जॉर्नलिस्ट (Patrakar) कैसे बने। Journalist kaise bane

Journalist kaise bane- आज के समय मे बहुत से लोग मीडिया की चकाचौंध को देखते हुए पत्रकार (Journalist ) बनने की सोचते हैं। अगर आप भी एक अच्छे पत्रकार बनना चाहते हैं, तो आप मेरी इस पोस्ट को जरूर पढ़ें। जिससे आपको Media इंडस्ट्री यानी कि Journalist kaise bane इसकी सही तरह से जानकारी मिल जाएगी।

अभी आप इस फील्ड में आने की सोच रहे हैं, इसलिए आपके लिए यही अच्छा होगा कि आप पहले इसके बारे में अच्छी जानकारी एकत्र कर लें । जिससे आप आसानी से पत्रकारिता (Journalism) में कैरियर बना सकेंगे।

कुछ लोग बाहरी दिखावा जैसे पत्रकार का रौब, रुतवा, और उसकी समाज मे पहचान, इज्जत और ग्लैमर को देखकर इस फील्ड में आ जाते है। लेकिन फिर बाद में असफलता ही हाथ लगती है। इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए मैंने इस आर्टिकल को लिखा है। इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा कि आप

Journalist kaise bane


बहुत से लोग पत्रकार बनने के लिए कंही से भी पत्रकारिता का कोर्स कर लेते हैं। इसका नतीजा ये होता है कि वे बाद में इस फील्ड में नौकरी भी नही पाते हैं। इसलिए आप ऐसे ही उल्टे- सीधे कॉलेज से पत्रकारिता कोर्स (Journalism course) न करें। नही तो आपका भविष्य और पैसा दोनो बर्बाद होंगे।


नीचे पोस्ट में मैं आपको ये भी बताउंगा की आप कंहा से पत्रकारिता यानी कि जर्नलिज्म का कोर्स करें और कौन सा कोर्स करना होगा। जर्नलिज्म कोर्स में कितना खर्चा होगा। journalism में कैरियर स्कोप क्या है। इस कोर्स को करने के बाद कैसे मिलेगी नौकरी। स्टेप by स्टेप आपको हर जानकारी इस पोस्ट में मिलेगी। जिससे आप एक अच्छे पत्रकार बन सकें।


Career Scope In Journalism


सबसे पहले मैं आपको पत्रकारिता में कैरियर स्कोप के बारे में बता दूं। Journalism में Career स्कोप की बात करें तो वर्तमान समय मे जर्नलिज्म यानि कि पत्रकारिता में बहुत ही अच्छा कैरियर बना सकते है। आज के समय मे दिन- प्रतिदिन नए- नए TV Chanell और न्यूज़पेपर लांच हो रहे हैं। ये सभी न्यूज़ चैनल हर बड़े शहर में अपने journalist नियुक्त करते हैं। इसलिए इनमें आप नौकरी पा सकते हैं। 


इनके अलावा आप पत्र-पत्रिकाओं में भी जॉर्नलिस्ट के तौर पर अपनी सेवाएं दे सकते हैं।
इस समय सबसे ज्यादा बोलबाला online media का है। इसको Digital media या न्यू मीडिया भी कहा जाता है।

इसके अंतर्गत न्यूज़ पोर्टल, न्यूज़ वेबसाइट आती हैं। आज के दौर में हर दिन लगभग एक new sportal लांच होता है। इन न्यूज़ पोर्टल में आप बहुत ही आसांनी से नौकरी पा सकते है।

ये भी पढ़ें –टीवी एंकर कैसे बने

न्यूज पोर्टल बढ़ने का कारण ये है कि इस media के माध्यम में खर्च बहुत कम होता है। कोई भी मात्र 10 हजार में ही वेबसाइट या न्यूज़ पोर्टल डिज़ाइन करके इसको शुरू कर सकता है। इसमे खर्च बहुत कम होता है। आजकल तो हर News Channel, पत्र- पत्रिकाओं और Newspaper भी अपना न्यूज़ पोर्टल भी चलाते है। जिनमे आप नौकरी तलाश सकते हैं।

इन सभी के अलावा आप सरकरीं न्यूज़ चैनल, मीडिया हाउस में भी नौकरी कर सकते हैं।
इस प्रकार Electronic media हो या print media या Online media इन सभी मे जॉर्नलिस्ट की काफी डिमांड रहती है। अगर आप मे टैलेंट है तो आपको किसी अच्छे चैनल में नौकरी के लिए ज्यादा भटकना नही पड़ेगा।

  • Electronic media – इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में News channel आते हैं।
  • Print Media- इसमे न्यूज़पेपर, पत्र- पत्रिकाये आती हैं।
  • Online Media- ऑनलाइन मीडिया में न्यूज़ पोर्टल, वेबसाइट आते हैं।


Journalist बनने के लिए कोर्स-


जॉर्नलिस्ट या पत्रकार बनने के लिए आप डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन, बैचलर इन मास कम्युनिकेशन, पीजी डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन, मास्टर इन मास कम्युनिकेशन, डिप्लोमा इन जर्नलिज्म या जर्नलिज्म में डिग्री कोर्स भी कर सकते हैं।


Journalism course-
  • डिप्लोमा कोर्स-


डिप्लोमा इन जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन, डिप्लोमा इन जर्नलिज्म, डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन, डिप्लोमा इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म , डिप्लोमा इन वेब मीडिया या ऑनलाईन मीडिया, डिप्लोमा इन इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, डिप्लोमा इन प्रिंट मीडिया

  • डिग्री कोर्स-


बीए इन मास कम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म, बीए इन जर्नलिज्म, बीए इन मास कम्युनिकेशन, बीएससी इन मास कम्युनिकेशन, एडवरटाइजिंग एंड जर्नलिज्म, बैचलर इन जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन,बैचलर इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म

  • पीजी डिप्लोमा कोर्स


पीजी डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म, पीजी डिप्लोमा इन जर्नलिज्म, पीजी डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन, पीजी डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन, एडवरटाइजिंग एंड जर्नलिज्म, पीजी डिप्लोमा इन जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन, पीजी डिप्लोमा  इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म

  • मास्टर डिग्री कोर्स-

मास्टर इन मास कम्युनिकेशन, मास्टर इन जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन ,एमए इन मास कम्युनिकेशन, एमएससी मास कम्युनिकेशन


Journalism कोर्स के लिए योग्यता-


जर्नलिज्म कोर्स करने के लिए आप किसी भी स्ट्रीम से 12वीं पास हों। इसके बाद आप जर्नलिज्म में डिप्लोमा या डिग्री कोर्स कर सकते हैं।


पत्रकारिता में मास्टर डिग्री के लिए कुछ कॉलेज में एडमिसन के लिए आप जर्नलिज्म में बैचलर डिग्री मांगी जाती है। वंही कुछ यूनिवर्सिटी और कॉलेज में बीए या बीएससी के बाद में मास्टर डिग्री कोर्स कर सकते हैं।


मास्टर डिग्री करने के बाद आप एमफिल और पीएचडी करके टीचिंग के फील्ड में भी जा सकते हैं।
Journalism (पत्रकारिता) कोर्स कंहा से करें-अगर आपको जर्नलिज्म में अपना उज्ज्वल भविष्य बनान है तो आप पत्रकारिता कोर्स किसी अच्छे और जाने माने कॉलेज से इस कोर्स को करना चाहिए।

क्योंकि आज के समय मे बहुत से ऐसे पत्रकारिता के कॉलेज है जंहा पर जर्नलिज्म कोर्स कराये जाते हैं, लेकिन उन कॉलेज में न तो इतनी फैसिलिटी होती है कि वे स्टूडेंट्स को प्रैक्टिकली जानकारी दे पाते है।

न ही उनको नौकरी के लायक बना पाते है। इसलिए किसी भी कॉलेज में एडमिसन लेने से पहले आप वंहा पर फैसिलिटी और कैंपस प्लेसमेंट के बारे में जरूर जाने

 अगर आपको अच्छा पत्रकार बनना है तो आप किसी गवर्नमेंट कॉलेज या यूनिवर्सिटी से मास कम्युनिकेशन का कोर्स करें या फिर बहुत से न्यूज़ चंनेल्स के भी media कॉलेज है।

आप वंहा से भी इस कोर्स को कर सकते है क्योकि इन जगहों पर आपको प्रैक्टिकल और इंडस्ट्री का नॉलेज भी मिलेगा। जो आगे आपको नौकरी पाने में मदद करेगा।अधिकांश लोग इन दिनों में जर्नलिज्म कोर्स करके बेरोजगार घूम रहे है।

इसका कारण यही है कि उनमें पत्रकारिता का नॉलेज उस तरह का नही है, जिस तरह की अच्छे पत्रकार बनने के लिए आवश्यक होती है।इसलिए अच्छे कॉलेज से ही जर्नलिज्म का कोर्स करें। यंहा पर मैं आपको कुछ ऐसे कॉलेज के बारे में बताऊंगा जोकि पत्रकारिता के काफी अच्छे कॉलेज हैं।


Best Journalism College in India

  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन, दिल्लीभारतीय विद्या भवन, दिल्ली

  • जामिया मिलिया इस्लामिया, दिल्ली

  • दिल्ली यूनिवर्सिटी

  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी

  • इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, दिल्ली

  • माखन लाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी, भोपाल

  • गुरुनानक देव यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़

  • चंडीगड़ यूनिवर्सिटी

  • गुरु घासीदास यूनिवर्सिटी, बिलासपुर छत्तीसगढ़

  • सिम्बोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन, पुणे

  • व्हिसलिंग वुड्स इंटरनेशनल, मुंबई

  • छत्रपति शाहूजी महाराज यूनिवर्सिटी, कानपुर

  • लखनऊ यूनिवर्सिटी

  • इलाहाबाद यूनिवर्सिटी

  • MJP रुहेलखंड यूनिवर्सिटी, बरेली

  • एमिटी यूनिवर्सिटी

  • एपीजे यूनिवर्सिटी

  • ISOMES इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन, दिल्ली

  • NRAI इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन, दिल्ली

  • RK फ़िल्म एंड मीडिया एकेडमी, दिल्ली

  • जागरण इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन, दिल्ली

  • बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी, झांसी

  • लेडी श्रीराम कॉलेज, नही दिल्ली

  • एशियन एकेडमी ऑफ फ़िल्म एंड टेलीविजन, नोयडा

  • मणिपाल यूनिवर्सिटी, मणिपाल

  • हैदराबाद यूनिवर्सिटी

  • मनोरमा स्कूल ऑफ कम्युनिकेशन, केरल


इनके अलावा भी अन्य अच्छे गवर्नमेंट और प्राइवेट मीडिया कॉलेज हैं, जंहा से आप जर्नलिज्म कोर्स करके पत्रकारिता में कदम रख सकते हैं।

Fees –
पत्रकारिता (Journalism) कोर्स की फीस-अगर आप जर्नलिज्म कोर्स की सरकरीं कॉलेज या यूनिवर्सिटी से करते है, तो इसकी फीस बहुत ही कम होती है। ये फीस 8 हजार से 15 हजार रुपये प्रतिबर्ष के बीच हो सकती है।


प्राइवेट कॉलेज में इस कोर्स की फीस 50 हजार से लेकर 1.20 लाख प्रतिबर्ष भी हो सकती है। आगर आप ज्यादा फीस देने में सक्षम नही है, तो आपके लिए बेहतर होगा कि आप जर्नलिज्म कोर्स को सरकरीं कॉलेज से करें।


जर्नलिज्म कोर्स में एडमिशन कैसे मिलता है?


सरकरीं कॉलेज में एडमिसन प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होता है। वंही कुछ सरकारी यूनिवर्सिटी में मेरिट के आदहर पर भी एडमिसन मिल जाता है। प्राइवेट संस्थानों में प्रवेश डायरेक्ट भी हो जाता है।


जॉर्नलिस्ट के लिए आवश्यक स्किल्स-


अच्छा लिखने की क्षमता
भाषा पर अच्छी पकड़ होना आवश्यक है।
न्यूज़ रिपोर्टिंग
न्यूज़ राइटिंग
न्यूज़ एडिटिंग
टाइपिंग
कंप्यूटर नॉलेज
न्यूज़ सूंघने की क्षमता
न्यूज़ की समझ
विश्लेषण करने की क्षमता
निडर ( किसी के दबाव में काम न करें)
साहसी और ईमानदार
विषम परिस्थितियों में काम करने की क्षमता
समय का पाबंद
फोटोग्राफी
न्यूज़ शोर्स बनाने की योग्यता
करेंट मुद्दों की जानकारी

पत्रकार (Journalist) के कार्य-


एक पत्रकार का काम बहुत ही चुनौतीपूर्ण होता है। उसको टेररिस्ट अटैक, बढ़, तूफान,आदि की रिपोर्टिंग करनी होती है। मीडिया सरकार के काम- काज पर भी नजर रखती है।

एक पत्रकार के मुख्य कार्य न्यूज़ एकत्र करने के लिए फील्ड पर जाना होता है। फिर उस न्यूज़ को कंप्यूटर पर लिखना होता है। जिसके बाद वह न्यूज़, समाचार, टेलीविजन, रेडियो, न्यूज़ पोर्टल के माध्यम से हम लोगो तक पहुचती है। एक न्यूज में कैमरामैन, फोटोग्राफर, एडिटर आदि का योगदान होता है।


जॉर्नलिस्ट की सैलरी एक आम जॉर्नलिस्ट को शुरुआती सैलेरी 8 हजार से 20 हजार रुपये प्रतिमाह तक मिल सकती है। वो कैंडिडेट के टैलेंट पर निर्भर करता है। अनुभव होने के बाद आपको लाखो रुपये सैलेरी मिल सकती है।


पत्रकारिता कोर्स करने के बाद नौकरी कंहा ढूढे-


अक्सर लोग पत्रकारिता (journalism) कोर्स करने के बाद ये नही समझ पाते है कि उनको नौकरी कैसे मिलेगी और नौकरी के लिए कंहा- कंहा अप्लाई करना चाहिए। जर्नलिज्म कोर्स करने के बाद आपको किसी अच्छे मीडिया हाउस में इंटर्नशिप करनी चाहिए।

अगर आपको Electronic media में जाना है तो आप किसी न्यूज़ चैनल में इंटर्नशिप करें। प्रिंट मीडिया में अगर आप नौकरी करना चाहते है, तो आप किसी अच्छे न्यूज़पेपर में इंटर्नशिप करें। अगर आप वेब मीडिया में कैरियर बनाना चाहते हैं, तो आप किसी न्यूज़ पोर्टल में इंटर्नशिप करें।


अक्सर लोग यही गलती कर देते है कि उनको जनन टी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में है और इंटर्नशिप प्रिंट मीडिया में कर लेते है। तो आप ये गलती मत करना।


इंटर्नशिप हमेशा अच्छे मीडिया हाउस में ही करें और मेहनत और ईमानदारी से काम करें। वो इसलिए अगर आप अच्छा काम करते हैं, तो आपको इंटर्नशिप के दौरान वही मीडिया हाउस अपने यहां नौकरी दे देते हैं। इसलिए मेहनत और लगन से अपने काम मे मन लगाएं।


 क्या न करें-

अगर आप इस क्षेत्र में ग्लैमर को देखकर आ रहे हैं, तो आप ऐसा बिल्कुल न करें। अगर आपके अंदर पत्रकारिता के प्रति जुनून है तभी इस फील्ड में कदम रखे। नही तो आपका पैसा और समय दोनों बर्बाद होंगे। वो इसलिए क्योकि पत्रकारिता करना आसान नही है।

यंहा  पर आपकी जान जोखिम में रहती है। आपको बड़े- बड़े क्रिमिनल डाकू, बेइमान और भस्टाचारी नेताजी के खिलाफ भी लिखना होता है। आपको भयंकर सर्दी, बाढ़, आदि कठिन परिस्थितियों में काम करना पड़ सकता है।

इसलिए अगर आप मानसिक और शारिरीक दोनो रुप से तैयार हैं, तभी इस फील्ड में कदम रखे।कुछ journalist ऐसे भी होते हैं, जो लोग रुपये लेकर न्यूज़ को दवा देते है। ऐसा बिल्कुल न करें। मीडिया समाज का आईना है। समाज में ब्याप्त भस्टाचार को उजगार करने की आपकी नैतिक जिम्मेदारी है। नही तो एक दिन लोगों का आपसे भरोसा हट जाएगा।


Also Read


एक्टर कैसे बने
डायरेक्टर कैसे बने
फ़िल्म स्क्रिप्ट राइटर कैसे बने
एडवरटाइजिंग में कैरियर कैसे बनाये
टीवी एंकर कैसे बने
बैंक PO कैसे बने
नेचुरोपैथी डॉक्टर कैसे बने
सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने
फिल्म डायरेक्टर कैसे बने
मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव (MR) कैसे बने
वीडियो एडिटर कैसे बने
वॉलीवुड सिंगर कैसे बने
वॉइस ओवर आर्टिस्ट कैसे बने

5 thoughts on “जॉर्नलिस्ट (Patrakar) कैसे बने। Journalist kaise bane”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *