Advocate kaise bane

Advocate Kaise bane- अगर आप 12वीं या ग्रेजुएशन के बाद में एक सफल एडवोकेट बनना चाहते हैं तो आपका हमारी वेबसाइट careerkaisebane.in में स्वागत है। यंहा पर हम आपको एडवोकेट बनने का सारा प्रोसेस बताएंगे। जैसेकि Advocate बनने के लिए कौन सा कोर्स करना होगा? कोर्स कंहा से करना चाहिए और इसके लिए बेस्ट कॉलेज कौन से हैं और इसकी फ़ीस क्या होती है। कोर्स को पूरा करने के बाद में किस तरह से आप आसानी से एडवोकेट (वकील) बन पाएंगे। इन सभी के बारे में डिटेल में जानकारी मिलेगी।

एडवोकेट काफी अच्छा प्रोफेशन माना जाता है। इसलिए भारी संख्या में लोग इस पेशे में कैरियर बना रहे हैं। वकालत एक ऐसा फील्ड है, जिसमे कैरियर की काफी बेहतरीन संभावनाएं मौजूद हैं। वकालत से सम्बंधित कोर्स करने के बाद में आप अपने जिले के कोर्ट में वकालत कर सकते हैं। इतना ही नही, हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में भी आप वकालत करके नाम और दाम कमा सकते हैं।

कॉर्पोरेट जगत में कारपोरेट लॉयर (वकील) या बिजनेस लॉयर की काफी मांग रहती हैं। इस फील्ड में भी जॉब का सुनहरा मौका मिलता है। विभिन्न परीक्षाओं को पास करके आप जज भी बन सकते हैं। अगर वकालत का अच्छा नॉलेज हासिल कर लेते हैं तो आप खुद की भी लॉ कंसलटेशी स्टार्ट कर सकते हैं। इन सभी के अलावा और भी काफी इस सेक्टर में कैरियर की संभावनाएं हैं, जोकीं आपको आगे इस लेख में मालूम हो जाएगी।

Advocate kaise bane

आप दो तरह से एडवोकेट बन सकते हैं। एक तो ग्रेजुएशन (बीए, बीएससी, बीकाम या अन्य बैचलर डिग्री) के बाद आप LLB Course के बाद Advocate बन सकते हैं। दूसरा ये है कि आप 12वीं के बाद BA LLB या BBA LLB या BCom LLB जैसे कोर्स करके एडवोकेट बनने का सपना पूरा कर सकते हैं।

Advocate Course after 12th

जो कैंडिडेट 12वीं कर चुके हैं, तो वे 5 साल का BA LLB Course करके Advocate बनने का सपना पूरा कर सकते हैं। अगर आप कॉरपोरेट सेक्टर में अधिवक्ता बनना चाहते हैं तो BBA LLB या BCom LLB आपको 12th के बाद करना चाहिए।

Graduation ke bad Advocate kaise bane

जिन कैंडिडेट ने किसी भी संकाय से ग्रेजुएशन किया है तो ये कैंडिडेट 3 बर्षीय LLB कोर्स करके Advocate बन सकते हैं। चलिये अब मैं आपको बता दूं कि LLB के इन सभी कोर्स में आपको एडमिशन कैसे मिलेगा।

LLB Course Admission Process

एलएलबी कोर्स में एडमिशन आप दो तरह से ले सकते हैं। पहला तो ये है कि आप डायरेक्ट ही मैनेजमेंट कॉलेज में एडमिशन 12वीं या ग्रेजुयेशन के बाद ले सकते हैं। इसके अलावा अगर आप किसी अच्छे या इंडिया के प्रतिष्ठित Law College से LLB Course करना चाहते हैं, तो वंहा पर Entrance Exam पास करने के बाद ही एडमिशन मिलता है।

LLB Entrance Exam after 12th

इनमें से किसी भी एंट्रेंस एग्जाम को पास करके आप अच्छे लॉ कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं।

CLAT

IPU CET

AILET

PU LLB

SLAT

BLAT

MH CET

ULSAT

CU LEE

DU LLB Entrance Exam

LAT

LFAT

LLB Course Fees in Hindi

एलएलबी कोर्स की फीस इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस तरह के कॉलेज से LLB कर रहे हैं। अगर आप मैनेजमेंट कॉलेज से LLB करते हैं तो वंहा पर 30 हजार से लेकर 1 लाख रुपये प्रतिबर्ष के बीच मे फीस होती है। अगर आप गवर्नमेंट College से एलएलबी करते हैं तो वंहा पर 5 हजार से लेकर 30 हजार के आसपास ही फीस होती है।

Advocate बनने का प्रोसेस

1: सबसे पहले आप 12वीं या ग्रेजुएशन करें।

2: लॉ एंट्रेंस एग्जाम क्वालीफाई करें।

3: एलएलबी कंप्लीट करें।

4: किसी अच्छे वकील के पास ट्रेनिंग लें।

5: बार काउंसिल ऑफ इंडिया का एग्जाम क्वालीफाई करें।

Advocate के तौर पर लॉ के फील्ड में कैरियर स्कोप क्या है?

इस फील्ड में कैरियर के स्कोप को लेकर आपको कोई भी टेंशन लेने की जरूरत नही है। क्योंकि यह एक ऐसा सेक्टर हैं, जंहा पर अगर आपको जॉब नही भी मिलती है तो आप Advocate के तौर पर कोर्ट प्रैक्टिस करके अच्छी खासी इनकम कर सकते हैं। जिस तरह जनसंख्या बढ़ रही है। अपराध भी उतने ही ज्यादा बढ़ रहे हैं, इन अपराधों को कानूनी रूप से सुलझाने के लिए वकील की मांग काफी ज्यादा रहती है। जिस वजह से अगर आप वकालत करते हैं तो आप अपने आप को एक अच्छे मुकाम पर ले जा सकते हैं।

इसके अलावा काफी ज्यादा लोग जमीन जायदाद की बिक्री और खरीददारी करते हैं, जंहा पर वकील की काफी महत्वपूर्ण भूमिका रहती हैं। लगभग सभी तरह के बिजनेस को स्थापित करने के लिए कानूनी सलाहकर की जरूरत होती है, जोकीं एक वकील ही होता है। इतना ही नही कॉर्पोरेट सेक्टर, मीडिया हाउस, मनोरंजन सेक्टर, कंस्ट्रक्शन, एजुकेशन, बैंकिंग, फाइनेंस और भी अनेक सेक्टर में Advocate के लिए या Law के स्टूडेंट्स के लिए जॉब के काफी अच्छे अवसर होते हैं।

बहुत से लोगों को ये भी नही पता है कि LLB Course करने के बाद वे जॉब भी कर सकते हैं। लेकिन ये सच है कि LLB करने के बाद में सरकारी नौकरी के भी अच्छे अवसर होते हैं। जैसेकि बैंकिंग, वित्तीय संस्थानों, सरकारी वकील, फाइनेंस एंड एंशोरेन्स जैसे सरकारी और प्राइवेट संस्थानो में आप जॉब कर सकतेहैं।

लॉ के कैंडिडेट विभिन्न तरह के संगठनों में लीगल एडवाइजर के तौर पर भी काम कर सकते है, एनजीओज के साथ मिलकर भी काम कर सकता है । इसके अलावा विभिन्न न्यूज़पेपर्स या टेलीविज़न चैनल्स में रिपोर्टर , फ़िल्म एक्टर या एक्ट्रेस के लॉयर के तौर पर भी काम कर सकते हैं।

एलएलबी करने के बाद में करियर के बेशुमार अवसर होते है। कॉरपोरेट जगत में आप बिजनेस लॉयर बन सकते हैं। विभिन्न लोक सेवा आयोगों द्वारा आयोजित किये जाने वाले एग्जाम्स पास करने के बाद जज भी बन सकते हैं। कुछ वर्षों के बढ़िया कार्य अनुभव हासिल के बाद में लॉ के ग्रेजुएट्स पब्लिक प्रॉसीक्यूटर, सोलिसिटर जनरल और भी विभिन्न सरकारी विभागों व मंत्रालयों में भी काम करने का अवसर पा सकते हैं।

लॉ पेशेवर विभिन्न प्राइवेट और पब्लिक संस्थानो के लिए लीगल एडवाइजर के तौर पर भी कार्य कर सकते हैं। इस फील्ड में कैरियर के अवसरों की कमी नही है। बस आपको लॉ की अच्छी नॉलेज होनी चाहिए।

अब आपको Advoacte kaise bane और LLB Course, इसमे कैरियर स्कोप और LLB कोर्स फीस इसके बारे में मालूम हो गया है। चलिये अब जाना लेते हैं कि LLB में कैरियर ऑप्शन क्या है, कंहा- कंहा आप जॉब कर सकते हैं?

Career Option in LLB in Hindi

लीगल एडवाइजर के तौर पर कार्य कर सकते हैं।

आप कोर्ट में में एडवोकेट के तौर पर प्रैक्टिस कर सकते हैं।

बिजनेस लॉ के सेक्टर में कैरियर बना सकते हैं।

कॉरपोरेट लॉ के फील्ड में भी आप जॉब कर सकते हैं।

साइबर लॉ के फील्ड में भी कैरियर बना सकते हैं।

लीगल वेलफेयर ऑफीसर बन सकते हैं।

कॉरपोरेट काउंसलर बन सकते हैं।

कॉरपोरेट लॉ प्रैक्टिशनर के तौर पर कैरियर बना सकते हैं।

सिबिल सर्विसेज में कैरियर बना सकते हैं।

ज्यूडिशियल सर्विसेज में जा सकते हैं।

कंपनी सेक्रेटरी बन सकते हैं।

वित्तीय संस्थानों में लॉयर के तौर पर कैरियर बना सकते हैं।

Law ke Popular sector

सिविल लॉयर

क्रिमिनल लॉयर

कॉरपोरेट लॉयर

साइबर लॉयर

फैमिली लॉयर

लीगल एनालिस्ट

Advocate ko kitni salary milti hai

इस फील्ड में सैलरी की कोई सीमा नही है। अगर आपने किसी अच्छे कॉलेज से LLB कोर्स किया है और आपको कानून की अच्छी समझ है तो आप 20 से 30 हजार रुपये मासिक तक सैलरी पा सकते हैं। जोकीं अनुभव होने के बाद लाखों रुपए तक हो सकती है। वंही अगर आप किसी औसत दर्जे जे लॉ कॉलेज से कोर्स करते हैं तो आपका सैलरी पैकेज भी औसत दर्जे का होगा, जोकीं 10 से 15 हजार से शुरू होता है। अनुभव के साथ- साथ सैलरी में इजाफा होता है।

कॉरपोरेट सेक्टर, मीडिया हाउस, साइबर लॉ, मनोरंजन सेक्टर इनमे सैलरी काफी अच्छी मिलती है। अगर आप एलएलबी करने के बाद में किसी advocate के पास ट्रेनिंग करते हैं तो उस दौरान आपको 4 से 10 हजार के बीच मे सैलरी मिल सकती है, जोकीं एक्सपीरिएंस के बाद बढ़ जाती है।

Best LLB College in India

आपको विभिन्न लॉ कोर्सेज और इन कोर्सेज में एडमिशन लेने के लिए आवश्यक एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया, जॉब और कैरियर स्कोप के बारे में काफी जानकारी मिल चुकी है। आईये अब हम आपको भारत के टॉप लॉ कॉलेजों के बारे में बताते हैं, जंहा से अगर आप Law Course करते हैं, तो आपकी सफलता के चांस काफी हद तक बढ़ जाते हैं।

नेशनल लॉ इंस्टिट्यूट युनिवर्सिटी (एनएलआईयू) भोपाल

दिल्ली विश्वविद्यालय

जामिया मिलिया इस्लामिया

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी जोधपुर

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी

नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया युनिवर्सिटी (एनएलएसआईयू) बैंगलोर

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय

एनएएलएसएआर यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ हैदराबाद

गुरुगोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी दिल्ली

गुजरात नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी

आईएलएस लॉ कॉलेज पुणे

गवर्नमेंट लॉ कॉलेज, मुंबई

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी दिल्ली

सिम्बायोसिस लॉ कॉलेज पुणे

High Court Me Advocate kaise bane

हाई कोर्ट का वकील बनने के लिए कैंडिडेट को एलएलबी करने के बाद बार कौंसिल ऑफ इंडिया से लाइसेंस लेना होता है। जिसके बाद आप कोर्ट में मुकदमा लड़ सकते हैं। इसके बाद 5 साल का लोअर कोर्ट में मुकदमा लड़ने का अनुभव हासिल करना होगा। इसके बाद में आप हाई कोर्ट में advocate बन सकते हैं। अगर आप लोअर कोर्ट में काम नही करना चाहते हैं तो आप सीधे ही हाई कोर्ट के वकील के पास इंटर्नशिप करके भी हाई कोर्ट में Advocate बन सकते हैं।

Supreme Court me Vakil kaise bane

सुप्रीम कोर्ट में वकील बनने के लिए सुप्रीम कोर्ट एक Exam आयोजित करता है। इस Exam का नाम हे Advocate On Record Exam इस एग्जाम को देने के लिए आपको 5 साल तक का हाईकोर्ट में वकालत अनुभव होना चाहिए। या फिर सुप्रीम कोर्ट में किसी वकील के अंडर में 5 साल तक इंटर्नशिप की हो। जिसके बाद आप सुप्रीम कोर्ट में वकील बन सकते हैं।

LLB करने के फायदे

एलएलबी कोर्स करने के कई फायदे हैं। सबसे पहला फायदा तो ये है कि इसमे कैरियर के काफी ज्यादा ऑप्शन हैं। आप चाहें तो सरकारी वकील बन सकते हैं, या आप कॉरपोरेट लॉयर, साइबर लॉयर, जैसे बेहतरीन फील्ड में जॉब कर सकते हैं। इतना ही नही आप खुद भी लॉ फार्म्स या लॉ कंसल्टेंसी स्टार्ट कर सकते हैं।

एडवोकेट के तौर पर आप विभिन्न तरह के कोर्ट में प्रैक्टिस भी कर सकते हैं। इसमे जॉब और कैरियर के बेहतरीन अवसर हैं। LLB या BA LLB करने का सबसे बड़ा फायदा ये है कि इसमे जॉब के अलावा स्वरोजगार के भी अवसर होते हैं। इसलिए आपको जॉब के लिए भटकने की जरूरत नही होती है।

Sarkari Vakil kaise bane

सरकारी वकील आप दो तरह से बन सकते हैं। पहला तो ये है कि आप LLB के बाद APO Exam देकर डायरेक्ट ही सरकारी वकील बन सकते है। दूसरा तरीका ये है कि आप वकालत अनुभव हासिल करने के बाद सरकारी वकील बन सकते हैं। जिसके लिए आपको 7 साल का वकालत का अनुभव होना चाहिए।

LLB सिलेबस 3 year

Labour Law

Family Law

Criminal Law

Professional Ethics

Law of Torts & Consumer Protection Act

Constitutional Law

Law of Evidence

Arbitration, Conciliation & Alternative

Human Rights & International Law

Environmental Law

Property Law

Jurisprudence

Legal Aids

Law of Contract

Civil Procedure Code

Interpretation of Statutes

Legal Writing

Administrative Law

Code of Criminal Procedure

Company Law

Land Laws (including ceiling and other local laws)

Investment & Securities Law/ Co-operative Law/ Law of Taxation/ Banking Law including the Negotiable Instruments Act

Optional Papers- Contract/ Women & Law/ Trust/ International/ Economics Law

Criminology/
Comparative Law/ Conflict of Laws/ Intellectual Property Law/Law of Insurance/

BA LLb 5 ईयर सिलेबस

1: Semester

Legal Method

English-I

Sociology-I

Political Science-I

History-I

Economics-I

Introduction to Law

2: Semester

History-II

Political Science-II

Sociology-II

Economics-II

Law of Contract-I

General English-II

Jurisprudence

Law of Tort-I

3: Semester

Law of Contract-II

Political Science-III

Sociology-III

Criminal Law-I

Law of Contract-II

Constitutional Law-I

Family Law-I

4: Semester

Constitutional Law-II

Property Law

Family Law-II

Environmental Law

Labour Law-I

5: Semester

Criminal Law-I

Administrative Law

Corporate Law-I

Public International Law

Jurisprudence

Law of Evidence

6: Semester

Conflict Laws

Human Rights

Company Laws

Intellectual Property Law

Criminal Law-II

Code of Civil Procedure

Corporate Law-II

7: Semester

Labour Law-II

Taxation-I

Environmental Law-II

Conveyancing

Drafting, Pleading

Optional Paper-II

Optional Paper-I

8: Semester

Intellectual Property Rights

Professional Ethics

Taxation-II

Optional Paper-IV

Optional Paper-III

9: Semester

Private International Law

Competition Laws

Merger, Acquisition and

Optional Paper-VI

Optional Paper-V

10: Semester

Law of Equity, Trusts, Suit

International Trade Law

Evaluation and Registration

Moot Courts

Seminar Paper

Internships

उम्मीद है कि Advocate kaise bane या LLB Course details in hindi ये आर्टिक्ल आपको पसन्द आया होगा, क्योंकि इस आर्टिकल में मैंने Advocate kaise bante हैं, इसके बारे में डिटेल में बताया है, जोकीं आपके लिए काफी यूजफुल इन्फॉर्मेशन साबित होगी।

Leave a Comment