Teaching Me Career Kaise Banaye

Teaching Me Career Kaise Banaye in hindi- क्या आप टीचिंग के फील्ड में कैरियर बनाना चाहते हैं? क्या आप Teacher Kaise bane इसके बारे में जानकारी चाहते हैं तो इस पोस्ट में आपको इसके बारे में कंप्लीट इन्फॉर्मेशन मिलेगी। यंहा पर हम आपको Teaching Career से जुड़ी हर जानकारी देंगे। जिससे कि आपको इस फील्ड की सही नॉलेज हो जाएगी और आप अपने कैरियर के सही डिसीजन ले सकेंगे।चलिये Teaching Me Career Kaise Banaye इसके बारे में जान लेते हैं।

Teaching Me Career Kaise Banaye in hindi

टीचिंग को काफी रेस्पेक्टफुल प्रोफेशन माना जाता है। यह एक ऐसा प्रोफेशन है जिसमे आपको सम्मान तो मिलता ही है, साथ ही इसमे आकर्षक सैलरी भी मिलती है। इसलिए इस फील्ड में तमाम युवा कैरियर बनाने का सपना देखते हैं।

टीचिंग के फील्ड में कैरियर बनाने के लिए कैंडिडेट को 12वीं या ग्रेजुएशन पास होना चाहिए। इसके बाद में आपको Teaching से जुड़े कोर्स करना होता है। कुछ टीचिंग से रीलेटेड कोर्स 12वीं के बाद और कुछ कोर्स ग्रेजुएशन के बाद किये जा सकते हैं। इसलिए सबसे पहले तो आप ये डिसाइड करें कि आपको टीचर किस लेवल के स्कूल और कॉलेज में बनना है। इसके बाद टीचिंग से जुड़े कोर्स करके इस फील्ड में एंट्री कर सकते हैं। चलिये अब जान लेते हैं कि टीचिंग में Career बनाने के लिए आप कौन सा कोर्स कर सकते हैं।

Teaching Career Course

जेबीटी (जूनियर टीचर ट्रेनिंग)

एनटीटी (नर्सरी टीचर ट्रेनिंग)

बीटीसी (बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट)

यूपी डीएलएड (बीटीसी)

डीएड (डिप्लोमा इन एजुकेशन)

बीपीएड (बैचलर इन फिजिकल एजुकेशन)

बीएड (बैचलर ऑफ एजुकेशन)

पीएचडी

JBT (Junior Teacher Training Course)

इस कोर्स को करने के लिए उम्मीदवार को 12वीं पास होना चाहिए। इसमे एडमिशन के प्रोसेस की बात करें तो कुछ कॉलेजों में एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर एडमिशन मिलता है और कुछ में डायरेक्ट ही एडमिशन मिल जाता है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद कैंडिडेट प्राइमरी टीचर बन सकते हैं।

बीबीए एलएलबी में करियर कैसे बनायें

NTT (Nursary Teacher Training Course)

इस कोर्स के बाद भी आप प्राइमरी लेवल के टीचर बन जाते हैं। इस कोर्स के लिए भी जरूरी हैं कि कैंडिडेट को 12वीं पास होना चाहिए। NTT कोर्स में भी डायरेक्ट और मेरिट दोनो के आधार पर एडमिशन मिलता है।

UP D.EL.ED Course

इस कोर्स की फुल फॉर्म डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन है। जिसको बीटीसी के नाम से भी जाना जाता है। इस कोर्स के लिए कैंडिडेट को ग्रेजुएशन होना चाहिए। इसमे मेरिट के आधार पर एडमिशन मिलता है।

DED (Diploma In Education)

इस कोर्स के लिए उम्मीदवार को 12वीं पास होना चाहिए। इसमे एडमिशन के प्रोसेस की बात करें तो इसमे Entrance Exam के आधार पर एडमिशन मिलता है।

BED (Bachelor of Education)

इस कोर्स के लिए कैंडिडेट को ग्रेजुएशन पास होना चाहिए। अगर आप साइंस स्ट्रीम के टीचर बनना चाहते हैं तो आपने ग्रेजुएशन भी साइंस सब्जेक्ट से किया हो। अगर आपने ग्रेजुएशन आर्ट स्ट्रीम से की है तो आपको आर्ट स्ट्रीम से ही बीएड करना होगा। जिसके बाद आप आर्ट सब्जेक्ट के टीचर बनेंगे। इस कोर्स में एडमिशन एंट्रेंस एग्जाम के बाद ही मिलता है। इस कोर्स को आप प्राइवेट और गवर्नमेंट दोनो तरह के कॉलेज से कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें- बीएड कोर्स के बारे में जाने डिटेल मे

B.P.ED (Bachelor of Physical Education)

आज के समय मे गवर्नमेंट और प्राइवेट दोनो तरह के कॉलेजों में फिजिकल एजुकेशन के टीचर की जरूरत होती है। ऐसे में अगर आप फिजिकल एजुकेशन के टीचर बनना चाहते हैं तो आप बीपीएड कोर्स कर सकते हैं। इस कोर्स के लिए कैंडिडेट को ग्रेजुएशन पास होना चाहिए और ग्रेजुएशन में फिजिकल एजुकेशन एक सब्जेक्ट के रूप में पढ़ा हो। अगर आपने 12वीं में फिजिकल एजुकेशन पढ़ा है तो आप 3 बर्षीय फिजिकल एजुकेशन का कोर्स कर सकते हैं। इसमे एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम और फिटनेस टेस्ट की प्रक्रिया से गुजरना होता है।

PHD

अगर आप डिग्री कॉलेज और यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर के तौर पर कैरियर बनाना चाहते हैं तो आप मास्टर डिग्री करने के बाद पीएचडी कोर्स कर सकते हैं। इसकी अवधि 2 से 3 साल होती है। इसमे एंट्रेंस एग्जाम और इंटरवू पास करने पर ही एडमिशन मिलता है।

अगर आप पीएचडी नही करना चाहते हैं तो आप मास्टर डिग्री करने के बाद या मास्टर डिग्री के दौरान ही यूजीसी नेट की परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं। इस परीक्षा में आप जूनियर रिसर्च फेलोशिप और लेक्चरर दोनो के लिए या एक के लिए अप्लाई कर सकते हैं। अगर आप यूजीसी नेट एग्जाम पास कर लेते हैं तो जरूरी नही है कि आप पीएचडी करें। इस एग्जाम को पास करने के बाद आप प्राइवेट और गवर्नमेंट दोनो तरह के डिग्री कॉलेज और यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर बन सकते हैं।

टीचिंग लाइन से जुड़े कुछ जरूरी परीक्षा

टीईटी (टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट)

इस परीक्षा में बीएड और डीएड कोर्स करने वाले उम्मीदवार बैठ सकते हैं। बीएड और डीएड कोर्स करने के बाद अगर आप शिक्षक बनना चाहते हैं तो इस परीक्षा को पास करना जरूरी है। बीएड कोर्स कर रहे स्टूडेंट्स भी इस परीक्षा के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

सीटीईटी (सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट)

अगर आप केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालयों, तिब्बती स्कूल और दिल्ली के अधीन स्कूलों में टीचर बनना चाहते हैं तो आपको सीटीईटी एग्जाम पास करना होगा। इस एग्जाम में सिर्फ बीएड डिग्री धारक ही बैठ सकते हैं। इस एग्जाम में 60% मार्क्स लाना जरूरी होता है। इस एग्जाम को सिर्फ बीएड डिग्री धारक ही दे सकते हैं और स्टेट लेवल की परीक्षा में इस सर्टिफिकेट की कोई उपयोग नही है।

टीजीटी एग्जाम

टीजीटी एग्जाम को में बैठने के लिए कैंडिडेट का ग्रेजुएशन के साथ बीएड होना जरूरी होता है। इस एग्जाम को पास करने के बाद 6 से 8वीं क्लास तक के स्टूडेंट्स को पढ़ाते हैं।

पीजीटी एग्जाम

इस एग्जाम में अप्लाई करने के लिए उम्मीदवार को पोस्टग्रेजुएट होने के साथ ही बीएड होना चाहिए। ये शिक्षक सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी क्लास के स्टूडेंट्स को पढ़ाते हैं।

Career Scope in Teaching

यह एक सदाबहार फील्ड है। शिक्षक की समाज मे हमेशा ही जरूरत रही है और आने वाले समय मे भी रहेगी। इसलिए अगर आप टीचिंग के फील्ड में Career बनना चाहते हैं तो इसमे कैरियर को लेकर कोई भी संदेह नही होना चाहिए। गवर्नमेंट स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटीज में तो टीचर की डिमांड रहती ही है। इसके अलावा अनेक प्राइवेट कॉलेज, स्कूल और यूनिवर्सिटीज में टीचर्स की मांग रहती है।

आज के समय मे हर कोई शिक्षा को लेकर जागरूक है। ऐसे में सभी यही चाहते हैं कि वे अपने बच्चे को अच्छी शिक्षा दे सके। गवर्नमेंट कॉलेज से ज्यादा तो प्राइवेट, स्कूल और कॉलेज खुल रहे हैं। ऐसे में यंहा पर आपके लिए अच्छे चांस हो सकते हैं।

कुछ लोगों के दिमाग मे यह भ्रम रहता है कि प्राइवेट स्कूल और कॉलेज में सैलरी कम मिलती है। ऐसा बिल्कुल नही है। अगर आपके अंदर अच्छा नॉलेज है तो आप गवर्नमेंट सेक्टर की तरह ही प्राइवेट स्कूल और कॉलेज में सैलरी पॉ सकते हैं। हां ये तो है कि प्राइवेट सेक्टर में शुरुआती समय मे आपको 10 से 15 हजार रुपये ही मिलते हैं। फिर जैसे जैसे आपका अनुभव बढ़ता जाता है, आपकी सैलरी भी बढ़ती जाती है। इस फील्ड में एक फायदा और भी है कि आप अपना खुद का भी स्कूल या कॉलेज खोल सकते हैं। आप कोचिंग क्लासेज भी चला सकते हैं।

फ्रेंड्स उम्मीद है कि Teaching Me Career Kaise Banaye in hindi ये पोस्ट आपको पसन्द आयी होगी। क्योंकि इस पोस्ट में मैंने Teaching Course एंड Teaching Career से जुड़ी हर जानकारी दी है, जोकि आपके लिए बहुत ही यूजफुल साबित होगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *