D forma course details in hindi

D forma course details in hindi: डी फार्मा क्या है, इसको कैसे करें, कोर्स फीस, जॉब, कैरियर स्कोप, बेस्ट कॉलेज, एडमिशन प्रोसेस, जॉब प्रोफाइल आदि के बारे में डिटेल में जानकारी।

साइंस स्ट्रीम से 12वीं पास करने वाले स्टूडेंट्स के लिए D Pharma एक बेहतरीन करियर ऑप्शन है। इसमे जॉब के काफी अच्छे अवसर उपलब्ध हैं। लेकिन सवाल ये कि आखिर इस क्षेत्र में आप कदम कैसे बढ़ाएंगे।

अगर आपको डी फार्मा क्या है (forma course details in hindi) इसके बारे में कोई जानकारी नही है, तो आप इस लेख को ध्यान से पढ़ें। इसमे मैंने D Pharma kya hai और D Pharma kaise kare इसके बारे में डिटेल में बताया है, जिससे आप इस कोर्स के बारे में डिटेल में जान पाएंगे और साथ ही आप ये भी डिसाइड कर पाएंगे कि आपको ये कोर्स करना चाहिए या नही, इसका निर्णय आसानी से ले पाएंगे।

D forma course details in hindi

डी फार्मा फार्मेसी फील्ड का 2 बर्षीय डिप्लोमा कोर्स होता है। D Pharma का पूरा नाम डिप्लोमा इन फार्मेसी है। ये कोर्स उन कैंडिडेट के लिए बेहतरीन कैरियर विकल्प साबित हो सकता है, जो फार्मास्युटिकल साइंस और चिकित्सा के क्षेत्र में कैरियर बनाना चाहते हैं।

D Forma kaise kare

डी फार्मा कोर्स करने के लिए उम्मीदवार को 12वीं फिजिक्स, केमेस्ट्री बियोलॉजी/ मैथ सब्जेक्ट से पास होना चाहिए। इसके बाद इस कोर्स में एडमिशन लिया जा सकता है।

D Forma me Career Scope kya hai

डी फार्मा में आज के समय मे बहुत ही अच्छा कैरियर स्कोप है। इसका कारण ये है कि आज के समय मे लोग अपनी हेल्थ को लेकर काफी ज्यादा जागरूक है। इसके साथ ही बदलते लाइफस्टाइल की वजह से लोगों को अनेक नई- नई बीमारियां हो रही है। बढ़ती बीमरियों और बढ़ते मरीजों की संख्या की वजह से अनेक नए नए हॉस्पिटल खुल रहे हैं। जब हॉस्पिटलस की संख्या बढ़ रही है तो जाहिर सी बात है कि वँहा पर फार्मासिस्ट की जरूरत होगी। जिस वजह से आज के समय मे अनेक अस्पतालों व नर्सिंग होंम में फार्मासिस्ट की भारी मांग रहती है।

डी फार्मा के कैंडिडेट के लिए हॉस्पिटल्स में तो जॉब के अवसर होते ही हैं। इसके अलावा जितनी भी ड्रग मैन्युफैक्चरिंग कंपनीज होती हैं। इनमे भी मैन्युफैक्चरिंग डिपार्टमेंट में D Pharma के कैंडिडेट के लिए जॉब के अवसर होते हैं।

चूंकि ड्रग मैन्युफैक्चरिंग या फार्मा कंपनी दवाओं को बनाने के साथ ही उनकी सेल्स और मार्केटिंग भी करती हैं। जिससे कि उनकी।कंपनी की दवा ज्यादा से ज्यादा बिके। इसलिए ये कंपनियां D फार्मा के स्टूडेंट्स को मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव (MR) के तौर पर हायर करते हैं। इस तरह D Pharma करने के बाद आपके पास मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव बनने का भी अवसर होता है।

आज के समय मे लाखों की संख्या में फार्मा कंपनियां दवाओं का निर्माण कर रही हैं, जंहा पर MR की खूब मांग रहती है। MR के तौर पर आप किसी भी फार्मेसी कंपनी में बहुत ही आसानी से जॉब पा सकते हैं, क्योंकि इतनी ज्यादा कंपनियां ही है।

फार्मेसी में डिग्री या डिप्लोमा करने के बाद आप फार्मासिस्ट, ड्रग इंस्पेक्टर, क्वालिटी कंट्रोल मैनेजर, एंटरप्रेन्योर, मेडिकल कंटेंट राइटर, सेल्स एंड मार्केटिंग, फॉर्म्युलेशन डेवलपमेंट एसोसिएट, फार्मास्युटिकल साइंटिस्ट आदि के तौर पर कार्य कर सकते हैं।

आज के समय मे अनेक हेल्थ और मेडिसिन की जानकारी देने वाली वेबसाइट चल रही हैं तो आप इन वेबसाइटों में मेडिकल कंटेंट राइटर के तौर पर कैरियर बना सकते हैं। मेडिकल कंटेंट राइटिंग के फील्ड में सैलरी का आकर्षक मिलती है। इतना ही नही आप मात्र 2 से 3 हजार में अपनी खुद की ऐसी ही मेडिसिन की जानकारी देने वाली वेबसाइट शुरू करके एडसेंस और एफिलियेट मार्केटिंग से अच्छी खासी इनकम कर सकते हैं।

डी फार्मा करने के बाद आप प्राइवेट और गवर्नमेंट दोनो सेक्टर में जॉब कर सकते हैं.

D फार्मा करने के बाद आप खुद का मेडिकल स्टोर या फिर मेडिकल एजेंसी खोल सकते हैं। फिलहाल इस फील्ड में जॉब के अवसरों की कमी नही है। D Pharma ke baad आप नीचे दिए गए निम्न क्षेत्रों में जॉब कर सकते हैं।

D Forma me job Ke क्षेत्र

हॉस्पिटल
नर्सिंग होम
ट्रामा सेंटर
मेडिकल शॉप
ड्रग मैन्युफैक्चरिंग कंपनी
सेल्स एंड मार्केटिंग
मेडिकल कंटेंट राइटिंग
मेडिकल ट्रांसक्रिप्शन
क्लीनिकल रिसर्च
फार्मेसी
मेडिसिन फार्मुलेशन

D Forma ke baad किन पदों पर जॉब कर सकते हैं?

फार्मासिस्ट
केमिस्ट
मेडिकल कंटेंट राइटर
मेडिकल ट्रांसक्रिप्शनिस्ट
मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव
सेल्स एग्जीक्यूटिव
क्लिनिकल रिसर्च एसोसिएट
ड्रग थेरेपिस्ट
ड्रग टेक्नीशियन

D Forma Course Fees

इसकी फीस अलग- अलग संस्थानों में अलग- अलग होती है। इस कोर्स की ओसत फीस 45 हजार से एक लाख के बीच होती है। हालांकि सरकारी फार्मेसी कॉलेजों में प्राइवेट कॉलेजों की अपेक्षा बहुत ही कम फीस होती है।

D Pharma me Admission kaise len

डी फार्मा में एडमिशन प्राइवेट कॉलेजों में तो आपको डायरेक्ट ही मिल जाएगा, लेकिंन अगर आप गवर्नमेंट कॉलेज से ये कोर्स करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको प्रवेश परीक्षा पास करनी होगी।

विभिन्न राज्यों में D Pharma में एडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। अब जिस भी राज्य में रहते हैं तो वँहा से संबंधित D फार्मा एंट्रेंस एग्जाम में आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा विभिन्न यूनिवर्सिटी भी इस कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन करती हैं, जिनमे आप अप्लाई कर सकते हैं और डी फार्मा कोर्स कर सकते हैं।

D Forma College

दिल्ली इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मक्यूटिकल्स साइंस एंड रिसर्च
गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ फार्मेसी कराड
जेएस कॉलेज ऑफ फार्मेसी मैसूर
जामिया हमदर्द दिल्ली
डॉ YT पाटिल इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मक्यूटिकल्स साइंस एंड रिसर्च पुणे
PSG कॉलेज ऑफ फार्मेसी कोयम्बटूर
मदुरई मेडिकल कॉलेज
गवर्नमेंट फार्मेसी इंस्टीट्यूट गुलजारबाग
गवर्नमेंट फार्मेसी कॉलेज बैंगलोर
एलएम कॉलेज ऑफ फार्मेसी अहमदाबाद
गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ फार्मेसी रत्नागिरी
इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मेसी जलपाईगुड़ी
अन्नामलाई यूनिवर्सिटी, आदि

D Pharma Karne ke Fayde

डी फार्मा कोर्स करने का सबसे बड़ा फायदा ये है कि ये मात्र दो साल का ही कोर्स होता है। जिसके बाद आप जॉब कर सकते हैं।

इसके अलावा इस कोर्स को करने के बाद आपके पास कैरियर के अनेक विकल्प होते हैं।

इसमे कैरियर स्कोप काफी अच्छा है।

जॉब के अलावा इसमें स्वरोजगार के भी अच्छे अवसर होते हैं।

इस कोर्स के बाद आप प्राइवेट व गवर्नमेंट दोनो सेक्टर में जॉब कर सकते हैं।

डी फार्मा एक ऐसा कोर्स है, जिसकी काफी डिमांड है, जिस वजह से इस कोर्स को पूरा करने के बाद स्टूडेंट्स को जॉब आसानी से मिल जाती है।

डी फार्मा की पढ़ाई कैसे करें?

अगर आपको डी फार्मा कोर्स की पढ़ाई करने है तो सबसे पहले आप 12वीं साइंस स्ट्रीम से पास करें, फिर उसके बाद आप D फार्मा कर सकते हैं।

डी फार्मा के बाद नौकरी किन क्षेत्रों में कर सकते हैं?

गवर्नमेंट हॉस्पिटल
प्राइवेट हॉस्पिटल
ड्रग मैन्युफैक्चरिंग कम्पनी में
मेडिकल कंटेंट राइटिंग के फील्ड में
फार्मेसी के फील्ड में
क्लिनिकल रिसर्च के फील्ड में

D फार्मा की फीस कितनी है?

इसकी फीस 45 हजार से 1 लाख प्रतिबर्ष के बीच होती है। फिलहाल सरकारी कॉलेजों में फीस कम होती है।

D Pharma कंहा से नही करना चाहिए?

आज के समय मे फार्मेसी कॉलेजों की कमी नही है, लेकिन इनमे से कुछ ऐसे भी कॉलेज होंगे जोकीं फार्मेसी कॉउंसिल ऑफ इंडिया से एप्रूव्ड नही होंगे। आपको ऐसे कॉलेजों में बिलकुल ही एडमिशन नही लेना चाहिए। आप उसी कॉलेज से D फार्मा करें जो फार्मेसी कॉउंसिल ऑफ इंडिया से एप्रूव्ड हों। वरना आपका पैसा और समय दोनो ही बर्बाद होंगे।

D फार्मा कितने साल का कोर्स है?

डी फार्मा मात्र 2 साल का कोर्स होता है। इसको आप प्राइवेट व गवर्नमेंट दोनो तरह के कॉलेज से कर सकते हैं।

D Pharma ke baad Pharmacist kaise bane

डी फार्मा करने के बाद में आपको अपने राज्य के स्टेट मेडिकल फैकिलटी में रजिस्ट्रेशन करवाना होता है। उसके बाद आप फार्मासिस्ट के तौर पर प्राइवेट हॉस्पिटलस और मेडिकल शॉप पर फार्मासिस्ट के तौर पर जॉब कर सकते हैं।

अगर आप गवर्नमेंट सेक्टर में फार्मासिस्ट बनना चाहते हैं तो जब भी फार्मासिस्ट की वैकेंसी निकलें उसमे आप आवेदन करके गवर्नमेंट फार्मासिस्ट बन सकते हैं।

D Pharma ke baad Medical Contant Writer kaise bane

अगर आपको मेडिकल कंटेंट राइटर या मेडिसिन कंटेंट राइटर बनना है तो सबसे पहले आप उस मेडिसिन से संबंधित सारी जानकारी प्राप्त करें। इसके बाद आपमेडिसिन की जानकारी देने वाली वेबसाइटों में रेज्यूमे भेजें। जिसके बाद आपका इंटरव्यू होगा। फिर आपका उस वेबसाइट में कंटेंट राइटर के तौर पर सेलेक्शन हो जाएगा। इस फील्ड में आप 15 से 20 हजार शुरुआत में सैलरी पा सकते हैं। अनुभव होने के बाद काफी अच्छी सैलरी मिल सकती है।

आप चाहें तो खुद की भी मेडिसिन की जानकारी देने वाली वेबसाइट बना सकते हैं और उससे आप महीने में 25 से 30 हजार तो बड़े आसानी से कमा लेंगे। अच्छा काम चलने के बाद 1 से 2 लाख तक पैसे कमा सकते हैं। अगर आपको नही मालूम है कि कैसे इस तरह की वेबसाइट बनानी है तो आप हमसे कांटेक्ट US पेज पर जाकर संपर्क करें, मैं आपकी वेबसाइट फ्री में बना दूंगा।

इसके लिए आपको सबसे पहले एक डॉमिन नेम और एक अच्छी होस्टइंग लेने की जरूरत होगी। ये दोनों चीजें 2800 से 3 हजार में मिल जायेगी और आपकी मेडिसिन की वेबसाइट स्टार्ट हो जाएगी।

D Pharma ki Full Form kya hai?

D Pharma की फुल फॉर्म डिप्लोमा इन फार्मेसी होती है।

डी फार्मा में कितना सब्जेक्ट होता है?

फर्स्ट ईयर सब्जेक्ट

Pharmaceutics-I
Pharmaceutical Chemistry-I
Pharmacognosy
Biochemistry & Clinical Pathology
Human Anatomy & Physiology
Health Education & community pharmacy

डी फार्मा सेकेंड ईयर सब्जेक्ट

Pharmaceutics-II
Pharmaceutics chemistry II
Pharmacology & Toxicology
Pharmaceutical Jurisprudence
Drug store and Business Management
Hospital & Clinical Pharmacy

उम्मीद है D forma course details in hindi ये लेख आपको पसंद आया होगा, क्योंकि यंहा पर मैंने डी फार्मा कोर्स और कैरियर की सारी जानकारी दी है।careerkaisebane.in पर विजिट करने के लिए धन्यवाद।

Leave a Comment

Your email address will not be published.