Doctor kaise bane

Doctor kaise bane in hindi- आज के समय मे डॉक्टर की काफी ज्यादा अहमियत है। यह एक ऐसा प्रोफेशन हैं, जिसमे भरपूर पैसा है और साथ मे दूसरों की सेवा करने का अवसर भी मिलता है। इसलिए अगर आप भी इस फील्ड में कैरियर बनाना चाहते हैं तो आज की इस पोस्ट में Doctor kaise bane इसके बारे में कंप्लीट जानकारी देंगे।

बहुत से स्टूडेंट्स डॉक्टर तो बनना चाहते हैं, लेकिन उनको इसके बारे में कोई खास जानकारी नही होती है कि Doctor kaise ban sakte hain. अगर आपको भी इसके बारे में कोई खास जानकारी नही है तो आप हमारे इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें। इस आर्टिकल में मैंने आपको Doctor kaise bante hain इससे जुड़ी हर जानकारी मिलेगी। जिससे कि आप डॉक्टर बनने का सपना पूरा कर सकते हैं।

Doctor kaise bane

डॉक्टर बनने के लिए सबसे पहले कैंडिडेट को ये डिसाइड करना चाहिए कि उसको कौन सा डॉक्टर बनना है। इस सेक्टर भी भी कई फील्ड है। जैसे कि आप Ayurvedic Doctor बन सकते हैं। या फिर आप होमियोपैथी डॉक्टर बन सकते है। इसके अलावा आप MBBS डॉक्टर यानी एलोपैथी डॉक्टर या नेचुरोपैथी डॉक्टर या यूनानी डॉक्टर बन सकते हैं। आपको जिस भी चिकित्सा पद्दति में इंटरेस्ट हो उसी के हिसाब से तैयारी करें।

फिलहाल डॉक्टर बनने के लिए 12वी के बाद एंट्रेंस एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते हैं। लेकिन 12वी में आपके पास फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायोलॉजी और अंग्रेजी सब्जेक्ट आपके पास होने चाहिए। अगर आप 12वीं कर रहे हैं फिर भी आप इसके एंट्रेंस एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

डॉक्टर की कौन कौन सी डिग्री होती है?

  • MBBS
  • BAMS
  • BNYS
  • BUMS
  • BDS

डॉक्टर बनने के लिए कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए?

अगर आपको डॉक्टर बनना है तो आप 10+2 में फिजिक्स केमेस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट लें।

एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी कैसे करे?

आपको किसी भी तरह का डॉक्टर कोर्स करना हो चाहें वो MBBS, BAMS, BUMS, BDS या BHMS हो। इन सभी कोर्स में एडमिशन डायरेक्ट नही होता है। इसके लिए आपको नीट एग्जाम देना होता है। एग्जाम को पास करने पर मेरिट यानी कि रैंकिंग के आधार पर आपको किसी भी कॉलेज में एडमिशन मिलता है। इसकी तैयारी के लिए जरूरी है कि आप 12वी से ही अच्छे से तैयारी करने लगें। इसके लिए आप किसी अच्छे कोचिंग सेंटर को भी जॉइन कर सकते हैं।

MBBS Doctor kaise bane

एमबीबीएस डॉक्टर को एलोपैथिक डॉक्टर भी कहते हैं। आज के समय मे एलोपैथिक डॉक्टर का सबसे ज्यादा महत्व है। क्योंकि एलोपैथिक चिकित्सा पदत्ति पूरी तरह से साइंटिफिक होती है। यंहा पर अनुमति कोई काम नही होता है। इस चिकित्सा पदत्ति में जो दवाएं इस्तेमाल की जाती हैं वो भी साइंटिफिक प्रोवेन होती है। इसलिए आज ज्यादातर लोग एलोपैथीक चिकित्सा पदत्ति पर ज्यादा विश्वास भी करते हैं।

एलोपैथिक चिकित्सा पदत्ति में लगभग हर तरह का इलाज संभव होता है। जैसेकि मान लीजिए कि अगर किसी का रोड एक्सीडेंट हो गया है, ऐसे में उसको किसी आयुर्वेदिक, यूनानी या फिर होम्योपैथी डॉक्टर के पास नही ले जाया जाएगा। उसको किसी MBBS Doctor के पास ले जाने की जरूरत है। एलोपैथिक चिकित्सा में बहुत ही जल्द किसी रोग या समस्या पर काबू किया जाता है। इसलिए एमबीबीएस डॉक्टर को काफी ज्यादा महत्व दिया जाता है।

MBBS Doctor के लिए योग्यता

कोई भी कैंडिडेट जो MBBS Course करना चाहता है, तो उसके लिए सबसे पहली आवश्यक अनिवार्य योग्यता 12वी है। कैंडिडेट ने 12वी भी फिजिक्स, केमेस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट से कम से कम 50% अंकों से पास की हो। इसके बाद नीट एग्जाम पास करना होता है।

नीट एग्जाम में अगर आपका अच्छा स्कोर आता है तो आपको गवर्नमेंट कॉलेज में एडमिशन मिल जायेगा। अगर आपके अच्छे मार्क्स नही तो हो सकता है कि आपको प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन मिल सकता है। लेकिन प्राइवेट कॉलेज में तो फीस काफी ज्यादा होती है।

MBBS Course fees

इस कोर्स की फीस गवर्नमेंट कॉलेज में 8 हजार से लेकर 5 लाख के बीच होती है। वंही प्राइवेट कॉलेज की फीस 5 लाख से लेकर 50 लाख या इससे भी ज्यादा होती है। इसलिए अगर आपको MBBS Course करना है तो आप पहले से ही नीट एग्जाम की तैयारी शुरू कर दें। जिससे कि आपको सरकारी कॉलेज में एडमिशन मिल सके।

MBBS Course Duration in hindi

यह कोर्स साढ़े 4 साल का होता है। जिसमे आपको 1 साल की किसी भी मेडिकल कॉलेज या हॉस्पिटल में इंटर्नशिप करनी पड़ती है। जिसके बाद आप एक पूर्ण रूप से डॉक्टर बन पाते हैं।

एमबीबीएस कोर्स करने के बाद आप खुद का भी हॉस्पिटल खोल सकते हैं या फिर किसी भी हॉस्पिटल में जॉब कर सकते हैं। अगर आप कोर्स के बाद में अपना खुद का हॉस्पिटल खोलना चाहते हैं तो शुरुआती आपको 2 से 3 साल तक आप किसी भी हॉस्पिटल में जॉब करें। इसके बाद अच्छा अनुभव होने के बाद ही खुद का हॉस्पिटल शुरू करें।

एमबीबीएस के बाद में अगर आप MD या फिर MS करना चाहते हैं तो वो भी आप कर सकते हैं। एमडी के बाद आप फिजिशियन बनते हैं और एमएस के बाद आप सर्जन बनते हैं। इस तरह से आप MBBS Doctor बन सकते हैं।

आयुर्वेदिक डॉक्टर कैसे बने

आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के लिए कैंडिडेट को पीसीबी सब्जेक्ट से 12वी पास होना चाहिए। इसके बाद में नीट एग्जाम पास करना होगा। नीट एग्जाम में 12वी कर रहे स्टूडेंट्स भी अप्लाई कर सकते हैं। नीट पास करने के बाद आपको BAMS Course करना होगा। जोकीं आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने का कोर्स होता है।

BAMS Course की ड्यूरेशन भी साढ़े 4 साल होती है और 1 साल की इंटर्नशिप करनी होती है। इसके बाद आप आयुर्वेदिक डॉक्टर के तौर पर किसी भी हॉस्पिटल में जॉब कर सकते हैं।

जंहा एक तरह एलोपैथिक दवाएं किसी भी बीमारी को एकदम जल्दी से सही करने में कारगर तो होती है, वंही उनके कुछ साइड इफ़ेक्ट भी होते है। अगर आयुर्वेदिक दवाओं की बात करें तो ये देशी जड़ी बूटियों से बनाई जाती है। जिनका कोई भी साइड इफ़ेक्ट नही होता है।

इसलिए आज के समय मे लोग आयुर्वेद को काफी ज्यादा महत्व दे रहे हैं। आयुर्वेदिक दवाएं काम तो धीरे- धीरे करती हैं, लेकिन किसी भी बीमारी को जड़ से खत्म करने की भी क्षमता रखती है।

BAMS Course fees

इस कोर्स की फीस 10 हजार से लेकर 5 लाख के बीच होती है। कुछ प्राइवेट कॉलेज तो काफी ज्यादा फीस चार्ज करने लगे हैं। प्राइवेट कॉलेज में फीस काफी ज्यादा होती है और सरकारी कॉलेज में फीस बहुत ही कम होती है।

होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने

Homiopathic Doctor बनने के लिए भी स्टूडेंट्स को फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायोलॉजी सब्जेक्ट के साथ 12वी कम से कम 50% अंकों से पास होना चाहिए। इसके बाद आपको नीट एग्जाम देना होगा। जिसके बाद आप BHMS Course कर सकते हैं। यह कोर्स भी साढ़े 4 साल का होता है और 1 साल की इंटर्नशिप करनी होती है। इसके बाद आप होमियोपैथिक डॉक्टर के तौर ओर कैरियर बना सकते हैं।

ये भी पढ़ें-

गूगल में पूछे जाने वाले जरूरी सवालों के जबाब

Army me doctor kaise bane

आर्मी में डॉक्टर बनने के लिए कैंडिडेट ने किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से एमबीबीएस कोर्स किया हो और उसने इंटर्नशिप भी की हो। इसके साथ ही मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया या स्टेट कॉउंसिल में वैध पंजीकरण हो। आपको बता दें कि आप ऐसे ही डायरेक्ट आर्मी में डॉक्टर नही बन सकते है।

इसके लिए समय- समय पर वैकेंसी निकलती रहती हैं। इन वैकेंसी में एमबीबीएस और इंटर्नशिप पूरी कर चुके कैंडिडेट अप्लाई कर सकते हैं। इसके बाद आपका इंटरव्यू होगा। इंटरवू के बाद मेडिकल टेस्ट होता है। जिसके बाद आपका आर्मी डॉक्टर के तौर पर चयन होता है।

AIIMS me Doctor kaise bane

एम्स इंडिया के बेस्ट मेडिकल कॉलेज माने जाते हैं। इनमे डॉक्टर बनने के लिए समय- समय पर वैकेंसी निकलती रहती हैं। जितमे आप अप्लाई कर AIIMS me Doctor बनने का सपना पूरा कर सकते हैं।

डॉक्टर बनने में कितना पैसा लगेगा?

बहुत से लोग गूगल में सर्च करते हैं कि डॉक्टर बनने में कितना पैसा लगता है। देखिए ये डिपेंड करता है कि आप प्राइवेट कॉलेज से Medical Course कर रहे हैं या प्राइवेट कॉलेज से। गवर्नमेंट कॉलेज में तो आप 50 हजार से 5 लाख में पूरा कर सकते हैं। प्राइवेट कॉलेज की फीस बहुत ही ज्यादा होती है। जैसा कि मैं आपको ऊपर आर्टिकल में बता चुका हूं।

डॉक्टर बनने के लिए जरुरी बातें?

अगर आपको डॉक्टर बनना है तो आप 10वीं से ही नीट एग्जाम की तैयारी में लग जाएं। फिजीक्स, केमेस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट पर अच्छी कमांड करें। इसके लिए आप किसी भी अच्छे कोचिंग इंस्टीट्यूट को जॉइन करें।

डॉक्टर बनने के लिए 10वीं के बाद क्या करें

डॉक्टर बनने के लिए 10वीं के बाद नीट एग्जाम की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।

Medicine Doctor Kaise Bane

बहुत से लोग जानकारी के अभाव में गूगल में सर्च करते हैं कि मेडिसिन डॉक्टर कैसे बनें। तो हम आपको बता दें कि इसके लिए आपको सबसे पहले ये निश्चित करना चाहिए कि आप कौन सी मेडिसिन के डॉक्टर बनना चाहते हैं।

अगर आपको एलोपैथिक मेडिसिन का डॉक्टर बनना है तो MBBS करें। यदि आपको आयुर्वेदिक मेडिसिन का डॉक्टर बनना है तो BAMS करें। इसी तरह अगर होम्योपैथी मिडिसिन का डॉक्टर बनना है तो BHMS करें। वंही अगर आपको यूनानी मिडिसिन डॉक्टर बनना है तो BUMS Course करें।

उम्मीद है कि Doctor kaise bane ये पोस्ट आपको पसन्द आयी होगी। क्योंकि इस पोस्ट में मैंने MBBS Doctor kaise bane, Ayurvedic Doctor kaise bane, होमियोपैथिक डॉक्टर कैसे बने, Army me doctor kaise bane आदि के बारे में डिटेल में जानकारी दी है। जोकीं आपके लिए बहुत ही यूजफुल साबित होगी। अगर आपके कोई सवाल या सुझाव हैं तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं।

1 thought on “Doctor kaise bane”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *