Electronic Media Kya hai in hindi

Electronic Media in hindi- आज की इस पोस्ट में हम इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के बारे में बतायेंगे। अगर आप Electronic Media kya hai इसके बारे में सही जानकारी चाहते हैं तो इस पोस्ट में आपको इसके बारे में डिटेल में सारी इन्फॉर्मेशन मिलेगी। मेरी यह पोस्ट उन लोगों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होगी जो लोग मीडिया के फील्ड में कैरियर बनाने के इच्छुक हैं, या फिर मीडिया के स्टूडेंट है। चलिये अब Electronic Media in hindi इसके बारे में जान लेते हैं।

Electronic Media kya hai in hindi

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया वह मीडिया है जिसमे खबरों या सूचनाओं या मनोरंजन की सामग्री को इलेक्ट्रिक और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की मदद से दर्शकों तक पहुचाई जाती है। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया कहलाता है। इसके अंतर्गत रेडियो, टेलीविजन, इंटरनेट मीडिया या डिजिटल, मल्टीमीडिया आते हैं।

बहुत से लोगों का यह भी क्वेश्चन रहता है कि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के टूल्स साधन क्या हैं? तो Electronic Media के टूल रेडियो, टेलीविजन, डिजिटल मीडिया और मल्टीमीडिया ही होंगे। बहुत से लोगो का प्रश्न होता है कि मीडिया के इस क्षेत्र में कैरियर कैसे बनाया जा सकता है। चलिये इसके बारे में भी जान लेते हैं।

Electronic Media Me Career kaise banaye

मीडिया के इस फील्ड में कैरियर बनाने की चाहत रखने वाले युवाओं को मीडिया से जुड़े कोर्स जैसेकि Mass Communication and Journalism कोर्स कर सकते हैं। फिलहाल मास कॉम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म में डिग्री और डिप्लोमा दोनो तरह के course उपलब्ध हैं। जिनको आप अपनी सुविधा के अनुसार 12वीं या ग्रेजुएशन के बाद में कर सकते हैं। Mass Communicatiom and Journalism में निम्न कोर्स विभिन्न संस्थानों द्वारा संचालित किए जाते हैं।

मैं जो आपको नीचे कोर्स बता रहा हूँ, इनमे से कोई सा भी कोर्स इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के फील्ड में जाने के लिए कर सकते हैं। लेकिन अगर आप Bsc Electronic Media, एमएससी इलेक्ट्रॉनिक, डिप्लोमा या पीजी डिप्लोमा इलेक्ट्रॉनिक मीडिया जैसे कोर्स करना बेहतर होगा। क्योंकि इन कोर्स में सिर्फ इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के बारे में ही सिर्फ पढ़ाया जाता है। जबकि मास कम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म कोर्स में तीनों मीडिया प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, डिजिटल मीडिया के बारे में जानकारी दी जाती है।

Mass Communicatiom and Journalism Course in Hindi

बीएससी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया

एमएससी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया

बीए इन जॉर्नलिज्म

एमए इन जॉर्नलिज्म

बीजेएमसी

एमजेएमसी

बीए मास कॉम्युनिकेशन

एमए मास कॉम्युनिकेशन

बीए इन ब्रॉडकास्ट जॉर्नलिज्म

एमए इन ब्रॉडकास्ट जॉर्नलिज्म

डिप्लोमा इन जॉर्नलिज्म

डिप्लोमा इन जॉर्नलिज्म एंड मास कॉम्युनिकेशन

डिप्लोमा इन इलेक्ट्रॉनिक मीडिया

पीजी डिप्लोमा इन मास कॉम्युनिकेशन एंड जॉर्नलिज्म

पीजी डिप्लोमा इन इलेक्ट्रॉनिक मीडिया

Electronic Media Course Me Job

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया कोर्स करने के बाद कैंडिडेट को टीवी न्यूज चैनल में एंकर, रिपोर्टर, वीडियो एडिटर, कैमरामैन के तौर में TV News Channel में जॉब कर सकते हैं। इसके अलावा आप फ़िल्म लाइन में भी जॉब कर सकते हैं। जंहा पर आप फिल्म डायरेक्टर, आर्ट डायरेक्टर, फ़िल्म स्क्रीनप्ले राइटर, सिनेमेटोग्राफर, साउंड इंजीनियर, डबिंग आर्टिस्ट, फ़िल्म प्रोडक्शन मैनेजर, वीडियो एडिटर इन सभी के तौर पर भी कैरियर बना सकते हैं।

इतना ही नही Electronic Media के स्टूडेंट्स सोशल मीडिया और डिजिटल मीडिया के फील्ड में कंटेंट राइटर या कॉपी राइटर या एडिटर के तौर पर भी काम कर सकते हैं।

रेड़ियो जॉकी का जोकीं रेडियो या FM रेडियो में काम करते हैं। इस कोर्स के बाद आप रेडियो जॉकी भी बन सकते हैं। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया कोर्स करने के बाद आपको मीडिया और राइटिंग का अच्छा नॉलेज हो जाता है तो इस तरह आप Youtube News चैनल भी बना सकते हैं।

आज के समय मे तो काफी ज्यादा यूट्यूब के न्यूज़ चैनल पॉपुलर हो चुके हैं। इस तरह के youtube चैनल से आप 50 हजार से लेकर 5 लाख से भी ज्यादा महीने में कमा सकते हैं। बस आपको मेहनत और धैर्य से काम करना होगा। लेकिन न्यूज़ के यूट्यूब चैनल के लिए आपके पास रिपोर्टर और विडियो एडिटर की टीम होनी चाहिए। इसके लिए आप ये करें कि आप अपने इलेक्ट्रॉनिक मीडिया कोर्स के साथियों के साथ मिलकर शुरू कर सकते हैं।

इसके अलावा आप न्यूज़ पोर्टल भी स्टार्ट कर सकते हैं। यूट्यूब चैनल और न्यूज़ पोर्टल पर आप एडसेंस या मीडिया डॉट नेट के विज्ञापन लगाकर अच्छी खासी इनकम कर सकते हैं। इसके अलावा आप अपने खुद के जैसेकि अस्पताल, स्कूल, शॉप, रेस्टोरेंट या अन्य तरह के भी एड लगा सकते हैं।

जिनपर आप अच्छा खासा चार्ज कर सकते हैं। एक अच्छा न्यूज़ पोर्टल आप 2 से 3 हजार में शुरू कर सकते हैं। अगर आपको नही पता है कि न्यूज़ पोर्टल कैसे शुरू करें तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। आजकल तो बिना मीडिया कोर्स किये सिर्फ 10+2 या ग्रेजुएशन किये लोग भी न्यूज़ पोर्टल से अच्छा पैसा कमा रहे हैं।

Electronic Media and Mass Communication Course fees

इस कोर्स की फीस गवर्नमेंट कॉलेज में तो 5 से 20 हजार रुपए प्रतिबर्ष के बीच मे होती है। अगर आप प्राइवेट कॉलेज से करते हैं तो वंहा पर 50 हजार से 1 लाख प्रतिबर्ष के बीच फीस होती है। किसी भी प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले अच्छी तरह जांच- पड़ताल कर लें। कि वंहा पर सारी सुविधाएं जैसेकि कैंपस प्लेसमेंट, वेल क्वालिफाइड टीचर, प्रॉपर लैब हैं या नही।

वंहा से पढ़ाई किये हुए स्टूडेंट्स किसी अच्छे मीडिया हाउस में जॉब मिली है या नही। क्योंकि आज के समय मे बहुत से मीडिया कॉलेज हैं, जोकीं विज्ञापन की मदद से लोगों को आकर्षित करते हैं। असल मे उनके पास अच्छी लैब और न ही अच्छे टीचर होते हैं। इसका खामियाजा स्टूडेंट्स को भुगतना पड़ता है। जिससे कि स्टूडेंट्स को जॉब नही मिल पाती है। इसलिए अच्छे कॉलेज से ही आप Course करें।

Electronic Media and Mass Communication Course Duration

बैचलर डिग्री जोकीं 12वीं के बाद होती है। इसकी अवधि 3 साल और डिप्लोमा कोर्स 2 साल का होता है। मास्टर डिग्री की बात करें तो यह ग्रेजुएशन के बाद होती है। इसकी अवधि 2 साल और पीजी डिप्लोमा की अवधि 1 साल होती है।

Best College for Mass Communication and Electronic Media

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कॉम्युनिकेशन दिल्ली

जामिया मिलिया इस्लामिया दिल्ली

दिल्ली यूनिवर्सिटी

माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी भोपाल

बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी

आंध्रा यूनिवर्सिटी

हैदराबाद यूनिवर्सिटी

पुणे यूनिवर्सिटी

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी

गुरुनानक देव यूनिवर्सिटी अमृतसर

पंजाब यूनिवर्सिटी पटियाला

महाराजा सयाजीराव यूनिवर्सिटी बड़ोदरा

गुरुघासीदास यूनिवर्सिटी छत्तीसगढ़

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी

बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी झांसी

गुरुकुल कांगिनी यूनिवर्सिटी हरिद्वार

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी

लखनऊ यूनिवर्सिटी

सीएसजेएमयू कानपुर

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से संबंधित पूछे जाने वाले प्रश्न

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में कैरियर स्कोप क्या है?

फिलहाल आज के समय मे इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में काफी अच्छा कैरियर स्कोप है। इतने ज्यादा टीवी चैनल हो चुके हैं। जंहा पर आप आसानी से जॉब पॉ सकते हैं, लेकिन इसके लिए आपके अंदर मीडिया से रीलेटेड टैलेंट होना चाहिए। इसके अलावा फिल्म मेकिंग के फील्ड में भी आप कैरियर बना सकते हैं, यह भी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का ही हिस्सा है। फिलहाल इस फील्ड में जॉब के काफी अच्छे चांस मौजूद हैं।

प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में विभिन्न साधन क्या है?

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के साधन की बात करें तो इसमे प्रमुख टीवी, रेडियो ही आते हैं। फिलहाल अब तो इसके अंतर्गत न्यू मीडिया यानी कि डिजिटल मीडिया भी शामिल किया जाने लगा है।

इलेक्ट्रॉनिक विज्ञापन क्या है?

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में प्रसारित किए जाने वाले विज्ञापन को इलेक्ट्रॉनिक विज्ञापन कहा जाता है।

इलेक्ट्रॉनिक रूप में कौन कौन से जनसंचार माध्यम का उपयोग किया जाता है?

इलेक्ट्रॉनिक रूप इसमे प्रमुख रूप से टीवी और रेडियो का उपयोग किया जाता है।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के लाभ

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के बहुत सारे लाभ होते हैं। इनसे सूचना या खबरे सुनी या देखी जा सकती हैं। न्यूज़पेपर की तुलना में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में खबरों का प्रसारण तेज होता हूं। यंहा तक कि किसी भी जरूरी खबर को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की मदद से लाइव भी देख सकते हैं।

जबकि प्रिंट मीडिया में ऐसा संभव नही होता है। प्रिंट के अंतर्गत न्यूज़पेपर और पत्रिकाएं आती हैं। इनमे आज की खबर कल दर्शकों तक पहुचती हैं। दूसरी बात ये है कि प्रिंट मीडिया में खबरों को पढ़ने के लिए पढ़ा लिखा होना जरूरी होता है। जबकी टीवी या रेडियो में खबर देखी और सुनी जा सकती है। इसके लिए पढ़ा लिखा होना जरूरी नही है।

फ्रेंड्स उम्मीद करते हैं कि Electronic Media in hindi या Electronic Media kya hai ये पोस्ट आपको पसन्द आयी होगी। अगर फिर भी आपके कोई सवाल हैं तो आप कमेंट करके पूंछ सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *