D.El.Ed Course details in hindi

आज के इस आर्टिकल में हम आपको D.El.Ed Course details in hindi इसके बारे में बताएंगे। अगर आप इस कोर्स को करना चाहते हैं तो इस आर्टिकल में इस डीएलएड से जुड़ी हर जानकारी मिलेगी। जिससे आपको ये पता चल जाएगा कि ये कोर्स करना चाहिए या नही।

इसके साथ ही इसमे एडमिशन कैसे मिलेगा और इसकी फ़ीस कितनी होती है। डीएलएड करने के बाद कंहा- कंहा जॉब कर सकते हैं। इन सभी के बारे में डिटेल में जानकारी मिलेगी। D.El.Ed Course kya hai इसके बारे में स्टेप बाई स्टेप सम्पूर्ण जानकारी इस लेख में प्रदान करेंगे। चलिये सबसे पहले D. El. Ed kya hai इसके बारे में जान लेते हैं।

D.El.Ed Course details in Hindi

डीएलएड की फुल फॉर्म डिप्लोमा इन एलीमेंटरी एजुकेशन होती है। ये दो बर्ष का टीचिंग में डिप्लोमा कोर्स होता है, जिसमे 4 सेमेस्टर होते हैं। D.El.Ed. course उन कैंडिडेट के लिए अच्छा कैरियर के विकल्प है, जो लोग टीचर बनना चाहते हैं या टीचिंग में प्रोफेशनल कैरियर बनाना चाहते हैं। यह बहुत ही पॉपुलर टीचर सेक्टर का डिप्लोमा कोर्स है। तमामं स्टूडेंट्स डीएलएड कोर्स को प्राथमिकता देते हैं, क्योंकि इसमे कैरियर काफी ब्राइट नजर आता है।

D.El.Ed Course kaise kare

इस कोर्स को करने के लिए कैंडिडेट को किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुयेशन कम से कम 50% अंकों से होना चाहिए। जिसमें आरक्षित वर्ग के उम्मीदवार को छूट भी मिलती है। इसके बाद कैंडिडेट गवर्नमेंट या प्राइवेट मान्यता प्राप्त संस्थान से डीएलएड कर सकते हैं।

D.El.Ed Me Career Scope kya hai?

डीएलएड टीचर ट्रेनिंग में डिप्लोमा कोर्स है। टीचिंग से संबंधित होने के कारण इसमे कैरियर स्कोप भी काफी अच्छा है। इसकी वजह यही है कि आज के समय मे शिक्षा ही सबकुछ है। हर कोई अपने बच्चों की पढ़ाई पर विशेष ध्यान दे रहा है। जिस वजह से स्टूडेंट्स की संख्या बढ़ रही है। स्टूडेंट्स की संख्या में इजाफा होने के कारण नए- नए स्कूल्स भी खुल रहे हैं। इस कारण इन स्कूल्स में टीचर की डिमांड भी रहती हैं।

टीचिंग के प्राइवेट सेक्टर में ही नही, बल्कि गवर्नमेंट टीचर के तौर पर भी आप जॉब कर सकते हैं। सरकार भी शिक्षा को सर्वोपरि मानती है, इसलिए समय- समय मे सरकारी टीचर की वैकेंसी भी निकलती रहती हैं। जिनमे अप्लाई करके आप सरकारी टीचर भी बन सकते हैं।

डीएलएड कोर्स करने के बाद में आप प्राइवेट स्कूल्स, गवर्नमेंट स्कूल्स में तो टीचर के तौर पर जॉब कर ही सकते है, बल्कि विभिन्न ऑनलाइन टीचिंग संस्थानो, कोचिंग में भी जॉब कर सकते हैं। आप विभिन्न स्कूलों में काउंसलर के तौर पर भी जॉब कर सकते हैं। आजकल अनेक संस्थानो में ऑनलाइन क्लासेज भी चलाई जाती हैं तो आप इन संस्थानों और एजुकेशनल वेबसाइटों के लिए कंटेंट राइटर का भी काम कर सकते हैं।

इस तरह से D.El.Ed Course स्कोप तो अच्छा है, लेकिन जॉब तभी मिल पाएगी, जब आप अपने सब्जेक्ट में एक्सपर्ट होंगे। आप देखते होंगे कि बहुत सारे लोग इस कोर्स को करने के बाबजूद भी बेरोजगार हैं। ऐसा इसलिए है कि उनको कुछ आता तो है नही, इसलिए वे TET Exam और CTET एग्जाम पास कर पाते हैं। जो लोग मेहनत से स्टडी करते हैं तो वे लोग इन एग्जाम को पास करके सरकारी अध्यापक भी बन जाते हैं।

इस फील्ड में अगर आपकी अपने सब्जेक्ट पर अच्छी पकड़ है तो आपको अच्छी- खासी जॉब मिल सकती हैं। कुछ लोगो यही सोंचते है डीएलएड करने के बाद में सिर्फ सरकारी नौकरी ही अच्छी है, ऐसा नही है। अगर आपके पास टैलेंट हैं तो प्राइवेट स्कूल्स में भी आप सरकारी नौकरी की तरह सैलरी पा सकते हैं। इस कोर्स के बाद में खुद का स्कूल भी खोल सकते हैं।

D.El.Ed Course Admission Process

डीएलएड में एडमिशन के लिए सबसे पहले तो आपको आवेदन करना होगा। इसके लिए प्रतिबर्ष मई से जून के बीच मे आवेदन आते हैं। जिसमे आपको अप्लाई करना होगा। इसके बाद में सभी कैंडिडेट की मेरिट तैयार की जाती है। इसके बाद फिर मेरिट के आधार पर एडमिशन मिल जाता है।

जिन कैंडिडेट के 70 से 80% के बीच मार्क्स होते हैं, उनका सेलेक्शन आसानी से हो जाता है। क्योंकि इसमे मेरिट के बेस पर एडमिशन मिलता है तो जाहिर सी बात है, कि जिनमे मार्क्स ज्यादा होंगे, उनको पहले प्राथमिकता दी जाती है। इसके बाद कम मार्क्स वाले कैंडिडेट को, अगर सीट बचती हैं तो।

D.El.Ed Course Fees

इस कोर्स की फीस सरकारी कॉलेज में 5 से 6 हजार के बीच मे होती है। लेकिन भिन्न- भिन्न स्टेट्स में इसकी फीस कम या ज्यादा हो सकती हैं। प्राइवेट कॉलेज में 40 से 50 हजार के बीच प्रतिबर्ष फ़ीस होती है।

D.El.Ed के बाद सरकारी टीचर कैसे बनें?

सबसे पहले आप डीएलएड को पास करें। इसके बाद में इसके बाद आपको TET और CTET का एग्जाम पास करना होगा, जोकीं प्रतिबर्ष आयोजित किया जाता है। फिर इसके बाद मेरिट के आधार पर टीचर्स की नियुक्ति होती है।

D.el.ed और B.ed में क्या अंतर है?

D.El.Ed प्रारंभिक शिक्षा में डिप्लोमा कोर्स है। इसके माध्यम से आप PRT शिक्षक (क्लास 1-5 )की जॉब कर सकते हैं। वंही B.Ed एक बैचलर डिग्री कोर्स है। इसमे आप TGT/PGT के लिए भी आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा बीएड पीआरटी स्तर तक भी मान्य है।

D.El.Ed का सिलेबस क्या होता है?

बच्चों का विकास

प्राथमिक के लिए गणित शिक्षा

शिक्षा, समाज

अंग्रेज़ी

समकालीन समाज

कार्य एवं शिक्षा

अनुभूति, सामाजिक-सांस्कृतिक संदर्भ

शिक्षक पहचान और स्कूल संस्कृति

पर्यावरण अध्ययन की शिक्षाशास्त्र

विविधता और शिक्षा

स्कूल स्वास्थ्य और शिक्षा

नेतृत्व और परिवर्तन

ललित कला और शिक्षा

प्रशिक्षुता

D.El.Ed और B.ed दोनो में से कौन सा कोर्स अच्छा है?

दोनो ही कोर्स अच्छे हैं। अंतर सिर्फ इतना ही डीएलएड डिप्लोमा कोर्स होता है और बीएड बैचलर डिग्री कोर्स है। डीएलएड के बाद आप सिर्फ प्राइमरी स्कूलों में टीचर बन सकते हैं। वंही बीएड के बाद में आप जूनियर हाई स्कूल में टीचर बन सकते हैं और इसके साथ ही प्राइमरी स्कूलों में भी टीचर बन सकते हैं। इस तरह बीएड में डीएलएड से कुछ ज्यादा अवसर होते हैं।

D.El.Ed और BTC में क्या अंतर है?

उत्तर प्रदेश ने अब दो वर्षीय बेसिक टीचिंग सर्टिफिकेट (बीटीसी) कोर्स का नाम डिप्लोमा इन एलीमेंटरी एजुकेशन (डीएलएड) कर दिया है। इस तरह बीटीसी और डीएलएड में कोई अंतर नही है। पहले कभी डीएलएड को ही बीटीसी के नाम से जाना जाता था। अब बस इसका नाम बदल दिया गया है।

D.El. Ed कोर्स किस कॉलेज से करें।

डीएलएड में डायरेक्ट एडमिशन नही मिलता है। जब इस कोर्स के ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये जाते हैं तो आपको आवेदन करना होता है। इसके बाद में मेरिट तैयार की जाती है। फिर मेरिट के आधार पर काउंसिलिंग होती है। जिसके बाद आपको एडमिशन मिल जाता है। फिलहाल आप अपने जिले के किसी भी डीएलएड कॉलेज से इस कोर्स को कर सकते हैं।

उम्मीद है कि D.El.Ed Course details in hindi ये पोस्ट आपको पसन्द आयी होगी, क्योंकि इस पोस्ट में मैंने D.El.Ed kya hai और इसको कैसे करें इसके बारे में डिटेल में बताया है, जोकीं आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होगा। careerkaisebane.in पर विजिट करने के लिए धन्यवाद।

3 thoughts on “D.El.Ed Course details in hindi”

  1. Are there any other options available to become a teacher? I’ve done P.H.D from the University of Allahabad and am willing to become a professor.

    Is UGC NET exam a good option to become an assistant professor?

    Reply

Leave a Comment