BPT Course Details in Hindi

BPT Course Details in Hindi- आज की इस पोस्ट में हम बीपीटी कोर्स की डिटेल में जानकारी देंगे। अगर आप बीपीटी कोर्स करना चाहते हैं और मेडीकल के इस फील्ड में कैरियर बनाना चाहते हैं तो हमारा ये आर्टिक्ल आपके लिए बहुत ही यूजफुल साबित होगा, क्योंकि इसमे मैंने BPT Course से जुड़ी हर जानकारी स्टेप बाई स्टेप दी है। जिससे कि आप सही से इस कोर्स के बारे में समझ पाएंगे और साथ ही ये डिसाइड कर पाएंगे कि आपको ये कोर्स करना चाहिए या नही।

BPT Course Details in Hindi

बीपीटी की फुल फॉर्म बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी होती है, जोकीं 4 साल का डिग्री कोर्स होता है। इसमे 8 सेमेस्टर होते हैं। ये कोर्स उन कैंडिडेट्स के लिए अच्छा कैरियर विकल्प साबित हो सकता है, जो लोग चिकित्सा के फील्ड में कैरियर बनाना चाहते हैं।

वर्तमान समय मे फिजियोथेरेपी के स्टूडेंट्स के लिए जॉब के काफी अवसर होते हैं। किसी भी हॉस्पिटल, क्लीनिक, नृसिंग होम, ट्रामा सेंटर्स और फिटनेस सेंटर्स में फिजियोथेरेपी के डिग्री धारकों को आसानी से जॉब मिल जाती है। इतना ही नही इस कोर्स की खासियत ये है कि अगर आप जॉब नही करना चाहते हैं, तो आप खुद का फिजियो क्लीनिक भी शुरू कर सकते हैं। BPT के कैंडिडेट्स की हेल्थकेयर सेक्टर में काफी डिमांड रहती है। जिस वजह से इस फील्ड में जॉब की कमी नही रहती हैं।

BPT Course Kaise kare

इस कोर्स के लिए कैंडिडेट ने 12th फिजिक्स, केमेस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट से पास होना जरूरी होता है। जिसके बाद ही बीपीटी किया जा सकता है।

BPT Me Admission kaise Le

बीपीटी कोर्स में एडमिशन कैंडिडेट को दो तरह से मिल सकता है। जिसमे पहला तो ये है कि आप मैनेजमेंट कॉलेजों में डायरेक्ट ही एडमिशन ले सकते हैं और दूसरा ये है कि एंट्रेंस एग्जाम क्वालीफाई करने के बाद अगर आपका नाम मेरिट में आता है तो आपको इस कोर्स में एडमिशन मिल जाएगा।

जितने भी गवर्नमेंट कॉलेज और यूनिवर्सिटीज BPT कोर्स संचालित करती हैं, इनमे एडमिशन डायरेक्ट नही मिलता है। अगर आपको गवर्नमेंट कॉलेज से ये कोर्स करना है तो आपको प्रवेश परीक्षा पास करनी पड़ेगी। इसके बाद फाइनल मेरिट के आधर पर एडमिशन मिलता है।

BPT Entrance Exam

अगर आप बीपीटी गवर्नमेंट कॉलेज से करना चाहते हैं तो आप विभिन्न गवर्नमेंट यूनिवर्सिटीज के द्वारा आयोजित किये जाने वाले एंट्रेंस एग्जाम के लिए आवेदन कर सकते हैं। कुछ प्रमुख एंट्रेंस एग्जाम निम्न हैं-

दिल्ली यूनिवर्सिटी बीपीटी एंट्रेंस एग्जाम

आईपी यूनिवर्सिटी बीपीटी एंट्रेंस एग्जाम

बिहार कंबाइंड एंट्रेंस कंपीटिटिव एग्जाम

बीएचयू बीपीटी एंट्रेंस एग्जाम

जामिया मिलिया इस्लामिया बीपीटी एंट्रेंस एग्जाम

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी बीपीटी एंट्रेंस एग्जाम

यूपी यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंस बीपीटी एंट्रेंस एग्जाम

सीएसजेएमयू बीपीटी एंट्रेंस एग्जाम, आदि

BPT Career Scope in Hindi

मौजूदा समय मे बीपीटी एक पॉपुलर कोर्स माना जाता है, वो इसलिए क्योंकि इसमे कैरियर की काफी अच्छी संभवनाएं उपलब्ध होती है। सफलतापूर्वक BPT Course पूरा करने के बाद में कैंडिडेट किसी भी हॉस्पिटल, क्लीनिक्स, आर्थो क्लीनिक, ट्रामा सेंटर्स, हेल्थ क्लब में जॉब कर सकते हैं।

वैसे भी आज के समय मे हॉस्पिटल्स की कमी नही है। एक- एक शहर में अनगिनत हॉस्पिटल्स हो चुके हैं, जंहा पर बीपीटी के डिग्री धारक के लिए जॉब के अच्छे अवसर होते हैं। जिस तरह से जनसंख्या तेजी से बढ़ रही है, उसी तरह से हॉस्पिटल्स की संख्या में भी इजाफा हो रहा है। इस वजह से इन हॉस्पिटल्स में BPT या फिजियोथेरेपी डॉक्टर की भी मांग बढ़ रही है।

इस कोर्स को करने के बाद अगर आप जॉब नही भी करते हैं, तो आपके पास एक ऑप्शन होता है, कि आप खुद का भी क्लिनिक शुरू कर सकते हैं। ज्यादातर बीपीटी करने वाले कैंडिडेट्स कोर्स के बाद कुछ सालों तक अनुभव हासिल करते हैं और फिर वे इसके बाद खुद का ही क्लीनिक शुरू करते हैं। फिलहाल इस कोर्स के बाद आपको जॉब के लिए भटकना नही पड़ता है, आसानी से जॉब मिल सकती है, अगर फील्ड का नॉलेज है तो।

बीपीटी कोर्स करने के बाद में प्राइवेट सेक्टर के अलावा गवर्नमेंट सेक्टर में भी जॉब के अच्छे अवसर होते हैं। सरकार भी समय- समय पर फिजियोथेरेपिस्ट की वैकेंसी रिलीज करती हैं जिनमे आप आवेदन कर सकते हैं। स्पोर्ट्स सेक्टर और आर्मी में तो बीपीटी के कैंडिडेट के लिए काफी अच्छे जॉब के मौके होते हैं।

BPT Course के बाद किन पदों पर जॉब कर सकते हैं?

फिजियोथेरेपिस्ट

असिस्टेंट फिजियोथेरेपिस्ट

रिसर्चर

फिटनेस ट्रेनर

थेरेपी मैनेजर

स्पोर्ट्स फिजियो रिहैबिलिटेटर

ऑस्टेओपथ

एक्यूपेंचर फिजियोथेरेपिस्ट

स्पोर्ट्स फिजियोथेरेपिस्ट

पर्सनल फिजियोथेरेपिस्ट

Jobs After BPT Course (बीपीटी करने के बाद जॉब कंहा मिलेगी)

हॉस्पिटल्स

नृसिंग होम

क्लीनिक्स

ट्रामा सेंटर्स

इंजुरी सेंटर्स

रिहैबिलिटेशन सेंटर्स

फिटनेस सेंटर्स

फिजियोथेरेपी क्लीनिक

Government Sector Me Job

फैक्टरीज

डिफेंस

रेलवे

हॉस्पिटल

कम्युनिटी सेंटर्स

स्पोर्ट्स क्लब

BPT Course Fees (बीपीटी कोर्स की फीस कितनी है?)

इस कोर्स की फीस आमतौर पर 1लाख से लेकर 2 लाख प्रतिबर्ष के बीच होती हैं। हालांकि गवर्नमेंट कॉलेजों में फीस काफी कम होती है।

Best BPT College in India

दिल्ली यूनिवर्सिटी

आईपी यूनिवर्सिटी

बीएचयू

जामिया मिलिया इस्लामिया

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी

यूपी यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंस

सीएसजेएमयू

पंजाब यूनिवर्सिटी

बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी

मद्रास मेडिकल कॉलेज, आदि

Some other Question Related to BPT Course

फिजियोथेरेपिस्ट बनने के लिए क्या करना पड़ता है?

फिजियोथेरेपिस्ट बनने के लिए या फिजियोथेरेपी के फील्ड में कैरियर बनाने के लिए कैंडिडेट को BPT कोर्स या DPT कोर्स करने की आवश्यकता होती है।

बीपीटी के बाद कौन सा कोर्स सबसे अच्छा है?

बीपीटी कोर्स के बाद में अगर आप जॉब नही करना चाहते हैं तो इस कोर्स के बाद आप MPT यानिकि मास्टर ऑफ फिजियोथेरेपी भी कर सकते हैं या फिर फिजियोथेरेपी के किसी भी एक फील्ड में स्पेसलाइजेशन भी कर सकते हैं, जोकीं आपके कैरियर में चार चाँद लगा देगा।

Specialization after BPT Course in Hindi

Musculoskeletal physiotherapy

Cardiorespiratory physiotherapy

Neurological physiotherapy

Rehabilitation and pain management

Sports physiotherapy

Paediatric physiotherapy

Geriatric physiotherapy

Physiotherapist work (फिजियोथेरेपिस्ट के कार्य)

फिजियोथेरेपिस्ट (भौतिक चिकित्सक) मेडिकल फील्ड का एक बहुत ही महत्वपूर्ण सदस्य है। फिजियोथेरेपिस्ट व्यायाम, मैनुअल थेरेपी, पुनर्वास तकनीकों और शारीरिक गतिविधि के उपयोग से रोगियों को बिना किसी दवाओं से उसको ठीक करने में मदद करते हैं।

BPT salary in india per month (बीपीटी के बाद कितनी सैलरी मिलती है?)

इस फील्ड में सैलरी काफी अच्छी मिलती हैं। एक अच्छे फिजियोथेरेपिस्ट को 40 से 50 हजार तक सैलरी मिलती है। लेकिन इंट्री लेवल पर इस फील्ड में सैलरी 20 से 25 हजार प्रतिमाह मिलती है, जोकीं अनुभव के साथ- साथ बढ़ती है।

Is BPT is equal to MBBS?

काफी लोग पूंछते हैं कि क्या बीपीटी और MBBS दोनो समान ही हैं तो मैं आपको बता दूं कि डिग्री के लेवल को देखते हुए दोनो ही बैचलर डिग्री कोर्स हैं। इस तरह दोनो कोर्स समान हैं, लेकिन दोनों की कार्यप्रणाली में काफी अंतर है। जहां bpt कोर्स में एक्सरसाइज के माध्यम से बिना दवाओं के ही मरीज की स्थितियों में सुधार किया जाता है। वंही MBBS में दवाओं के जरिये रोगियों का इलाज किया जाता है।

Can BPT be called a doctor?

जी हाँ, बिल्कुल BPT डिग्री धारक अपने नाम के आगे डॉक्टर शब्द का प्रयोग कर सकते हैं और इनको डॉक्टर भी कहा जा सकता है।

BPT ke baad kya kare

बीपीटी कोर्स के बाद में आप डॉक्टर के तौर पर किसी भी हॉस्पिटल में जॉब कर सकते हैं या आप चाहें तो खुद का भी क्लीनिक शुरू कर सकते हैं। इसके अलावा आप बीपीटी के बाद में MPT Course भी कर सकते हैं। BPT के बाद में फिजियोथेरेपी के फील्ड में स्पेसलाइजेशन करना भी आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।

BPT Course kitne saal ka hai

इस कोर्स की अवधि 4 साल होती है। और 6 माह की इंटर्नशिप भी पूरी करनी पड़ती है। इस तरह से ये कोर्स साढ़े 4 साल का होता है।

फिजियो डॉक्टर डिप्लोमा वाले डॉक्टर लिख सकते हैं, क्या?

फिजियोथेरेपी में डिप्लोमा करने वाले कैंडिडेट डॉक्टर नही लिख सकते हैं, बल्कि वे डॉक्टर के असिस्टेंट के तौर पर कार्य कर सकते हैं।

BPT Course Fees

इसकी फ़ीस 1 लाख से लेकर 2 लाख प्रतिबर्ष के बीच होती है।

BPT Full Form in Hindi

बीपीटी की फुल फॉर्म बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी होती है।

BPT course syllabus 1st Year

Anatomy

Biomechanics

Physiology

Psychology

Biochemistry

Sociology

Basic Nursing

Orientation to Physiotherapy

English

BPT course syllabus 2nd Year

Pathology

Exercise Therapy

Microbiology

Electrotherapy

Pharmacology

Research Methodology and Biostatistics

First Aid and CPR

Introduction to treatment

Constitution of India

Clinical Observation Posting

BPT course syllabus 3rd Year

General Medicine

Orthopedics and sports physiotherapy

General Surgery

Supervised Rotary clinical training

Orthopedics and traumatology

Allied Therapies

BPT course syllabus 4th Year

Neurology and neurosurgery

Supervised Rotary clinical Training

Community medicine

Ethics, Administration, and supervision

Neuro- Physiology

Evidence-based physiotherapy and practice

Community-based rehabilitation

Research project

BPT course subjects (बीपीटी में कौन से सब्जेक्ट होते हैं?)

Physiology

Anatomy

Pathology and Microbiology

Orthopedics

Pharmacology

General Surgery

General Medicines

Neurology

उम्मीद है कि BPT Course Details in Hindi ये आर्टिकल आपको पसन्द आया होगा। क्योंकि इस आर्टिकल में मैंने BPT Course से जुड़ी हर तरह की जानकारी दी है, जोकीं आपके कैरियर के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होगी।

Leave a Comment