DPT Course Kya hai

DPT Course kya hai- आज की इस पोस्ट में हम डीपीटी कोर्स के बारे में बताएंगे। जो लोग मेडिकल के फील्ड में Career बनाना चाहते हैं, उनके लिए ये कोर्स बहुत ही बेहतरीन कोर्स हैं। अगर आपका भी सपना DPT करने का है तो निश्चित ही ये पोस्ट आपके लिए फायदेमंद साबित होगी। यंहा पर DPT Course Details in Hindi इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी मिलेगी।

DPT Kya Hota hai

डीपीटी की फुल फॉर्म डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी है। यह फिजियोथेरेपी में डिप्लोमा कोर्स होता है। जिसके बाद में आप अपना फिजियो क्लीनिक खोल सकते हैं या फिर किसी भी Hospital में फिजियोथेरेपिस्ट के तौर पर जॉब कर सकते हैं। इसमे Career की काफी अच्छी ग्रोथ भी है। इसलिए युवाओं का इस फील्ड के प्रति आकर्षण भी काफी ज्यादा है।

फिजियोथेरेपी एक चिकित्सा विज्ञान की ऐसी शाखा है, जिसके जरिये शरीर के बाहरी हिस्सों का ही इलाज किया जा सकता है। इसमे दवाओं का इस्तेमाल न के बराबर होता है। सिर्फ विभिन्न तरह की फिजियो तकनीक और एक्सरसाइज का इस्तेमाल करके रोगों का इलाज किया जाता है।

DPT Course ki Duration (डीपीटी कितने साल का होता है)

यह मेडिकल के फील्ड का डिप्लोमा कोर्स है। इसलिए इसकी ड्यूरेशन 2 साल होती है। जो लोग लंबी अवधि का मेडिकल कोर्स करने में सक्षम नही है या फिर जल्दी ही Job करना चाहते हैं तो वे लोग DPT कोर्स करके मात्र 2 साल में ही अच्छी जॉब पा सकते हैं।

DPT Course ke liye Qualification hindi me

इस कोर्स को करने के लिए उम्मीदवार को साइंस स्ट्रीम से 12th पास होना चाहिए। फिलहाल अगर फिजीकस, केमेस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट से अगर आप 12वीं किये हैं तो ये ज्यादा अच्छा है।

DPT Course karne ke baad Job kaise milegi

जब आप डीपीटी कोर्स कर लेते हैं, तो इसके बाद में आप 6 महीने किसी भी हॉस्पिटल में फिजियोथेरेपि के फील्ड में इंटर्नशिप करनी होती है। जंहा पर आप इस फील्ड का बास्तविक और प्रैक्टिकल नॉलेज प्राप्त करते हैं। जिससे कि Course करने के बाद में आप परफेक्ट तरह से रोगियों का इलाज कर सकें। इस तरह फिजियोथेरेपी के फील्ड में जॉब पाने के लिए आपको सबसे पहले कोर्स करना होगा। कोर्स के बाद इंटर्नशिप करें। जब इंटर्नशिप पूरी हो जाती है तब इसके बाद आप विभिन्न हॉस्पिटल में जॉब कर सकते हैं।

DPT में क्या पढ़ाया जाता है?

डीपीटी कोर्स में फिजिकल डिसएबिलिटी और इंजुरी से सम्बंधित इलाज करने की जानकारी दी जाती है। इस कोर्स में रिहैबिलिटेशन की विभिन्न टेक्निक्स की जानकारी दी जाती है। जिससे कि मरीज पहले की तरह नार्मल जिंदगी जी सकें। जो लोग घायल हो जाते हैं या किसी भी तरह की इंजुरी हो जाती है तो ऐसे लोग का फिजियोथेरेपिस्ट इलाज करते हैं। इसके अलावा शरीर मे किसी भी तरह का दर्द होता है तो इस तरह के दर्द को फिजियोथेरेपी सही करने में सक्षम होते हैं।

DPT Me Admission kaise milta hai

डीपीटी कोर्स में एडमिशन दो तरह से लिया जा सकता है। पहला तो ये है कि इसमे आप डायरेक्ट ही एडमिशन ले सकते हैं। इसके अलावा प्रवेश परीक्षा के माध्यम से भी इस कोर्स में एडमिशन मिलता है।

फिलहाल अगर आपको अच्छे College से DPT course करना है तो आपको एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ेगा। साधारण तरह के कॉलेज से आप डायरेक्ट ही एडमिशन ले सकते हैं। लेकिन गवर्नमेंट College में डायरेक्ट प्रवेश नही मिल सकता है।

DPT Course ki Fees Kitni Hoti hai

इसकी फीस का कोई भी निश्चित मापदंड नही है। हर कॉलेज अपने हिसाब से फीस का निर्धारण करता है। इसकी बार्षिक फीस 10 हजार से लेकर 3 लाख के बीच मे होती है। जो प्राइवेट संस्थान ज्यादा फेमस होते हैं, उनकी फ़ीस काफी ज्यादा होती है। वंही Government College की फीस बहुत ही कम होती है। गरीब से गरीब कैंडिडेट भी सरकारी संस्थानों से कोर्स कर सकते हैं। जबकि प्राइवेट संस्थानो की महंगी फीस हरकोई नही चुका सकता है।

DPT Me Career Scope kya hai

आज के समय में पैरा मेडिकल Course की काफी मांग बढ़ रही है। जिसमे से DPT प्रमुख कोर्स है। बस इसी वजह से फिजियोथेरेपी के फील्ड में करियर ही काफी संभावनाएं भी हैं। इसमे कैरियर की ग्रोथ काफी अच्छी है। आज के समय कई तरह की बीमारियों के इलाज के लिए फिजियोथेरेपी का इस्तेमाल होने लगा है। जिससे इसका स्कोप तेजी से बढ़ा है।

इसकी खासियत ये है कि इसका कोई भी साइड इफेक्ट भी नहीं होता है। इस वजह से लोग काफी ज्यादा अपना रहे हैं, जिससे कि फिजियोथेरेपिस्ट की काफी मांग बढ़ रही है। डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी (DPT) करने के बाद में कैरियर के काफी अच्छे विकल्प होते हैं।

आप हॉस्पिटल में फिजियोथेरेपिस्ट की जॉब कर सकते है। इसके अलावा आप खुद का भी फिजियोथेरेपी सेंटर खोल सकते हैं। आजकल बड़े- बड़े महानगरों की तो बात ही छोड़े, छोटे- मोटे शहरों में आप फिजियोथेरेपिस्ट की होम सर्विस दे सकते हैं। एक-एक पैसेन्ट से आप होम सर्विस की आप 500 से लेकर 1 हजार तक चार्ज कर सकते हैं। बड़े- बड़े महानगरों में होम सर्विस उपलब्ध कराने वाले फिजियोथेरेपिस्ट एक-एक क्लाइंट से 1 से 3 हजार तक चार्ज करते हैं।

इतना ही नही आप बड़े- बड़े हेल्थ सेंटर, हेल्थ क्लीनिक और जिम सेंटर्स में जिम ट्रेनर के तौर पर भी जॉब कर सकते हैं। खुद का भी एक अच्छा प्रोफेशनल जिम सेंटर खोल सकते हैं। आजकल तो बड़े- बड़े एक्टर, खिलाड़ी भी पर्शनल फिजियोथेरेपिस्ट रखते हैं। जिसका आपको लाखो रुपये महीने में चार्ज मिलता है। फिलहाल इस कोर्स को करने के बाद में आप बेरोजगार नह रहेंगे।

DPT Course करने के बाद सैलरी कितनी मिलती है?

जब आप कोर्स करके जॉब की शुरुआत करते हैं, तो शुरुआती समय मे 10 से 15 हजार रुपये महीने में मिलते हैं। धीरे- धीरे अनुभव बढ़ने के साथ-साथ सैलरी भी बढ़ती जाती है।

DPT Course Benefits (डीपीटी कोर्स के फायदे)

डीपीटी कोर्स पैरामेडिकल कोर्स है, जिसकी काफी ज्यादा डिमांड है।

डीपीटी कोर्स में कैरियर की ग्रोथ काफी अच्छी है।

इसमे कैरियर के स्कोप भी काफी ब्राइट है।

इसमे कैरियर के काफी ज्यादा ऑप्शन होते हैं।

इस कोर्स के बाद जॉब आसानी से मिल जाती है।

जो लोग 12वीं के बाद ऐसे कम अवधि के कोर्स करना चाहते हैं तो DPT उनके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है।

इसकी फ़ीस भी ज्यादा नही होती है।

फिजियोथेरेपी में स्पेशलाइजेशन

आप डीपीटी करने के बाद में बीपीटी कोर्स भी कर सकते हैं। बीपीटी के बाद में आप फिजियोथेरेपी के किसी एक फील्ड में विशेषज्ञता भी हासिल कर सकते हैं।

ऑर्थेपेडिक फिजियोथेरेपी

न्यूरोलॉजिकल फिजियोथेरेपी

कार्डियोवस्कुलर फिजियोथेरेपी

पिडियाट्रिक फिजियोथेरेपी

ऑब्सेक्ट्रिक्स फिजियोथेरेपी

पोस्ट ऑपरेटिव फिजियोथेरेपी

स्पोर्ट्स फिजियोथेरेपी

गवर्नमेंट कॉलेज से डीपीटी कोर्स कैसे करें?

अगर आप गवर्नमेंट कॉलेज में डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए सबसे पहले एंट्रेंस एग्जाम की प्रक्रिया से गुजरना होगा। एंट्रेंस एग्जाम के लिए अलग-अलग यूनिवर्सिटियां समय- समय पर अपने यंहा एंट्रेस एग्जाम का आयोजन करवाती हैं। DPT कोर्स के लिए मार्च महीने से लेकर जून महीने तक फॉर्म आते आ जाते हैं। जिनमे आप अप्लाई करके एंट्रेंस एग्जाम में बैठ सकते हैं। इसके बाद एंट्रेंस एग्जाम में आने वाले नंबर की मेरिट के आधार पर दाखिला मिलता है। इसके लिए आप विभिन्न समाचारपत्र पढ़ते रहे, जिससे आपको ये पता चलता रहेगा, कि कब किस यूनिवर्सिटी में DPT Course के फॉर्म निकल रहे हैं।

DPT College in India

उत्तर प्रदेश यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंस सैफई

किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी लखनऊ

जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी

मुंबई यूनिवर्सिटी

महाराष्ट्र यूनिवर्सिटी

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी

जामिया हमदर्द

ओस्मानिया मेडिकल कॉलेज

क्रिस्चियन मेडिकल कॉलेज चेन्नई

गुरुनानकदेव यूनिवर्सिटी अमृतसर

बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी

अन्नामलाई यूनिवर्सिटी

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ एजकेशन एंड रिसर्च पटना

रीजनल कॉलेज ऑफ पैरामेडिकल हेल्थ साइंस गोहाटी

नीलरतन सिरकार मेडिकल कॉलेज पटना

हिमालयन यूनिवर्सिटी ईटानगर

कंपोसाइट रीजनल सेंटर श्रीनगर

सीएमजे यूनिवर्सिटी शिलांग

उम्मीद है कि DPT kya hai ये आर्टिकल आपको पसन्द आया होगा। क्योंकि इस आर्टिकल में मैंने DPT Course से जुड़ी हर जानकारी दी है, जोकीं आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होगी। फिर भी अगर आपके DPT कोर्स को लेकर कोई भी सवाल या सुझाव हैं तो आप कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *