PGT Kya hai

PGT Kya hai: टीजीटी क्या होता है, टीजीटी कैसे करें, PGT के बाद कौन सी जॉब मिलती है? टीजीटी कैसे पास करें, कौन सी बुक्स पढ़ें, PGT की फीस कितनी होती है, आदि की डिटेल में जानकारी।

दोस्तों अगर आप पीजीटी के बारे में डिटेल में जानकारी चाहते हैं तो आपका हमारे ब्लॉग careerkaisebane.in पर स्वागत है। यंहा पर हम आपको PGT से जुड़ी हर जानकारी देंगे। जिससे आप इसके बारे में सबकुछ जान और समझ पाएंगे और PGT की जॉब पाने का सपना पूरा कर सकेंगे।

वर्तमान समय में लाखों युवा सरकारी टीचर बनने का सपना देखते हैं क्योंकि टीचर की नौकरी में उन्हें अच्छी सैलरी के साथ ही कई तरह की सुविधाएं व भत्ते भी मिलते हैं।

PGT Kya hai

पीजीटी की फुल फॉर्म पोस्ट ग्रेजुएट टीचर होती है। टीजीटी किसी भी केंद्रीय विद्यालय या ऐसे केंद्र सरकार द्वारा संचालित किए जाने वाले स्कूलों जैसे नवोदय विद्यालय, आर्मी पब्लिक स्कूलों में उच्च शिक्षा स्तर पर पढ़ाने के लिए योग्य होते हैं। यह कोई कोर्स नही होता है, बल्कि एक एग्जाम होता है, जिसको पास करने के बाद आप सरकारी टीचर बन जाते हैं।

PGT kaise kare

पीजीटी करने के लिए उम्मीदवार को सबसे पहले अपने पसंदीदा सब्जेक्ट में ग्रेजुएशन करना होगा। ग्रेजुएशन करने के बाद में बीएड करना होगा। बीएड करने के बाद में TET एग्जाम क्लियर करना होगा। जिसके बाद टीजीटी के लिए आप आवेदन कर सकते हैं।

आवेदन करने के बाद आपकी लिखती परीक्षा आयोजित की जाती है। जिसमें आपको अच्छे अंक प्राप्त करने की जरूरत होती है। इसके बाद इंटरव्यू लिया जाता है। इंटरव्यू के पश्चात सरकारी अध्यापक के पद पर चयन होता है।

पीजीटी टीचर माध्यमिक या उच्चतर माध्यमिक के छात्रों को पढ़ाते हैं।

PGT Ke Liye Qualification

उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं उत्तीर्ण होना चाहिए। इंटरमीडिएट में न्यूनतम 50% अंक उम्मीदवार के होने चाहिए।

उम्मीदवार के पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।

उम्मीदवार को किसी भी सब्जेक्ट में पोस्टग्रेजुएट होना चाहिए।

उम्मीदवार के पास किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से बी.एड की डिग्री या इसके समकक्ष की डिग्री होनी चाहिए।

आवेदक के पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर डिग्री होनी चाहिए।

पीजीटी के लिए उम्मीदवार की अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष है।

एक अच्छा पीजीटी टीचर बनने के लिए उम्मीदवार को अंग्रेजी और हिंदी दोनों पर अच्छी पकड़ होनी चाहिए।

PGT के बाद नौकरी

पीजीटी (PGT) के बाद उम्मीदवार उच्च विद्यालय में सरकारी अध्यापक बनने के योग्य हो जाते हैं और आप सरकारी अध्यापक बन सकते हैं। इसके बाद 10th और 12th कक्षा के छात्रों को आप पढा सकते हैं।

PGT Ke Baad Salary

पोस्ट ग्रैजएट टीचर (PGT) को 7वें वेतन आयोग के अनुसार 47,600 से लेकर 1,51100 का पे स्केल दिया जाता है।

PGT Fees

टीजीटी एग्जाम की फीस जनरल और ओबीसी के कैंडिडेट के लिए 700 रुपये होती है।

SC कैंडिडेट के लिए इसकी फीस 400 रुपये होती है।

ST कैंडिडेट के लिए 250 रुपये पीजीटी एग्जाम की फीस होती है।

EWS के लिए फीस 400 रुपये होती है।

इस फीस के अलावा सभी बर्ग के कैंडिडेट को 50 रुपये ऑनलाइन प्रोसेसिंग फीस का भी भुगतान करना होगा।

PGT की तैयारी कैसे करें?

आज के समय मे पीजीटी एग्जाम में कंपटीशन काफी ज्यादा बढ़ गया है। इसलिए इस परीक्षा को क्रैक करना थोड़ा कठिन होता है। यूपी पीजीटी परीक्षा में उम्मीदवारों को उस विषय के बारे में नॉलेज होना चाहिए जो वे चुन रहे हैं।

पीजीटी की तैयारी के लिए जरूरी है कि आप सबसे पहले आप इसके एग्जाम पैटर्न और सिलेबस को समझें।

सिलेबस के टॉपिक का खूब अच्छे से अध्ययन करें।

आपने जो भी मूल बिषय चुना है उसका गहन अध्धयन जरूरी है।

अपनी प्रैक्टिस का मूल्यांकन करने के लिए पीजीटी के पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों को सॉल्व करें

अपनी गलतियों और कमजोरियों को जानने के लिए टेस्ट सीरीज हल करें। इसमे समय की पाबंदी को भी समझें। दिए गए समय मे टेस्ट सीरीज को साल्व करने की कोशिश करें। इससे आपको टाइम मैनेजमेंट की समझ तो होगी ही और साथ ही आप ये जान पाएंगे कि आपकी किस सब्जेक्ट पर अच्छी पकड़ है और किस में आप कमजोर हैं।

यूपी पीजीटी इंटरव्यू राउंड 50 अंक का होता हैं। इंटरनेट पर उपलब्ध मॉक इंटरव्यू वीडियो देखें।

UP PGT सिलेबस (संबंधित विषय)

हिन्दी
अंग्रेज़ी
उर्दू
संस्कृत
नागरिकशास्र
गणित
भौतिक विज्ञान
इतिहास
भूगोल
अर्थशास्त्र
रसायन विज्ञान
समाज शास्त्र
कला
कृषि
मनोविज्ञान
शिक्षा शास्त्र
जीवविज्ञान
गृह विज्ञान
वनस्पति विज्ञान
संगीत
सैन्य विज्ञान
व्यापार
लॉजिक एंड रीजनिंग

General Awareness: करेंट अफेयर्स, इतिहास, संस्कृति, भूगोल, खेल, अर्थव्यवस्था, भारतीय संविधान, वैज्ञानिक अनुसंधान, सामान्य राजनीति

General English: क्रिया, क्रिया विशेषण, लेख, पढ़ने की समझ, वाक्यांश, त्रुटि सुधार, मुहावरे, विषय-क्रिया समझौता, काल, समानार्थी, वाक्य पुनर्व्यवस्था, विलोम, शब्दावली, अनदेखी मार्ग.

Quantitative Aptitude: समय, गति, दूरी, लाभ और हानि, प्रतिशत, धाराएं, नावें, कार्य, पाइप, औसत, उम्र पर प्रश्न, रुचि, डेटा व्याख्या आदि।

PGT Exam Pattern

PGT की परीक्षा लिखित मोड में ऑफलाइन आयोजित की जाती है।

प्रश्न वस्तुनिष्ठ बहुविकल्पीय (MCQ) पूंछे जाते हैं।

उम्मीदवारों को अपने उत्तर OMR शीट पर अंकित करने होंते हैं।

इस परीक्षा में कुल 125 MCQ पूछे जाते हैं, और प्रत्येक प्रश्न 3.4 अंकों का होता है।

इस परीक्षा की अवधि 2 घंटे होती है।

इसकी लिखित परीक्षा 425 अंकों की होती है।

इंटरव्यू 40 अंको का होता है।

स्पेशल क्वालिफिकेशन 25 अंक का होता है।

Faq:

अब आपको PGT kya hai और पीजीटी कैसे करें व अन्य इससे जुड़ी सारी जानकारी मिल गई है। चलिये अब आपको PGT से जुड़े अन्य महत्वपूर्ण सवालों के जबाब देने जा रहे हैं, जोकीं लोग काफी ज्यादा गूगल में सर्च किये जाते हैं।

क्या PGT कोर्स होता है?

काफी लोग ये जानते हैं कि TGT कोई कोर्स होता है, लेकिन असल मे ऐसा नही है। यह एक एग्जाम होता है। जो उच्च माध्यमिक विद्यालय में सरकारी अध्यापक बनने के लिए आयोजित की जाती है।

क्या बिना बीएड किये कर सकते हैं?

जी नही, कोई भी कैंडिडेट बिना बीएड किये इस एग्जाम में आवेदन नही कर सकता है। चूंकि पीजीटी के माध्यम से आप अध्यापक बनते हैं, इसलिए जरूरी है कि आपके पास बीएड की डिग्री या अन्य कोई समकक्ष डिग्री एजुकेशन में होनी चाहिए।

PGT के लिए कब अप्लाई कर सकते हैं?

आप ऐसे ही PGT के एग्जाम में अप्लाई नही कर सकते हैं। समय- समय पर सरकार के द्वारा इसकी वैकेंसी रिलीज की जाती है, तब आप इसमे अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिए आप न्यूज़पेपर पढ़ते रहें और साथ ही सरकारी रिजल्ट डॉट कॉम वेबसाइट से भी इसकी जानकारी पा सकते हैं।

PGT पास करने के बाद क्या सरकारी टीचर बन जाते हैं?

पीजीटी एग्जाम जो भी कैंडिडेट पास कर लेता है, उसके बाद उसका इंटरव्यू होता है। फिर इसके बाद उसका चयन किया जाता है।

क्या पीजीटी एग्जाम पास करना कठिन है?

हां पीजीटी एग्जाम कठिन होता है, लेकिन इतना भी नही, जितना आप समझते है। अगर आप मेहनत से सिस्टमेटिक तरीके से तैयारी करेंगे तो जरूर ही सफल होंगे।

PGT ki Full Form kya hai?

पीजीटी की फुल फॉर्म पोस्ट ग्रेजुएट टीचर होती है।

पीजीटी की परीक्षा में बैठने के लिए न्यूनतम आयु सीमा क्या है?

पीजीटी की परीक्षा में बैठने के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम आयु सीमा 21 वर्ष है।

पीजीटी की परीक्षा में बैठने के लिए अधिकतम आयु सीमा क्या है?

यूपी पीजीटी की परीक्षा में बैठने की अधिकतम आयु सीमा आधिकारिक अधिसूचना में परिभाषित नहीं की गई है। उम्मीदवार अतिरिक्त विवरण के लिए ऑफिसियल नोटिफिकेशन की जांच कर सकते हैं।

क्या यूपी पीजीटी परीक्षा के लिए किसी भी प्रकार का टीचिंग अनुभव आवश्यक है?

नहीं, यूपी पीजीटी परीक्षा के लिए अनुभव की आवश्यकता नहीं है।

क्या यूपी पीजीटी परीक्षा के लिए अटेम्प्ट की संख्या की कोई ऊपरी सीमा है?

जी नहीं, पीजीटी की परीक्षा के लिए प्रयासों की संख्या की कोई ऊपरी सीमा नहीं है। चाहें जितनी बार आप इस एग्जाम को दे सकते हैं।

पीजीटी के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए?

PGT परीक्षा के लिए अभ्यर्थी के पास 50 प्रतिशत अंकों के साथ पोस्ट ग्रेजुएट की डिग्री होनी चाहिए। जिस विषय से वह पीजीटी एग्जाम देने जा रहा है और साथ ही इसके पास बीएड की डिग्री भी होनी चाहिए।

पीजीटी के लिए बीएड जरूरी है क्या?

हां पीजीटी के लिए बीएड और पोस्ट ग्रेजुएट की डिग्री जरूरी है।

पीजीटी की सैलरी कितनी होती है?

पोस्ट ग्रैजएट टीचर (PGT) को 7वें वेतन आयोग के अनुसार 47,600 से लेकर 1,51100 का पे स्केल का वेतन दिया जाता है।

PGT, टीजीटी और PRT क्या है?

पीआरटी प्राथमिक स्तर के शिक्षकों के लिए पदनाम है, जबकि टीजीटी प्रशिक्षित स्नातक शिक्षकों के लिए पदनाम है और वंही पीजीटी स्नातकोत्तर शिक्षकों के लिए है पदनाम है।

पीजीटी और टीजीटी में क्या अंतर है?

टीजीटी (Trained Graduate Teacher) परीक्षा में अप्लाई करने के लिए उम्मीदवार को ग्रेजुएट के साथ बीएड होना अनिवार्य है और वहीं पीजीटी (Post Graduate Teacher) की परीक्षा के लिए उम्मीदवार को पोस्ट ग्रेजुएट के साथ में बीएड की डिग्री होना अनिवार्य है।

उम्मीद है PGT kya hai ये पोस्ट आपको पसंद आई होगी, क्योंकि यंहा पर मैंने PGT से जुड़ी सारी जानकारी दी है। जोकीं आपके लिए काफी यूजफुल साबित होगी।

Leave a Comment