता PCM या पीसीबी सब्जेक्ट से 12वीं पास है। 12वीं के बाद इस फील्ड में Diploma in Pharmacy या B Pharma जैसे कोर्स किये जा सकते हैं। बी फार्मा 4 बर्षीय और DPharma 2 बर्षीय कोर्स है।

Pharmacy कोर्स करने के बाद आप फार्मासिस्ट के तौर पर डिस्पेंसरियों और मेडिकल स्टोर्स में जॉब की तलाश कर सकते हैं। इसके अलावा ये लोग मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव के तौर पर भी काम कर सकते हैं। फार्मासिस्ट रिसर्च से जुड़े प्रोजेक्ट, ड्रग मैन्युफेक्र्चंरग कंपनियों में भी आसानी से जॉब पा सकते हैं।

Also Read- D Pharma Course details in hindi

B Pharma me career kaise banaye – Tips

Medical Radition Technology/ Radiology/Radiography

पैरामेडिकल के क्षेत्र में बीएससी MRIT कोर्स काफी प्रचलित है। इस कोर्स को कंप्लीट करने के बाद आप रेडियो टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में आसानी से कैरियर बना सकते हैं। आप एक्सरे टेक्नीशियन, MRI टेक्नीशियन, सीटी स्कैन टेक्नीशियन के तौर पर लैब्स और हॉस्पिटल में आसानी से जॉब पा सकते है। यह कोर्स 4 बर्ष का होता है। 

इससे जुड़े अन्य कोर्स भी आप इस फील्ड में कैरियर बनाने के लिए कर जॉइन कर सकते हैं जैसे कि बीएससी मेडिकल रेडिशन टेक्नोलॉजी, बीएससी रेडियोग्राफी टेक्नोलॉजी, बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी, डिप्लोमा एंड सर्टिफिकेट इन रेडियोग्राफी जैसे कोर्स कर आप रेडियोग्राफी या रेडियोलोजी के क्षेत्र में कैरियर बना सकते हैं। इसके अलावा आप डिप्लोमा इन CT Scan, डिप्लोमा इन X रे टेक्नीशियन कोर्स भी पसन्द किये जा रहे हैं।

Radiology Me Career kaise banaye

X Ray Technician Course details in hindi

Medical Laboratory Technology

बीएससी मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी या बैचलर इन मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी कोर्स भी 12वीं पीसीबी के बाद किया जा सकता है। यह कोर्स 4 बर्ष की अवधि का है। अगर आप इस फील्ड में डिप्लोमा कोर्स में दाखिला लेना चाहते हैं तो DMLT कोर्स आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है। यह 2 बर्षीय डिप्लोमा होता है। 

लेब्रोटरी टेक्नोलॉजी कोर्स के बाद आप पैथोलॉजी लैब्स या हॉस्पिटल्स में Lab टेक्नीशियन के तौर पर कार्य कर सकते हैं।

Medical Lab Technician kaise bane

DMLT Course Me Career Kaise banaye

Optometry Course

ऑप्टोमेट्रिस्ट बनने के लिए या ऑप्टोमेट्री में कैरियर बनाने के लिये 4 बर्षीय बीएससी ऑप्टोमेट्री या बैचलर ऑफ ऑप्टोमेट्री जैसे कोर्स किये जा सकते हैं। वंही इस फील्ड में आप डिप्लोमा इन ऑप्टोमेट्री 2 बर्षीय कर सकते हैं।

ऑप्टोमेट्रिस्ट का काम आंखों की देखभाल करना होता है। ये आंखों की जांचे करते हैं। चश्मे बनाने काम भी इनके द्वारा किया जाता है। विभिन्न आई हॉस्पिटल, चश्मे के शोरूम, Eye केअर प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनीज आदि में इनके लिए बेहतरीन कैरियर के ऑप्शन हैं। ये लोग खुद का EYE क्लिनिक भी स्टार्ट कर सकते हैं।

Bsc Optometry me Career kaise banaye

Operation Theatre Technology

इस क्षेत्र में कैरियर बनाने के लिए आप डिप्लोमा इन ऑपरेशन थिएटर टेक्नीशियन, बीएससी  ऑपरेशन थिएटर टेक्नोलॉजी जैसे कोर्स कर सकते हैं। जिनका मुख्य कार्य सर्जरी या आपरेशन के लिए तैयारियां पूरी करना होता है। सर्जरी में प्रयोग होने वाले सभी उपकरण की उपलब्धता और साफ सफाई इनकी ही जिमेदारी होती है। सर्जरी के दौरान डॉक्टर के सात ये अपनी सेवाएं देते हैं।

OT Technician kaise bane – Full Guide

Dental Hygiene

डेंटल केअर के फील्ड में डेंटल हैजेनिस्ट का भी अहम रोल होता है। ये दांतों की साफ- सफाई करते हैं। दांतों की जांच कर बीमारियों का पता लगाते हैं। जिनको मुख्यतः डेंटल डॉक्टर के अधीन काम करना होता है। इस क्षेत्र में जाने के लिए 12वीं के बाद Dental हाइजीन कोर्स किया जा सकता है। वंही डेंटल केअर के क्षेत्र में आप डेंटल मैकेनिक, डेंटल टेक्नीशियन कोर्स का भी अच्छा स्कोप है।

Dialysis Technology

डायलिसिस के क्षेत्र में कैरियर की काफी ज्यादा संभावनाएं हैं। इसमे कैरियर बनाने के लिए आप Bsc in Dialysis या  डिप्लोमा इन डायलिसिस टेक्नोलॉजी कोर्स कर सकते हैं। मशीनों की सहायता से क्रत्रिम रूप से रक्त शोधन की क्रिया को डायलिसिस कहते हैं। यह प्रक्रिया तब अपनाई जाती है जब मनुष्य के गुर्दे किसी कारणवश सही तरह से काम नही करते हैं।

Bsc Home Science me Career Kaise banaye


उम्मीद है कि आपको हमारी ये पोस्ट Paramedical Me Career kaise banaye पसन्द आयी होगी। अगर आपके कोई सवाल या सुझाव हैं तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं। Thanks for Reading Paramedical Courses me Career kaise banaye in hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *