D Pharma Course Details in Hindi

D Pharma Course Details in Hindi: डी फार्मा क्या है? D Pharma kaise kare? इसके बाद जॉब कैसे मिलेगी, डी फार्मा फीस, बेस्ट कॉलेज, जॉब आदि के बारे में डिटेल में जानकारी।

अगर आपको दवाओं में है इंट्रेस्ट तो D Pharma कोर्स हैं आपके लिए बेस्ट है। इस समय तेजी से बढ़ने वाले सेक्टर्स में फार्मेसी और हेल्थ सेक्टर का नाम भी है। इसमें मेडिकल, पैरामेडिकल और इस फील्ड से जुड़े कारोबारों का बहुत ही तेजी से विकास हो रहा है। फार्मासूटिकल्स का क्षेत्र भी इसी से जुड़ा है, जिसमे D Pharma के बाद जॉब ही जॉब हैं। विभिन्न रोगों को ठीक कर सकने वाली उपयोगी दवाओं की खोज या डिवेलपमेंट में रुचि रखने वाले लोग के लिए डी फार्मेसी एक बेहतरीन कैरियर ऑप्शन हो सकता है। चलिये इस कोर्स और इसमे कैरियर की संभावनाओं के बारे में जानते हैं।

D Pharma Course Details in Hindi

डी फार्मा की फुल फॉर्म डिप्लोमा इन फार्मेसी है। यह फार्मेसी में मोस्ट पॉपुलर डिप्लोमा कोर्स है। इस कोर्स की अवधि 2 साल होती है। इस कोर्स को करने के बाद कैंडिडेट फार्मासिस्ट, मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव व मेडिसिन मैन्युफैक्चरिंग के फील्ड में शानदार कैरियर बना सकते हैं।

D Pharma Kaise kare

डी फार्मा कोर्स को करने के लिए उम्मीदवार को साइंस स्ट्रीम से 12वीं पास होना चाहिए। जिन स्टूडेंट्स ने 12th फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायलॉजी या फिजिक्स, केमेस्ट्री और मैथ सब्जेक्ट से की है, तो ये स्टूडेंट्स D Pharma कर सकते हैं। स्टूडेंट्स के 12वीं में 50 से 60% के बीच मार्क्स हों, तो ज्यादा अच्छा है। हालांकि इससे कम मार्क्स वाले स्टूडेंट्स को भी बहुत से प्राइवेट Pharmacy College में एडमिशन मिल जाता है।

D Pharma Course Ki Fees

इस कोर्स की फीस 45 हजार से लेकर 1 लाख प्रतिबर्ष के बीच होती है। लेकिन गवर्नमेंट कॉलेजों में फीस काफी कम होती है। प्राइवेट और गवर्नमेंट कॉलेजों की फीस में बहुत बड़ा अंतर होता है।

D Pharma Me Admission kaise len

डी फार्मा में एडमिशन आप डायरेक्ट भी ले सकते हैं और प्रवेश परीक्षा (Entrance Exam) के माध्यम से भी एडमिशन पा सकते हैं।

अगर आप गवर्नमेंट कॉलेज से D Pharma करना चाहते हैं तो यंहा पर आपको एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से एडमिशन मिलेगा। इसके लिए जरूरी है कि आप D Pharma के एंट्रेंस एग्जाम में आप पहले आवेदन करें, इसके बाद आपको इसकी परीक्षा देनी होगी। फिर मेरिट के आधार पर आपको एडमिशन मिलेगा।

प्राइवेट कॉलेजों में तो आपको बिना एंट्रेंस एग्जाम के ही Admission मिल जाएगा, लेकिन यंहा पर आपको काफी ज्यादा फीस चुकानी पड़ सकती है, जोकीं हर किसी के वश की बात नही है। चलिये D Pharma के एंट्रेंस एग्जाम के बारे में आपको बता देते हैं, जिनके जरिए आप गवर्नमेंट कॉलेजों में एडमिशन ले सकते हैं।

D Pharma Entrance Exam

डी फार्मा के लिए आप अपने राज्य में होने वाली स्टेट लेवल की परीक्षा में भाग ले सकते हैं। इसके अलावा तमाम गवर्नमेंट यूनिवर्सिटीज अपने यंहा D Pharma में एडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन करती है, जिनमे आप अप्लाई कर सकते हैं। इसके अलावा आप GUJCET, UPSEE, CET, GPAT, JEE PHARMACY, AU AIMEE, UPSEE, JEE POLYTECHNIC आदि के माध्यम से इसमे एडमिशन ले सकते हैं।

Career Scope in D Pharma Course

आज के समय मे डी फार्मा के स्टूडेंट्स के लिए फार्मेसी के फील्ड में जॉब के अवसरों की कमी नही है। उनके पास जॉब के भरपूर अवसर है। ऐसा इसलिए है क्योंकि D Pharma मेडिकल फील्ड से जुड़ा कोर्स है। वैसे भी आज के समय मे दवाओं की कितनी ज्यादा डिमांड है, ये तो हम सभी अच्छे से जानते हैं। इसलिए इस फील्ड में कैरियर के स्कोप को लेकर आप भ्रमित न हों।

इस कोर्स को करने के बाद में आप प्राइवेट हॉस्पिटल, ट्रामा सेंटर, नर्सिंग होम्स, क्लिनिक में जॉब कर सकते हैं। इसके अलावा आप सरकारी हॉस्पिटल्स, CHC और PHC, आर्मी हॉस्पिटल आदि गवर्नमेंट सेक्टर में भी जॉब कर सकते हैं।

इन सभी के अलावा आज के समय मे दवाओं का प्रोडक्शन बहुत ही तेजी के साथ हो रहा है, तो ड्रग मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों में भी आपके लिए जॉब के अवसर मिल सकते हैं। ये जो भी दवाएं फार्मेसी कंपनियों में बनाई जाती हैं तो इनकी सेल्स और मार्केटिंग के लिए मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव की नियुक्ति की जाती है। आज के समय मे अगर सबसे ज्यादा जॉब्स फार्मेसी में हैं तो वो मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव की पोस्ट है। हर कंपनी अपने प्रोडक्ट की ज्यादा से ज्यादा सेल्स और मार्केटिंग करना चाहती है, जिसके लिए फार्मेसी कंपनी आकर्षक सैलरी पैकेज पर मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव (MR) को हायर करती हैं।

इन सभी के अलावा गवर्नमेंट सेक्टर में भी समय- समय पर D Pharma के स्टूडेंट्स के लिए जॉब्स आती रहती हैं, इनमे भी आप अप्लाई कर सकते हैं।

आज के समय मे दवाओं के बिना जिंदगी सम्भव ही नही है, लगभग हर फैमिली में कोई न कोई सदस्य दवा का इस्तेमाल करता ही रहता है। क्योंकि आज के समय मे इतनी ज्यादा बीमारियां ही फैल रही हैं। इसलिए इन बीमारियों के इलाज के लिए दवाओं से संबंधित रिसर्च, मैन्युफैक्चरिंग, सेल्स एंड मार्केटिंग के फील्ड में जॉब ही जॉब है।

दूसरी तरह आज के समय मे हॉस्पिटल्स और क्लीनिक्स की भरमार है, यंहा पर भी D Pharma के कैंडिडेट को जॉब आसानी से मिल जाती है।

इस कोर्स की खास बात तो ये है कि इस कोर्स के बाद अगर आप जॉब नही करना चाहते हैं तो आप खुद का मेडिकल स्टोर या मेडिकल एजेंसी खोल सकते हैं, इतना ही नही अगर आपको दवाओं की सेल्स एंड मार्केटिंग की अच्छी समझ है और आप थोड़ा पैसा इन्वेस्ट कर सकते हैं तो अपनी फार्मेसी कंपनी भी शुरू कर सकते हैं। इस तरह से इस फील्ड में कैरियर स्कोप तो बेस्ट है, लेकिन आपको इस फील्ड को अच्छी जानकारी भी होनी चाहिए।

Job Sector after D Pharma

गवर्नमेंट हॉस्पिटल
प्राइवेट हॉस्पिटल
ड्रग मैन्युफैक्चरिंग
फार्मेसी कंपनी
फार्मा मार्केटिंग
सेल्स डिपार्टमेंट
मेडिकल स्टोर
मेडिकल एजेंसियों
मेडिसिन प्रोडक्शन
मेडिसिन रिसर्च
क्लिनिक्स
ट्रामा सेंटर्स
नर्सिंग होम

Salary after D Pharma Course

इस कोर्स को करने के बाद शुरुआत में कैंडिडेट को 10 से 15 हजार के बीच सैलरी मिल जाती है। जैसे- जैसे इस फील्ड में आपको अनुभव होता जाता है, उसी तरह आपकी सैलरी भी बढ़ती रहती है।

D Pharma College

दिल्ली फार्मास्युटिकल्स साइंस एंड रिसर्च यूनिवर्सिटी
गोवा कॉलेज ऑफ फार्मेसी
गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ फार्मेसी बेंगलुरु
बिहार कॉलेज ऑफ फार्मेसी
बीके मोदी गवर्नमेंट फार्मेसी कॉलेज राजकोट
गवर्नमेंट पालीटेक्निक देहरादून
आचार्य नरेन्द्रदेव कॉलेज ऑफ फार्मेसी गोंडा
विजडम स्कूल ऑफ मैनेजमेंट ऐहमदबाद
देवभूमि ग्रुप ऑफ इंस्टिट्यूट देहरादून
IFTM यूनिवर्सिटी मुरादाबाद
तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी,l मुरादाबाद
रुहेलखंड यूनिवर्सिटी बरेली
मंगलायतन यूनिवर्सिटी अलीगढ़
श्रीराममूर्ति मेडिकल कॉलेज बरेली
लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी
एमिटी यूनिवर्सिटी

आप आपको D Pharma Course Details in Hindi इसके बारे में जानकारी हो गई है, चलिये अब हम आपको D Pharma Course से संबंधित गूगल में सर्च किये जाने वाले सवालों के आंसर बताते हैं, जोकीं डी फार्मा कोर्स करने वाले स्टूडेंट्स के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हैं।

D Pharma kya hai?

डी फार्मा फार्मेसी में एक डिप्लोमा कोर्स होता है। जिसको 12वीं साइंस स्ट्रीम के स्टूडेंट्स कर सकते हैं और फार्मेसी व मेडिकल के फील्ड में कोर्स के बाद जॉब हासिल कर सकते हैं।

D Pharma कंहा से करना चाहिए?

वैसे तो आज के समय मे डी फार्मा के कॉलेजों की कमी नही है, लेकिन किसी भी फार्मेसी कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले ये जांच- पड़ताल जरूर कर लें, कि वो कॉलेज फार्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया से एप्रूव्ड है या नहीं। अगर नही है तो ऐसे कॉलेज में एडमिशन न लें। नही तो आपका पैसा और टाइम दोनो बर्बाद होंगे।

दूसरी ध्यान देने वाली बात ये है कि आप उस Pharmacy College में एडमिशन लें, जिसका प्लेसमेंट रिकॉर्ड अच्छा हो। वहां पर टीचिंग से संबंधित सारी फैसिलिटी उपलब्ध हों।

Kya D Pharma करना सही है?

कैरियर के लिहाज से तो डी फार्मा कोर्स काफी अच्छा है, सही त गलत आपके इंटरेस्ट और नॉलेज पर निर्भर करता है, कि कौन सा कोर्स आपके लिए सही है या गलत। अगर आपको फार्मेसी के फील्ड में रुचि है तो जरूर ही ये कोर्स आपके कैरियर के लिए बेहतरीन कैरियर ऑप्शन साबित होगा।

D Pharma और B Pharma दोनों में से कौन सा अच्छा कोर्स है?

दोनो ही अच्छे कोर्स हैं। दोनो ही कोर्स के बाद आप जॉब पा सकते हैं। लेकिन D Pharma एक डिप्लोमा कोर्स है और B Pharma एक डिग्री कोर्स है। इसलिए कुछ जगह पर जॉब के लिए B Pharma के कैंडिडेट की डिमांड की जाती है तो ऐसी स्थिति में बी फार्मा कोर्स अच्छा साबित होगा।

Kya D Pharma के बाद फार्मा क्लीनक खोल सकते हैं।

ऐसा नही है, फार्मेसी के स्टूडेंट्स किसी भी तरह का क्लीनिक नही खोल सकते हैं। वे सिर्फ फार्मासिस्ट के तौर पर हॉस्पिटल में जॉब कर सकते हैं। पिछले कुछ साल पहले फार्मेसी क्लीनिक को लेकर काफी अफवाहें उड़ी थीं।

गरीब स्टूडेंट्स D Pharma kaise kare

अगर आप गरीब फैमिली से हैं और डी फार्मा कोर्स करना चाहते हैं तो आपको गवर्नमेंट कॉलेजों में एडमिशन लेना चाहिए। गवर्नमेंट कॉलेजों में प्रवेश परीक्षा के माध्यम से एडमिशन मिलेगा। इसलिए जरूरी है कि आप मेहनत और लगन के साथ प्रवेश परीक्षा की तैयारी करें और पास करें। जिसके बाद आप सरकारी कॉलेज से गरीब स्टूडेंट्स भी इस कोर्स को कर सकते हैं। क्योंकि गवर्नमेंट कॉलेजों में फीस बहुत ही कम होती है।

डी फार्मा की 2 साल की फीस कितनी होती है?

इस पूरे कोर्स की फीस 90 हजार से लेकर 2 लाख के बीच होती है, हालांकि सरकारी कॉलेजों में फीस काफी कम होती है।

D Pharma के बाद किन पदों पर जॉब कर सकते हैं?

फार्मासिस्ट
मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव
सेल्स एंड मार्किटिंग ऑफिसर
क्वालिटी एनालिस्ट
प्रोडक्शन एग्जेक्युटिव
मेडिकल कंटेंट राइटर
सुपरवाइजर

D Pharma के एंट्रेंस एग्जाम में क्या पूंछा जाता है?

मैथमेटिक्स

Sets
Linear Inequality
Relation & Functions
Complex Number and Quadratic
Trigonometric Ratios & Functions
Equation
Principles of Mathematical Induction

केमेस्ट्री

Physical Chemistry
Organic Chemistry
Inorganic Chemistry

फिजिक्स

Units & Measurement
Work
Gravitation, Oscilation
Power & Energy
Laws of Motion
Motion in a straight line

बायलॉजी

Botany
Zoology

D Pharma सिलेबस

1st Year
औषध बनाने की विद्या I
फार्माकोग्नॉसी
फार्मास्युटिकल रसायन विज्ञान I
बायोकैमिस्ट्री क्लीनिकल पैथोलॉजी
स्वास्थ्य शिक्षा समुदाय फार्मेसी
मानव शरीर रचना विज्ञान शरीर विज्ञान

2nd Year
औषध बनाने की विद्या II
फार्माकोलॉजी विष विज्ञान
फार्मास्यूटिकल कैमिस्ट्री II
फार्मास्युटिकल न्यायशास्र
अस्पताल नैदानिक फार्मेसी
ड्रग स्टोर व्यापार प्रबंधन

D Pharma Karne ke Fayde

डी फार्मा की आज के समय मे काफी ज्यादा डिमांड है। इसलिए इसमे जॉब के भरपूर अवसर हैं। खास बात ये है डी फार्मा के बाद आप अपना खुद का स्वरोजगार भी कर सकते हैं।

D Pharma के बाद मेडिकल कंटेंट राइटर कैसे बनें?

मेडिकल और हेल्थकेयर के सेक्टर में कन्टेन्ट राइटर की काफी मांग रहती है। आज के समय में काफी ज्यादा मेडिकल इन्फॉर्मेशन देने वाली वेबसाइट और मेडिसिन की जानकारी देने वाली वेबसाइट चल रही हैं, जिनमे आप कन्टेन्ट राइटर के तौर पर जॉब कर सकते हैं। कन्टेन्ट राइटिंग, हाई पेइंग जॉब है। आप अपनी खुद की हेल्थ और मेडिसिन की जानकारी देने वाली वेबसाइट शुरू कर सकते हैं, अगर आपको इस फील्ड की अच्छी जानकारी है तो।

D Pharma के बाद जॉब कैसे मिलेगी।

अगर आप डी फार्मा के तुरंत बाद जॉब पाना है तो आप किसी प्रतिष्ठित फार्मेसी कॉलेज से ही D फार्मा करें, क्योंकि वँहा का प्लेसमेंट काफी अच्छा होता है और आप अगर पढ़ाई में अच्छे हैं तो कॉलेज से ही आपका प्लसमेन्ट हो सकता है। अगर कॉलेज से जॉब नही मिलती है तो D Pharma करने के बाद आप हॉस्पिटलस, ड्रग मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों में जॉब के लिए CV भेजें, इसके बाद आपका इंटरव्यू लिया जाएगा और आपको जॉब मिल जाएगी।

मुझे D Pharma करना चाहिए या B Pharma?

अगर आपके पास कम समय है तो आप D फार्मा करें, ये मात्र 2 साल का होता है। ये उन कैंडिडेट के लिए अच्छा कोर्स है जो कम पैसे और कम अवधि का कोर्स करके फार्मेसी के फील्ड में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं। अगर आपके पास टाइम और पैसा दोनो हैं तो आप B Pharma कर सकते हैं। ये चार साल का कोर्स होता है। इस कोर्स की फीस 1.5 लाख से लेकर 5 लाख के बीच होती है।

उम्मीद है D Pharma Course Details in Hindi ये लेख आपको पसंद आया होगा, क्योंकि इस लेख में मैंने D Pharma Course से संबंधित सारी जानकारी दी है, जोकीं आपके कैरियर के लिए काफी यूजफुल साबित होगी। अगर D Pharma Course से संबंधित आपके कोई भी सवाल हैं तो आप कमेंट के माध्यम से पूंछ सकते हैं। careerkaisebane.in पर विजिट करने के लिए धन्यवाद।

Leave a Comment